Home > Lead Story > केसरिया सागर देख के पवार मैदान छोड़ गए : प्रधानमंत्री मोदी

केसरिया सागर देख के पवार मैदान छोड़ गए : प्रधानमंत्री मोदी

केसरिया सागर देख के पवार मैदान छोड़ गए : प्रधानमंत्री मोदी

मुंबई। महाराष्ट्र के पूर्व मुख्यमंत्री और राकांपा प्रमुख शरद पवार के गढ़ बारामती और माढ़ा लोकसभा चुनाव क्षेत्र में बुधवार को प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने जनसभा की। उन्होंने एक बार फिर शरद पवार पर निशाना साधा है। पीएम मोदी ने पंढरपुर के विट्ठल नाम का स्मरण करते हुए मराठी में भाषण शुरू किया, 'एयर कंडीशन में बैठने वालों को समझ में नहीं आता कि जमीनी सच्चाई क्या है? केसरिया सागर देख पवार भी मैदान छोड़कर नौ-दो 11 हो गए। वह होशियार नेता हैं। हवा का रुख देखकर भांप लेते हैं। केंद्र में मजबूत सरकार चाहिए और मजबूत देश के लिए यह जरूरी है।'

मोदी ने कहा कि देश की जनता खुद मोदी के कामों का प्रचार करती है। मोदी को वोट देने की अपील करती है। पांच साल में एक भी भ्रष्टाचार नहीं हुआ है। उन्होंने काले धन और भ्रष्टाचार के खिलाफ कड़े कदम उठाए हैं। साढ़े तीन लाख फर्जी कंपनियों को बंद करा दिया। कांग्रेस राकांपा की महा मिलावट गठबंधन मजबूर है। उनके हाथ में देश को न सौंपे। मोदी ने बालाकोट हमले को अपनी उपलब्धि बताते हुए कहा कि नेताओं में दम होता है तो फौजियों के हाथ चलते हैं। विपक्ष सेना पर सवाल उठा रहा है, लेकिन मोदी चौकीदार उनके बीच खड़ा है। उनके मनसूबे सफल नहीं होने देगा।

अकलुज में आयोजित चुनावी सभा को संबोधित करते हुए प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने भाजपा-शिवसेना के उम्मीदवार रणजीत सिंह निम्बालकर को वोट देने की अपील की। उन्होंने विजय सिंह मोहिते पाटिल के 75 वर्ष पूरा करने पर बधाई दी। इससे पहले भाजपा ने अपना शक्ति प्रदर्शन किया। इस मौके पर देवेंद्र फडणवीस ने कहा कि माढ़ा के लोगों ने शरद पवार को नकार दिया, इसलिए उन्होंने चुनाव नहीं लड़ने का फैसला किया। पडणवीस ने अपनी सरकार की उपलब्धियों को गिनाते हुए कहा कि तालुका में सिंचाई योजना शुरू किया, जिससे 50 एकड़ जमीन सिंचाइयोग्य हो गई। कृष्णा भीमा योजना के लिए 37000 करोड़ की योजना शुरू की जाएगी। मुलसी योजना से भी माढ़ा के लिए सिंचाई व बिजली उपलब्ध कराई जाएगी। शक्कर कारखानों को शुरू किया गया, जिससे गन्ना किसानों को लाभ हुआ है।

माढ़ा निर्वाचन क्षेत्र के उम्मीदवार रणजीत सिंह निम्बालकर ने जनता से जिताने की अपील करते हुए कहा कि सांसद बनने के बाद वह किसानों की समस्याओं के साथ ही सिंचाई संकट को दूर करने का प्रयास करेंगे। उन्होंने अपने पिता हिंदूराव निम्बालकर के योगदान को याद करते हुए कहा कि उनके ही प्रयासों से कृष्णा खोरे सिंचाई योजना को पूरा किया जा सका है, लेकिन उसका लाभ बारामती को ज्यादा हुआ है। माढ़ा के लोगों को कोई लाभ नहीं मिला है। उन्होंने विश्वास जताया कि माढ़ा की सीट भाजपा ही जीतेगी।

बारामती की उम्मीदवार कांचन कुल भी इस अवसर पर मौजूद थीं। उन्होंने कहा कि जनता के विकास पर जोर दिया जाएगा। पार्टी ने जो विश्वास जताया है, उस पर खरी उतरेंगी। रामदास कदम ने भी भाजपा शिवसेना गठबंधन के उम्मीदवार को जिताने की अपील की है। उन्होंने कहा कि धनगर समाज को आरक्षण का लाभ दिया जाएगा। सिंचाई समस्या को दूर किया जाएगा। रोजगार के लिए उद्योग लगाए जाएंगे। इसके लिए केंद्र में मजबूत सरकार होनी चाहिए।

मंच पर आसीन सभी नेताओं ने शरद पवार का नाम न लेते हुए उन पर हमला किया। विजय सिंह मोहिते पाटिल, रणजीत सिंह मोहिते पाटिल, उत्तमराव, रामदास कदम समेत कई लोग इस अवसर पर उपस्थित थे।

Tags:    

Swadesh Digital ( 7921 )

स्वदेश वेब डेस्क www.swadeshnews.in


Share it
Top