Home > राज्य > अन्य > नई दिल्ली > जीजा और साले भ्रष्टाचार में शामिल : स्मृति ईरानी

जीजा और साले भ्रष्टाचार में शामिल : स्मृति ईरानी

जीजा और साले भ्रष्टाचार में शामिल : स्मृति ईरानी

दिल्ली/स्वदेश वेब डेस्क। लोकसभा चुनाव-2019 की तिथियां घोषित होने के बाद अब राजनीतिक दलों के बीच आरोप-प्रत्यारोप का दौर शुरू हो गया है। केंद्रीय मंत्री स्मृति ईरानी ने समाचार पत्रों के हवाले से कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी पर रक्षा सौदों के दलालों के साथ सांठ-गांठ का आरोप लगाया है। बुधवार को प्रेस कांफ्रेंस में ईरानी ने जमीन घोटाले पर राहुल गांधी को घेरते हुए कहा कि इस घोटाले में उनके जीजाजी राबर्ट वाड्रा और बहन प्रियंका गांधी भी शामिल हैं। उन्होंने कहा कि 24 घंटे के अंदर कुछ ऐसे तथ्य सामने आए हैं जिनमें गांधी-वाड्रा परिवार के भ्रष्टाचार उजागर होते हैं।

केंद्रीय मंत्री ने कहा कि मीडिया रिपोर्टों के अनुसार प्रवर्तन निदेशालय को छापेमारी के दौरान यह तथ्य सामने आया है कि राहुल गांधी ने हरियाणा के एच एल पहवा से जमीन खरीदी थी। पहवा रक्षा सौदों के दलाल रहे संजय भंडारी के करीबी सी सी थंपी का कर्मचारी है। उन्होंने कहा कि अब तक यही समझा जा रहा था कि भंडारी और वाड्रा के बीच वित्तीय संबंध हैं लेकिन इस खुलासे के बाद अब साबित हो गया है कि कांग्रेस अध्यक्ष भी भंडारी से जुड़े हैं। उन्होंने सवाल पूछते हुए कहा कि राहुल बताएं कि उनके रक्षा सौदे के इस दलाल से क्या संबंध हैं? अगर मीडिया में इस तरह की रिपोर्टें आ रही हैं तो क्या उनके बीच वित्तीय लेन-देन नहीं हैं ?

उधर, कांग्रेस ने स्मृति ईरानी के आरोप को सिरे से खारिज करते हुए इसे भ्रमकारी और तथ्यों से परे बताया है। कांग्रेस प्रवक्ता रणदीप सिंह सुरजेवाला ने कहा कि राहुल गांधी ने यह जमीन अपने निजी पैसों से खरीदी थी और इसका बाकायदा रजिस्ट्री शुल्क भी अदा किया। इसका लेखा-जोखा उपलब्ध भी है। गांधी ने इस जमीन को बतौर गिफ्ट अपनी बहन प्रियंका वाड्रा को दी। फिर बाद में प्रियंका वाड्रा ने यह जमीन एक संस्था को दान कर दी थी। इसमें तीसरे पक्ष की कोई भूमिका नहीं बनती। सुरजेवाला ने कहा कि भाजपा या स्मृति ईरानी को अगर लगता है तो वे पुलिस में प्राथमिकी दर्ज करवाएं।

Tags:    

Swadesh Digital ( 7110 )

स्वदेश वेब डेस्क www.swadeshnews.in


Share it
Top