Home > धर्म > दिवाली पर 23 साल बाद बने इस महासंयोग से बरसेगी मां लक्ष्मी की कृपा, देखें शुभ मुहूर्त

दिवाली पर 23 साल बाद बने इस महासंयोग से बरसेगी मां लक्ष्मी की कृपा, देखें शुभ मुहूर्त

दिवाली पर 23 साल बाद बने इस महासंयोग से बरसेगी मां लक्ष्मी की कृपा, देखें शुभ मुहूर्त

ग्वालियर। इस साल दीपवाली पर चुतर्दशी और अमावस्या तिथि रहेगी। दोपहर 12.22 तक चतुर्दशी और उसके उपरांत अमावस्या जो कि 28 तारीख सोमवार सुबह 9 बजकर 8 मिनिट तक रहेगी। ज्योतिषाचार्य पं सतीश सोनी के अनुसार, इस दिन गुरु वृश्चिक राशि में रहेगा। सूर्य और चन्द्र तुला राशि में रहेंगे। इससे पहले भी गुरु के वृश्चिक राशि में रहते हुए चतुर्दशी और अमावस्या के योग में दीपावली मनाई गयी थी। 12 वर्ष पहले 8 नवम्बर 2007 को भी ऐसा ही योग था। उस समय भी शनि और केतु कि पुष्टि थी लेकिन सिंह राशि में थे 23 अक्टूबर 1995 को गुरु वृश्चिक राशि में था और तब भी चुतर्दशी और अमावस्या तिथि पर दीपावली का पर्व मनाया गया था यानि इस वर्ष यह योग अभ्यंग स्थान व् लक्ष्मी पूजन के लिए अति श्रेष्ठ है।

ज्योतिषाचार्य पं सतीश सोनी के अनुसार, दिवाली के दिन घर की अच्छी तरह से सफाई करें। विशेषकर मुख्य द्वार को बहुत अच्छी तरह से साफ करें। इसके बाद मुख्य द्वार पर हल्दी का जल छिड़कें। भगवान गणेश को दूब-घास और मां लक्ष्मी को कमल का पुष्प चढ़ाना चाहिए। ये वस्तुएं दोनों देवी-देवता को अत्याधिक प्रिय हैं।

घर के बाहर रंगोली अवश्य बनाएं। रंगोली को शुभ माना जाता है। मुख्य द्वार पर जूते और चप्पल बिल्कुल न रखें।

रसोई में झूठे बर्तन बिल्कुल न छोड़ें। दिवाली के दिन घर की रसोई में भी दीपक जलाया जाता है। इस दिन मां अन्नपूर्णा की पूजा का विधान है।

लक्ष्मी पूजन के समय इस रंग के पहने कपडे

-मेष, मिथुन, कर्क राशि वाले पीले रंग के वस्त्र पहने

-वृश्चिक, तुला, मीन राशि वाले नीले रंग के वस्त्र पहने

-वृषभ, मकर, कुम्भ राशि वाले लाल रंग के वस्त्र पहने

-कन्या, सिंह, धनु राशि वाले हरे रंग के वस्त्र पहने

लक्ष्मी पूजन का है सही समय

वृश्चिक लग्न - सुबह 8.25 से 10.40 मिनिट तक

कुम्भ लग्न - दोपहर 2.26 से 3.58 मिनिट तक

सिंह लग्न - मध्य रात्रि 1.31 से 3.46 मिनिट तक

वृषभ लग्न - शाम 7.30 से 9 बजे तक


Tags:    

Swadesh Digital ( 0 )

स्वदेश वेब डेस्क www.swadeshnews.in


Share it
Top