Home > राज्य > मध्यप्रदेश > भोपाल > दिग्विजय ने ट्वीट कर बोला हमला, भाजपा के विकास को बताया 'विनाशी'

दिग्विजय ने ट्वीट कर बोला हमला, भाजपा के विकास को बताया 'विनाशी'

दिग्विजय ने ट्वीट कर बोला हमला, भाजपा के विकास को बताया

भोपाल। पंचायती राज दिवस के अवसर पर पूर्व मुख्यमंत्री और भोपाल संसदीय सीट से कांग्रेस उम्मीदवार दिग्विजय सिंह ने भाजपा सरकार पर निशाना साधा है। ट्वीट के जरिए दिग्विजय सिंह ने केन्द्र में मोदी सरकार पर हमला करते हुए कहा है कि 5 वर्षों में भाजपा सरकार के शासनकाल में लोकतंत्र की रक्षा और उसे मजबूत करने वाले संस्थानों को इससे पहले कभी इतना कमजोर और कलंकित नहीं किया गया है। भाजपा के 'विनाशी विकास' को पहचानिए'।

दिग्विजय सिंह ने बुधवार को एक के बाद एक लगातार चार ट्वीट कर पंचायती राज दिवस पर अपने शासनकाल में पंचायती राज व्यवस्था की शुरूआत किए जाने पर कहा कि 'पंचायती राज दिवस की शुभकामनाएं! मेरा म. गांधी के विचार में दृढ़ विश्वास है कि 'अगर हिन्दुस्तान के हर गांव में कभी पंचायती राज कायम हुआ, तो मैं अपनी उस तस्वीर की सच्चाई साबित कर सकूंगा, जिसमें सबसे पहला एवं सबसे आखिरी दोनों बराबर होंगे या यूं कहिये कि ना कोई पहला होगा, न कोई आखिरी'। मुझे गर्व है कि मेरे नेता मा. राजीव गांधी जी के मिशन को पूरा करने में म.प्र मेरे शासनकाल में पंचायती राज को कायम करने वाला देश का पहला राज्य बना। 25 जनवरी, 1994 को म.प्र. पंचायती राज अधिनियम संस्थापित किया गया और मई- जून 1994 को पूरे प्रदेश में तीनों स्तरों पर लागू किया गया'।

अपने शासनकाल में पंचायती राज में हुए क्रियांवयन के आंकड़े प्रस्तुत करते हुए दिग्विजय सिंह ने कहा 'हमारे शासनकाल में 30,922 ग्राम पंचायतों, 459 जनपद पंचायतों एवं 45 जिला पंचायतों में चुनाव हुए। पंचायती राज से स्थानीय स्वशासन प्रणाली मजबूत हुई। ग्रामीण स्वशासन का सफल क्रियान्वयन हो सका। व्यक्ति केंद्रित मोदी राज से अलग यह सत्ता में आम आदमी की भागीदारी बढ़ाने का प्रयास था'। वहीं केन्द्र शासित भाजपा सरकार के शासनकाल को विनाशी विकास बताते हुए दिग्विजय सिंह ने कहा कि 'लोकतंत्र की रक्षा और उसे मजबूत करने वाले संस्थानों को इससे पहले कभी इतना कमजोर और कलंकित नहीं किया गया है, जितना कि पिछले 5 वर्षों में भाजपा सरकार के शासनकाल में हुआ है। भाजपा के 'विनाशी विकास' को पहचानिए। आपकी हिस्सेदारी, मेरी जिम्मेदारी। नर्मदे हर।

Tags:    

Swadesh Digital ( 8810 )

स्वदेश वेब डेस्क www.swadeshnews.in


Share it
Top