Top
Home > Lead Story > CAB के विरोध में असम में बवाल, 2 की मौत, सीएम का शांति संदेश

CAB के विरोध में असम में बवाल, 2 की मौत, सीएम का शांति संदेश

-कानून व्यवस्था यूनिफाइड कमांड के हवाले -आंदोलन के कारण कम दूरी की ट्रेनें रद्द

CAB के विरोध में असम में बवाल, 2 की मौत, सीएम का शांति संदेश

गुवाहाट। नागरिकता संशोधन विधेयक-2019 (कैब) के खिलाफ असम, त्रिपुरा और मेघालय समेत पूर्वोत्तर के अन्य राज्यों में गुरुवार को लगातार चौथे दिन विरोध प्रदर्शन जारी रहा। असम और त्रिपुरा में हालात ज्यादा खराब हैं। असम के 12 जिले प्रभावित हैं। गुवाहाटी में प्रदर्शन के दौरान पुलिस फायरिंग में दो युवकों की मौत हो गयी है, जबकि दो युवक गंभीर रूप से घायल हैं। कई जगह आगजनी और तोड़फोड़ की भी खबरें हैं।

पुलिस के अनुसार लाचित नगर में विरोध-प्रदर्शन के दौरान पुलिस की फायरिंग में छयगांव निवासी दीपांकर दास गंभीर रूप से घायल हो गया। उसे गुवाहाटी मेडिकल कॉलेज एवं अस्पताल (जीएमसीएच) में भर्ती कराया गया, जहां उसकी मौत हो गई। मृतक सैनिक भवन के कैंटीन का कर्मचारी था। वहीं हातीगांव थानांतर्गत शंकर पथ के निकट गुरुवार देर शाम पुलिस के काफिले पर किए गए हमले के जवाब में अर्ध-सैनिक बल और पुलिस की गोलीबारी में एक युवक की मौके पर ही मौत हो गई जबकि दो युवकों को गंभीर हालत में जीएमसीएच में भर्ती कराया गया है। हातीगांव हाईस्कूल के समीप पुलिस और प्रदर्शनकारियों के बीच झड़प होने की खबर है। दिसपुर तानांतर्गत डाउन टाउन इलाके में चार वाहनों को उपद्रवियों ने आग के हवाले कर दिया।

कैब को रद्द करने की मांग को लेकर राज्य में हो रहे उग्र प्रदर्शन के मद्देनजर गुरुवार को 12 जिलों में अगले 48 घंटे के लिए इंटरनेट सेवाएं बंद कर दी गई हैं। बुधवार तक सिर्फ 10 जिलों में ही इंटरनेट सेवाएं बंद की गयी थीं। इसमें लखीमपुर, धेमाजी, तिनसुकिया, डिब्रूगढ़, चराईदेव, शिवसागर, जोरहाट, गोलाघाट, कामरूप (मेट्रो) एवं कामरूप जिले शामिल हैं।

विरोध-प्रदर्शन के बीच असम के पूर्व मुख्यमंत्री प्रफुल्ल कुमार महंत को गुरुवार सुबह गुवाहाटी के बाहरी इलाके सोनापुर में प्रदर्शनकारियों के विरोध के चलेते बैरंग लौटना पड़ा। पूर्व मुख्यमंत्री महंत गुवाहाटी से ऊपरी असम की ओर जा रहे थे। इस दौरान प्रदर्शनकारी उनके वाहन के सामने खड़े होकर विरोध करने लगे, जिसके चलते उन्हें पुनः गुवाहाटी लौटना पड़ा।

मेघालय के मुख्यमंत्री कॉनराड संगमा का काफिला गुवाहाटी हवाई अड्डे की ओर जाते वक्त आंदोलनकारियों के बीच फंस गया। प्रदर्शनकारियों ने काफिले को रोकने की कोशिश भी की। इसके बाद गुवाहाटी के पूर्व पुलिस कमिश्नर दीपक कुमार के नेतृत्व में भारी सुरक्षा व्यवस्था के बीच संगमा को गुवाहाटी के लोकप्रिय गोपीनाथ बरदलै अंतरराष्ट्रीय हवाई अड्डे ले जाया गया।

असम के विभिन्न जिलों में हो रहे लगातार उग्र प्रदर्शन के बाद परिस्थिति को नियंत्रित करने के लिए कानून व्यवस्था को यूनिफाइड कमांड के हवाले सौंप दिया गया है। गंभीर हालात के मद्देनजर तिनसुकिया शहर, तेजपुर और ढेकियाजुली शहर में भी कर्फ्यू लगाया गया है।

