Home > राज्य > मध्यप्रदेश > भोपाल > यौनशोषण के आरोपी को दी जाए फांसी : गुप्ता लड़की मामला दर्ज नहीं करना चाहती : थाउसेन

यौनशोषण के आरोपी को दी जाए फांसी : गुप्ता लड़की मामला दर्ज नहीं करना चाहती : थाउसेन

यौनशोषण के आरोपी को दी जाए फांसी : गुप्ता  लड़की मामला दर्ज नहीं करना चाहती : थाउसेन

खेल विभाग के होस्टल में सेलिंग खिलाड़ी के गर्भवती होने का मामला

प्रशासनिक संवाददाता भोपाल

राजधानी स्थित टीटी नगर स्टेडियम में खेल विभाग के होस्टल में रह रही एक अविवाहित खिलाड़ी के गर्भवती होने के मामले ने तूल पकड़ लिया है। इस मामले में प्रदेश के पूर्व मंत्री उमाशंकर गुप्ता ने यौनशोषण के आरोपी को फांसी देने की मांग की है। उन्होंने कहा है कि सरकार को ऐसे मामलों में कड़े कदम उठाना चाहिए। इधर खेल संचालक एसएल थाउसेन ने कहा है कि गर्ल्स खिलाड़ी के बयान दर्ज किए गए हैं। वह कोई भी मामला दर्ज नहीं कराना चाहती है। इस मामले में खेल विभाग की टीम ने बुधवार को स्टेडियम पहुंचकर जांच की है और अधिकारियों एवं होस्टल वार्डन से पूछताछ भी की है। बताया जा रहा है कि विभाग की टीम ने चार पेज की रिपोर्ट तैयार की है।

मंगलवार को राजधानी स्थित टीटी नगर स्टेडियम में रह रही सेलिंग खिलाड़ी के गर्भवती होने का पता चला था। उसे 6 माह का गर्भ था। पेट में दर्द होने पर उसे अस्पताल में भर्ती कराया गया, जहां उसने लड़की को जन्म दिया। बुधवार को नवजात की मौत हो गई। इस मामले के बाद विभाग के प्रमुख सचिव ने अधिकारियों को जमकर फटकार भी लगाई थी। बुधवार को खेल विभाग की टीम जांच के लिए स्टेडियम पहुंची। इस दौरान उन्होंने अधिकारियों, होस्टल वार्डन सहित अन्य लोगों से पूछताछ की है। इस मामले में पूर्व मंत्री उमाशंकर गुप्ता ने कहा कि बच्ची के साथ हुए यौनशोषण की जांच होनी चाहिए। इस मामले में दोषियों के खिलाफ कार्रवाई होनी चाहिए। सरकार को ऐसे मामलों में कड़े कदम उठाना चाहिए। पूर्व मंत्री ने आरोपी को फांसी देने की मांग भी की है।

होस्टल में नहीं हुआ कोई भी यौनशोषण

इस मामले में खेल विभाग के संचालक एसएल थाउसेन ने कहा है कि लड़की बालिग है। 2017 में कटनी अनाथालय से कयाकिंग के लिए ट्रायल के दौरान भोपाल के लिए सेलेक्ट होकर आई थी। लड़की के माता-पिता की 2009 में सड़क दुर्घटना में मौत हो गई थी। इसके बाद वह कटनी में एक संस्था के संरक्षण में अनाथालय में रह रही थी। भोपाल में होस्टल में आने के बाद वह छुट्टियों में कटनी जाती थी। इसी दौरान उसका उसके दोस्त के साथ संबंध बने। इसके बाद तीन दिन पहले उसके गर्भवती होने का पता चला। उसने बच्ची को जन्म दिया। बुधवार सुबह बच्ची की मौत हो गई। लड़की कोई मामला दर्ज नहीं कराना चाहती। इस पूरे मामले में यह साफ है कि लड़की का होस्टल में कोई यौन शोषण नहीं हुआ है। लड़की राष्ट्रीय स्तर की खिलाड़ी है। हम उसकी काउंसिलिंग करेंगे। वह प्रेगनैंसी ट्रॉमा से बाहर आ जाए, हम उसकी पूरी मदद करेंगे।

Naveen ( 1446 )

Swadesh Contributors help bring you the latest news and articles around you.


Share it
Top