Home > राज्य > मध्यप्रदेश > ग्वालियर > स्वास्थ्य विभाग की लापरवाही,कई अल्ट्रासाउण्ड केन्द्रों पर नहीं लगे ट्रैकर

स्वास्थ्य विभाग की लापरवाही,कई अल्ट्रासाउण्ड केन्द्रों पर नहीं लगे ट्रैकर

राजस्थान पीसीपीएनडीटी सेल द्वारा त्यागी नगर काशीपुरा में की गई छापामार कार्रवाई के बाद एक ओर हडकम्प मचा हुआ है

स्वास्थ्य विभाग की लापरवाही,कई अल्ट्रासाउण्ड केन्द्रों पर नहीं लगे ट्रैकर

ग्वालियर,
राजस्थान पीसीपीएनडीटी सेल द्वारा त्यागी नगर काशीपुरा में की गई छापामार कार्रवाई के बाद जहां एक ओर हडकम्प मचा हुआ है। वहीं स्वास्थ्य विभाग के अधिकारियों की कार्य शैली पर भी सवाल खड़े हो रहे है। क्योंकि शहर में संचालित कई अल्ट्रासाउण्ड केन्द्रों पर अभी भी ट्रैकर डिवाइस बंद पड़े हुए हैं। शहर में करीब 116 अल्ट्रासाउण्ड केन्द्र संचालित हो रहे हैं, जिसमें से सिर्फ 60 केन्द्रों पर ही ट्रैकर डिवाइस काम कर रहे हैं। अन्य 54 केन्द्रों की अल्ट्रासाण्ड मशीन पर या तो ट्रैकर लगे ही नहीं हैं या फिर खराब पड़े हुए हैं। दरअसल भू्रण लिंग परीक्षण को रोकने के लिए अल्ट्रासाण्ड केन्द्रों को एमपी ऑनलाइन से जोड़ दिया गया था, जिससे चिकित्सकों को काफी परेशानी हो रही थी।

इसी बात को ध्यान में रखते हुए तीन माह पूर्व तत्कालीन जिलाधीश राहुल जैन ने अल्ट्रासाण्ड केन्द्र संचालकों के साथ एक बैठक बुलाई। जिसमें केन्द्रों के संचालकों ने कहा था कि एमपी आनलाइन की प्रक्रिया जटिल है, इसलिए हमारी लाडली के तहत ऑनलाइन रिपोर्टिंग की व्यवस्था की जाए और एएमसी का चार्ज नहीं लिया जाए, जिस पर स्वास्थ्य विभाग ने सहमति भी दे दी थी। उसके बाद भी अभी शहर में ऐसे अल्ट्रासाण्ड केन्द्र संचालित हो रहे हंै, जहां मशीनों पर ट्रैकर ही नहीं लगे हुए हैं। वहीं कुछ केन्द्र लिखित में रिपोर्ट तो भेज रहे हैं लेकिन उसकी सत्यता की जांच नहीं हो पा रही है। इतना ही नहीं 35 अल्ट्रासाण्ड केन्द्र ऐसे भी है, जो सीएमएचओ कार्यालय में रिपोर्ट भेज रहे है कि वह गर्भवती महिलाओं का अल्ट्रासाण्ड नहीं करते हैं। फिर भी स्वास्थ्य विभाग के अधिकारी इन केन्द्रों की जांच करना उचित नहीं समझता।

Tags:    

Vikas Yadav ( 120 )

Swadesh Contributors help bring you the latest news and articles around you.


Share it
Top