Home > राज्य > अन्य > नई दिल्ली > 17 नवंबर से पहले राममंदिर पर आ जाएगा फैसला : आलोक कुमार

17 नवंबर से पहले राममंदिर पर आ जाएगा फैसला : आलोक कुमार

श्री चैतन्य गौरव शिरोमणि सम्मान-2019 विहिप के अंतर्राष्ट्रीय कार्यकारी अध्यक्ष ने बांटे प्रतिभागियों को पुरस्कार

17 नवंबर से पहले राममंदिर पर आ जाएगा फैसला : आलोक कुमार

नई दिल्ली। विश्व हिन्दू परिषद के अंतर्राष्ट्रीय कार्यकारी अध्यक्ष आलोक कुमार ने कहा कि 17 नवंबर से पहले राममंदिर पर फैसला आना है, दो माह और एक सप्ताह के अंदर अगर फैसला आ जाता है तो भगवान राममंदिर निर्माण का रास्ता साफ हो जाएगा। उन्होंने कहा कि हिन्दुओं की आस्था के प्रतीक भगवान श्रीराम के मंदिर निर्माण को लेकर विश्व हिन्दू परिषद ने लंबी लड़ाई लड़ी है जिसका सुफल मिलने की घड़ी नजदीक आ गई है। श्री आलोक कुमार शुक्रवार को श्री चैतन्य गौरव शिरोमणि सम्मान-2019 कार्यक्रम को संबोधित कर रहे थे। प्रतिभागियों को सम्मान प्रदान करते हुए श्री आलोक कुमार ने कहा कि बच्चों में प्रतिभा छिपी होती है। प्रतिभा किसी की मोहताज नहीं होती। पता नहीं कौन बच्चा किस विधा में अपनी पहचान बनाकर राष्ट्र का नाम रोशन कर दे।

विश्व हिन्दू परिषद के अंतर्राष्ट्रीय कार्यकारी अध्यक्ष ने कहा कि देश इस समय परिवर्तन के दौर से गुजर रहा है। लोगों में राष्ट्र के प्रति जबर्दस्त उत्साह है। कश्मीर में धारा 370 के हटते ही लोेग महसूस कर रहे हैं कि लंबे पड़ाव के बाद देश में स्वाभिमान लौटा है। उन्होंने कहा कि हमें विश्वास भी नहीं होता था कि ऐसा भी दिन आएगा जब 370 जैसी धारा हटाने के लिए महज दो दिन लगेंगे। लेकिन यह सच है कि इस कार्य को करने में महज दो ही दिन लगे। उन्होंने कहा कि सोचिए ऐसे ही अगर राममंदिर पर अदालत फैसला सुनाएगी तो मंदिर भी बनने में देर नहीं लगेगी। और अगर मंदिर बन जाता है तो समझिए कि रामराज्य बनने चरण भी शुरू हो गया।

उन्होंने कहा कि हम यूनिफार्म सिविल कोड की तरफ बढ़ रहे हैं। इस तरह हमारा राष्ट्रीय सुरक्षा का सपना पूरा हो रहा है। देश प्रगति के पथ पर निरंतर और लगातार बढ़ रहा है। इस कड़ी में चंद्रयान के रूप में मिने गजब की कामयाबी हासिल की है। भारत का चंद्रयान उस हिस्से में उतर गया जहां अब तक कोई नहीं उतरा था। तैयारी अब मंगल ग्रह पर खभा गाड़ने की है। आलोक कुमार ने कहा कि यह सब सबको साथ लेकर चलने की नीयत से ही संभव हो रहा है। हम जातिवाद के बंधन से मुक्त होकर आगे बढ़ें। हमारा ध्येय होना चाहिए सबका साथ सबका विकास और सबका विश्वास।

Tags:    

Swadesh Digital ( 0 )

स्वदेश वेब डेस्क www.swadeshnews.in


Share it
Top