Home > राज्य > मध्यप्रदेश > भोपाल > किताबी ज्ञान से जीवन में सफलता नहीं : मुख्यमंत्री

किताबी ज्ञान से जीवन में सफलता नहीं : मुख्यमंत्री

मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने आज राजधानी में स्कूल चलें हम अभियान का शुभारंभ करते हुए बच्चो को कई प्रेरणादायक सीख दी

किताबी ज्ञान से जीवन में सफलता नहीं : मुख्यमंत्री

भोपाल । मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने आज राजधानी में स्कूल चलें हम अभियान का शुभारंभ करते हुए बच्चो को कई प्रेरणादायक सीख दी। उन्होने कहा कि जीवन में शिक्षा का बहुत महत्व है लेकिन सच यह भी है कि केवल किताबी ज्ञान से जीवन में सफलता नही मिलती है उसके लिए स्वस्थ्य शरीर भी जरूरी है। इसलिए जीवन में पढ़ाई के साथ खेलकूद भी जरूरी है। समन्वय भवन में आयोजित इस राज्य-स्तरीय कार्यक्रम में स्कूल शिक्षा मंत्री कुँवर विजय शाह और स्कूल शिक्षा राज्य मंत्री दीपक जोशी भी मौजूद रहे। कार्यक्रम को संबोधित करते हुए मुख्यमंत्री ने कहा कि एकाग्रता केवल पढ़ाई में ही नहीं जीवन के प्रत्येक पड़ाव के लिए बहुत महत्वपूर्ण है, इसीलिए जो भी पढ़ें या करें पूर्ण एकाग्रता के साथ करें।स्कूल चले हम अभियान केवल शिक्षकों, माता-पिता और अभिभावकों की ही जिम्मेदारी नहीं है। समाज के हर व्यक्ति को चाहिए कि अपने आस-पास किसी ऐसे बच्चे को देखें जो स्कूल नहीं जाता उसे समझा बुझा के स्कूल भेजें। कोई भी बच्चा बिना स्कूल जाए बिना ना रहने पाए। मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने कलेक्टरो को निर्देश दिए कि उनकी जिम्मेदारी होगी कि उनके जिले का कोई भी बच्चा शिक्षा से वंचित नही हो।

उन्होने कहा कि यह कलेक्टरों से कहा कि वह हर बच्चे को स्कूल पहुचाने की व्यवस्था करे और यह देखे की उसको किस चीज की जरूरत है उसे पूरा करे। कार्यक्रम में स्कूल शिक्षा मंत्री विजय शाह ने बड़े स्कूलों में बच्चो को पढ़ाने वाले अभिभावको की मानसिकता बदलने का अनुरोध करते हुए कहा कि केवल बड़े स्कूलों में पढ़ाने से देश का विकास संभव नहीं। उन्होने शिक्षित समाज बनाने के लिए शिक्षित लोगो को सामने आने की बात कहते हुए कहा कि वह आासपास के गली मोहल्ले के बच्चे को भी पढ़ाये, अगर आपने मोहल्ले के एक बच्चे को स्कूल नही भेजा तो वो बच्चा आपके पढे लिखे बच्चे को निपटा देगा। इस अवसर पर शाह ने मंत्री दीपक जोशी के नाम पर दीपक लायब्रेरी खोलने की भी घोषणा की।कार्यक्रम में स्कूल शिक्षा राज्यमंत्री दीपक जोशी ने कहा, जो सरकारी स्कूल मे पढ़ते है वही सरकार चलाते हैं।

झिझक खत्म हुई और मैं बन गया मुख्यमंत्री

समन्वय भवन में आज स्कूल चले अभियान कार्यक्रम की शुरुआत में मुख्यमंत्री ने बच्चो को अपने मुख्यमंत्री बनने का रहस्य बताया। उन्होने कहा कि पहले पहले में भी अपनी बात सबके सामने रखने से झिझकता था लेकिनधीरे धीरे मेरे बोलने की झिझक निकल गई और फिर मैं मुख्यमंत्री बन गया ।

जुलाई माह तक चलेगा अभियान

गौरतलब है कि यह अभियान 15 जून से शुरू होकर जुलाई माह तक चलेगा। इस दौरान प्रदेशभर के शासकीय विद्यालयों में पढऩे वाले बच्चों को प्रोत्साहित करने के लिये विभिन्न गतिविधियाँ होंगी। इन गतिविधियों में जन-समुदाय की सहभागिता भी सुनिश्चित की जायेगी। प्रदेश में प्रत्येक सरकारी विद्यालय में शाला प्रबंधन और विकास समिति की बैठक के साथ बाल-सभा भी होगी। महारानी लक्ष्मीबाई के बलिदान दिवस 18 जून को सरकारी विद्यालयों में बच्चों में देशभक्ति की भावना जागृत करने के लिये भारतीय सेना के जवानों और सेवानिवृत्त सैन्यकर्मियों के बच्चों के साथ संवाद करने के लिये भी कहा गया है। अभियान के दौरान साहित्यिक एवं सांस्कृतिक गतिविधियाँ, स्वच्छता के विशेष कार्यक्रम भी होंगे।














Tags:    

Swadesh Digital ( 0 )

स्वदेश वेब डेस्क www.swadeshnews.in


Share it
Top