Home > राज्य > अन्य > नई दिल्ली > कांग्रेस के डीएनए में है देश को बांटने की राजनीति : भाजपा

कांग्रेस के डीएनए में है देश को बांटने की राजनीति : भाजपा

कांग्रेस के डीएनए में है देश को बांटने की राजनीति : भाजपा

नई दिल्ली। भारतीय जनता पार्टी(भाजपा) ने पंजाब सरकार के मंत्री नवजोत सिंह सिद्धू के एक विवादास्पद बयान को लेकर कांग्रेस पर हमला बोलते हुए मंगलवार को कहा कि बांटने की राजनीति कांग्रेस के डीएनए में ही है। पार्टी ने कहा कि कांग्रेस और उसके नेताओं के लिए यह कोई नई बात नहीं है।

केन्द्रीय मंत्री और भाजपा के वरिष्ठ नेता रविशंकर प्रसाद ने संवाददाता सम्मेलन में कहा कि जवाहर लाल नेहरू(जेएनयू) विश्वविद्यालय में जब देश के टुकड़े करने की बात हो रही थी तो कांग्रेस अध्यक्ष उनके समर्थन के लिए जेएनयू गए थे। उन्होंने कहा कि कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी बीते कल राष्ट्रवाद की नसीहत दे रही थीं। शायद वह अपनी पार्टी की विरासत को भूल गई हैं। उन्होंने कहा कि आज कांग्रेस के एक नेता ने 64 प्रतिशत अल्पसंख्यक की बात कही है, ये कौन सी नसीहत है और ये कैसे राष्ट्र को मजबूत कर रहे हैं।

रविशंकर ने सवाल किया कि कांग्रेस नेता नवजोत सिंह सिद्धू बिहार के कटिहार में ये कैसा माहौल बना रहे हैं? मुस्लिमों को बता रहे हैं कि उनकी आबादी 64 फीसदी है और वे एकजुट हो जाएं तो मोदी को 'सुलटा' सकते हैं। उन्होंने कांग्रेस से जानना चाहा कि आखिर क्या वजह है कि एक धर्म विशेष को ऐसे भड़काया जा रहा है?

उल्लेखनीय है कि कांग्रेस नेता सिद्धू ने बिहार के कटिहार में आयोजित एक चुनावी सभा को संबोधित करते हुए विवादास्पद बयान दिया था। उन्होंने प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी को हराने पर जोर देते हुए मुस्लिम समुदाय से एकजुट होकर मतदान करने की अपील की थी। कांग्रेस नेता के इस बयान को लेकर विवाद छिड़ गया है।

सिद्धू ने कांग्रेस उम्मीदवार तारिक अनवर के पक्ष में मुस्लिम मतदाताओं से वोट की मांग करते हुए भाजपा पर आरोप लगाया कि ये उनको बांट रहे हैं। सिद्धू ने कहा कि असदुद्दीन ओवैसी की पार्टी के उम्मीदवार को भी मैदान में उतार कर वोट बांटने की कोशिश की जा रही है किंतु मुस्लिम समुदाय को एकजुट होकर मत डालना चाहिए।

भाजपा नेता ने कहा कि आजकल कश्मीर से आवाज उठ रही है कि हम जब चाहें भारत के टुकड़े कर दें। ये टुकड़े-टुकड़े गैंग की मानसिकता क्या है, प्रियंका को राजनीति की इस विरासत को समझने की जरूरत है। राहुल गांधी का वायनाड जाना भी उसी बात को प्रोत्साहित करना है। उन्होंने कहा कि बांटने की राजनीति कांग्रेस के डीएनए में है। ये कोई नई परम्परा नहीं है।

Tags:    

Swadesh Digital ( 7967 )

स्वदेश वेब डेस्क www.swadeshnews.in


Share it
Top