Home > Lead Story > राष्ट्र की सुरक्षा के लिए भाजपा संकल्पित, खत्म करेंगे आतंकवाद और धारा 370 : अमित शाह

राष्ट्र की सुरक्षा के लिए भाजपा संकल्पित, खत्म करेंगे आतंकवाद और धारा 370 : अमित शाह

राष्ट्र की सुरक्षा के लिए भाजपा संकल्पित, खत्म करेंगे आतंकवाद और धारा 370 : अमित शाह

कोलकाता। भारतीय जनता पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह ने कहा है कि राष्ट्र की सुरक्षा के लिए भाजपा संकल्पित है। अगली सरकार बनने पर जम्मू-कश्मीर से धारा 35-ए, 370 और आतंकवाद को ख्त्म करेंगे। पार्टी पश्चिम बंगाल से घुसपैठ खत्म करने पर भी काम करेगी।

सोमवार को भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह ने राज्य में तीन जनसभाओं को संबोधित करने से पहले कोलकाता में पत्रकार वार्ता की है। उन्होंने दावा किया कि लोकसभा में भाजपा की जीत होगी और नरेन्द्र मोदी एक बार फिर प्रधानमंत्री बनेंगे। लोकतंत्र के महपर्व के पहले दो चरण का मतदान पूरा हो गया है। तीसरे चरण पर वोटिंग कल होगी। देशभर से मिल रही सूचनाओं के मुताबिक देश की जनता पूरे उत्साह से मोदीजी को फिर से प्रधानमंत्री बनाने के लिए उत्सुक है। बंगाल में भी भाजपा के पक्ष में प्रचंड बहुमत की सूचना मिल रही है।

शाह ने कहा कि मोदी सरकार ने आतंकवाद के खिलाफ पिछले पांच साल में जीरो टॉलरेंस की नीति को अपनाया है। हमारे संकल्प पत्र में हमने इस नीति को और आगे बढ़ाने का संकल्प किया है, जबकि विपक्षी पार्टियां देश की सुरक्षा के अहम मुद्दे पर चुप हैं। इसके लिए देश के अर्थतंत्र की गाड़ी को पटरी पर लाने के लिए कठोर नेतृत्व देना का काम भाजपा ने किया है, क्योंकि विपक्ष के पास कोई नेतृत्व नहीं है। विपक्ष अपना न कोई नेता और न ही नीति देश के सामने रख पाया है।

शाह ने कहा कि जब देश की आजादी के 75 साल होंगे, यानी 2022 तक देश में एक भी व्यक्ति, एक भी परिवार ऐसा नहीं होगा, जिसके पास घर, बिजली, गैस, पीने का पानी, शौचालय और स्वास्थ्य की सुरक्षा न हो। राष्ट्र की सुरक्षा के लिए भाजपा स्पष्ट नीति लाई है। चाहे आतंक का मामला हो, एनआरसी हो, सिटिजन अमेंडमेंट बिल हो, धारा 370 और 35ए को हटाने की बात हो, इस सभी बातों पर हमने अपने संकल्प पत्र में स्पष्ट नीति अपनाई है।

उन्होंने कहा कि गरीबों के कल्याण के लिए भाजपा सरकार ने जो पांच साल में काम किया है, उससे देश के 50 करोड़ लोगों को एक स्पष्ट मैसेज गया है कि बनने वाली भाजपा सरकार गरीबों के कल्याण के लिए अपनी गति और अधिक तेजी से बढ़ाएगी।

हार निश्चित देख बौखला गई हैं ममता

अमित शाह ने मुख्यमंत्री ममता बनर्जी पर निशाना साधते हुए कहा कि ममता दीदी समझ चुकी हैं कि चुनाव में उनकी हार तय है। इसलिए बौखलाहट में चुनाव आयोग और विपक्षी दलों पर आरोप लगा रही हैैं। उन्होंने कहा कि सभी लोकतांत्रिक मूल्यों को बंगाल में दफन करने वाली ममता दीदी आज लोकतंत्र की बात कर रही हैं। बंगाल में वोटबैंक की तुष्टिकरण की राजनीति ने यहां की संस्कृति को नष्ट करने का काम किया है। पुलिस और ब्यूरोक्रेसी ने अपना रोल छोड़कर राजनेताओं का रोल ले लिया है। राजनेता मौन हैं, बाबू शाही बंगाल के लोकतंत्र को हड़प कर गई है।

चिटफंड मामलों का जिक्र करते हुए शाह ने कहा कि नारदा, शारदा और सिंडिकेट राज ने बंगाल के अंदर भष्टाचार का माहौल खड़ा किया है, जिससे बंगाल की जनता त्रस्त है। उन्होंने ममता पर रैलियों की अनुमति नहीं देने का आरोप लगाते हुए कहा कि हमारी रैली को बंगाल में अनुमति न देने वाली ममता दीदी की रैलियों को आज जनता अनुमति नहीं दे रही। उनकी रैलियों में भीड़ नहीं उमड़ रही है। उन्होंने कहा कि कहा कि जिस योजना से देश के 50 करोड़ गरीबों के इलाज के लिए पांच लाख रुपये तक का खर्चा केन्द्र सरकार वहन कर रही है, उस आयुष्मान योजना को बंगाल की जनता से ममता दीदी ने दूर रखा है।

साध्वी प्रज्ञा मामले पर कांग्रेस को घेरा

अमित शाह ने साध्वी प्रज्ञा को लेकर छिड़े विवाद पर खुलकर बात की। उन्होंने कहा कि हिन्दू टेरर के नाम से एक फर्जी केस बनाना गया था। दुनिया में देश की संस्कृति को बदनाम किया गया। कोर्ट में केस चला तो इसे फर्जी पाया गया। उन्होंने कांग्रेस सरकार पर सवाल उठाते हुए पूछा कि स्वामी असीमानंद जी और बाकी लोगों को आरोपित बनाकर फर्जी केस बनाया तो समझौता एक्सप्रेस में ब्लास्ट करने वाले लोग कहां हैं? जो लोग पहले पकड़े गए थे, उन्हें क्यों छोड़ा?

Tags:    

Swadesh Digital ( 8767 )

स्वदेश वेब डेस्क www.swadeshnews.in


Share it
Top