असम पुलिस और सेना के शीर्ष अधिकारियों के बीच गुरुवार को हुई अहम बैठक के बाद कानून-व्यवस्था को यूनिफाइड कमांड के जिम्मे सौंपे जाने का फैसला किया गया। बैठक में असम पुलिस के डीजीपी भास्कर ज्योति महंत, सीआरपीएफ के आईजी, एसएसबी के आईजी और बीएसएफ के आला अधिकारी शामिल थे। साथ ही हालात गंभीर होते देख गुवाहाटी, डिब्रूगढ़ के बाद तेजपुर सदर, ढेकियाजुली और तिनसुकिया थाना क्षेत्र में कर्फ्यू लगा दिया गया।

असम के राज्यपाल प्रो. जगदीश मुखी ने कैब संसद से पारित होने के बाद राज्य के सभी वर्गों से शांति और व्यवस्था बनाए रखने की अपील की है। प्रो. मुखी ने कहा कि यदि छात्र समुदाय के पास सरकार के खिलाफ कोई मुद्दा है तो उन्हें आंदोलन करने का पूरा अधिकार है, लेकिन शांतिपूर्ण तरीके से।

वहीं आंदोलन के चलते पूर्वोत्तर के राज्यों में कम दूरी की यात्री ट्रेनें 12 और 13 दिसम्बर को रद्द कर दी गई हैं। 12 एवं 13 दिसम्बर को डिब्रूगढ़, तिनसुकिया, सिलचर और अगरतला से लंबी दूरी की पैसेंजर एवं एक्सप्रेस ट्रेनें गुवाहाटी और कामाख्या रेलवे स्टेशनों से चलाई जाएंगी।

-हटाए गए एडीजी, सीपी और चारों डीसीपी

असम के ब्रह्मपुत्र घाटी में बिगड़े हालात पर काबू पाने में विफल रहे एडीजी (कानून-व्यवस्था) मुकेश अग्रवाल और गुवाहाटी के पुलिस कमिश्नर दीपक कुमार को हटा दिया गया है। इसके साथ ही गुवाहाटी के चारों डीसीपी का भी तबादला कर दिया गया है। एडीजी (कानून-व्यवस्था) मुकेश अग्रवाल के स्थान पर दिल्ली में प्रतिनियुक्ति पर तैनात असम कैडर के आईपीएस अधिकारी जीपी सिंह को केंद्र सरकार ने गुवाहाटी भेजा है। मुकेश अग्रवाल काे एडीजीपी (सीआईडी) पद पर स्थानांतरित किया गया है। एडीजीपी जीपी सिंह ने गुरुवार सुबह गुवाहाटी पहुंचकर पदभार संभाल लिया है। इसके साथ ही पुलिस के शीर्ष अधिकारियों के साथ बैठक भी की है। दीपक कुमार के स्थान पर गुवाहाटी के नए पुलिस कमिश्नर के रूप में मुन्ना प्रसाद गुप्ता को तैनात किया गया है। इसके साथ ही गुवाहाटी के चारों डीसीपी का भी तबादला किया गया है।

कैब के विरोध में एनएच-37 पर प्रदर्शन

असम के ब्रह्मपुत्र घाटी में गुरुवार को विरोध-प्रदर्शन का सिलसिला जारी है। एनएच-37 पर जगह-जगह टायर जलाकर विरोध-प्रदर्शन होने की वजह से राजमार्ग पूरी तरह से बंद हो गया है। वाहनों की आवाजाही पूरी तरह से ठप है। विरोध मुख्यतः गुवाहाटी के अलावा मध्य और ऊपरी असम के गोलाघाट, नगांव, मोरीगांव, जोरहाट, डिब्रूगढ़, तिनसुकिया, लखीमपुर और दरंग आदि जिलों में हो रहा है।गुवाहाटी के बाहरी इलाके जोराबाट, सोनापुर और खेत्री में कैब के खिलाफ लोगों ने जमकर विरोध-प्रदर्शन किया। खानापाड़ा में सुरक्षा के पुख्ता इंतजाम किए गए हैं। जीएस रोड की ओर जाने वाली सड़क को पूरी तरह से बंद कर दिया गया है। एंबुलेंस, पुलिस, सेना और पत्रकारों के वाहनों के अलावा अन्य किसी भी निजी वाहन को जीएस रोड से गुवाहाटी में प्रवेश करने नहीं दिया जा रहा है।

Tags:    

Swadesh Digital ( 0 )

स्वदेश वेब डेस्क www.swadeshnews.in


Share it
Top