Home > Lead Story > नमो के नेतृत्व में बढ़ा है देश का सम्मान : नीतीश

नमो के नेतृत्व में बढ़ा है देश का सम्मान : नीतीश

नमो के नेतृत्व में बढ़ा है देश का सम्मान : नीतीश

भागलपुर। बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने कहा कि नमो के नेतृत्व में देश का सम्मान बढ़ा है। आतंकियों के बीच त्वरित कार्रवाई होने से विश्व में देश की इज्जत बढ़ी है। केंद्र और बिहार की सरकार ने हर क्षेत्र में काम किया है। कानून का राज स्थापित किया और न्याय के साथ विकास पर बल दिया है। मुख्यमंत्री श्री कुमार भागलपुर जिले के नवगछिया अनुमंडल के नारायणपुर प्रखंड में उच्च विद्यालय नागर टोला के मैदान में एनडीए प्रत्याशी अजय कुमार मंडल के पक्ष में एक चुनावी सभा को संबोधित कर रहे थे। उन्होंने विरोधियों पर प्रहार करते हुए कहा कि बिहार में जब पति पत्नी की सरकार थी तो क्या हालत थी। सरकारी अस्पताल में एक माह में महज 39 लोग इलाज कराने जाते थे। लेकिन हमारी सरकार में हर पीएचसी में दस हजार से ज्यादा लोग एक माह में इलाज कराने आ रहे हैं। मुख्यमंत्री ने केंद्र सरकार की तारीफ करते हुए उज्जवला योजना, आयुष्मान भारत योजना का जिक्र करते हुए कहा कि एक तरफ केंद्र सरकार ने धुंए वाले चुल्हे से सबको आजादी दिलायी तो दूसरी तरफ सरकार ने गरीब लोगों के लिए भी पांच लाख रूपये तक के इलाज की व्यवस्था की है। उन्होंने जिक्र किया है कि सड़क विस्तारीकरण, सुदृढ़ीकरण के क्षेत्र में केंद्र सरकार ने पचास हजार करोड़ रुपये की योजना दी है तो नये पुल और पुराने पुल के समानांतर पुल बनाने की प्रक्रिया बड़ी तेजी से चल रही है। बिहार के किसी भी इलाके से पांच घंटे में पटना पहुंचाना अब उन लोगों का लक्ष्य है. नीतीश कुमार ने कहा कि बरौनी रिफाइनरी का विस्तार किया गया है तो दूसरी तरफ बरौनी में बंद हो गये खाद कारखाने को पुन: शुरू करने की कवायद शुरू कर दी है. इस कारखाने में बिहार के जरूरत के हिसाब से नीम कोटेड खाद तैयार किया जायेगा. जिसका फायदा दूसरे राज्य के लोगों को भी मिलेगा. नीतीश कुमार ने किसान सम्मान निधि योजना का जिक्र कहते हुए कहा कि एक तरफ केंद्र सरकार की यह स्कीम किसानों के उत्पादन लागत में राहत देने का काम करेगा तो राज्य सरकार किसानों के फसल सहायता योजना चला रही है। इस योजना के तहत आपदा में अगर बीस फीसदी क्षति होती है तो राज्य सरकार से मुआवजा देने का प्रावधान है। नीतीश कुमार ने कहा कि पटना में मेट्रो में बीस फीसदी राशि केंद्र सरकार देने वाली है, विभिन्न जगहों पर मेडिकल कॉलेज खोलने की कवायद शुरू की जा रही है। जिसमें केंद्र सरकार भरपूर मदद कर रही है। बिहार के खास ध्यान रखने के लिए केंद्र की सरकार धन्यवाद के पात्र हैं। शिक्षा क्षेत्र का जिक्र करते हुए सीएम ने कहा कि बिहार में 21 हजार नये स्कूल खोले गये हैं। नये शिक्षकों का नियोजन किया गया है। जो बच्चे स्कूल से बाहर थे उन्हें टोला सेवक और तालिमी मरकज के माध्यम से स्कूल लाया गया है। अब नाम मात्र बच्चे की स्कूल से बाहर हैं। मुख्यमंत्री ने कहा कि उन्होंने हर जगह आईटीआई कॉलेज, एएनएम कॉलेज, मेडिकल कॉलेज आदि खोलने की कवायद शुरू कर दी है ताकि जिस जिले में पढ़ाई की व्यवस्था हो जाय और किसी को बाहर न जाना पड़े। मुख्यमंत्री ने कहा कि पुरूष और स्त्री मिल कर ही सृष्टि का निर्माण करते हैं। ऐसे में महिलाओं के उत्थान की बड़ी आवश्यकता है। हम जैसे ही सत्ता में आये सबसे पहले पंचायत चुनाव में समाज के हाशिये पर मौजूद समाज को जरूरत के हिसाब से आरक्षण दिया साथ ही साथ महिलाओं के लिए पचास फीसदी आरक्षण की व्यवस्था की। आज एक लाख से अधिक महिला जनप्रतिनिधि हैं और समाज का विकास कर रही है। नीतीश कुमार ने कहा कि लड़की पैदा होने पर लोग मायूस होते हैं लेकिन हमने बच्ची के जन्म से लेकर स्नातक पास करने तक कुल मिला कर 54 हजार एक सौ रूपये का लाभ बच्चियों को दे रहे हैं। सीएम ने जीविका समूहों की काफी तारीफ की और कहा कि जीविका दीदी बैंकों के बारे में जितना जानती हैं, उतना कोई पढ़ा लिखा व्यक्ति भी बैंकों के कार्यप्रणाली और नियमों के बारे में नहीं जानता है। सरकारी नौकरी में महिलाओं को दिये जा रहे 35 फीसदी आरक्षण चर्चा करते हुए सीएम ने शराबबंदी, दहेज प्रथा के विरोध में जागरूकता अभियान, बाल विवाह के विरोध में जागरूकता अभियान का भी जिक्र किया। मुख्यमंत्री ने अपने संबोधन के माध्यम से विरोधियों पर जम कर प्रहार किया। सीएम ने कहा कि कुछ लोग सत्ता में आ कर सिर्फ माल कमाना चाहते हैं। ऐसे लोगों को सिर्फ स्वार्थ से मतलब है परमार्थ से नहीं। उन्होंने इशारे में कहा कि कुछ लोग इसी इरादे की सजा आज भोग भी रहे हैं। लेकिन उनका करना उनका धर्म है और उन्होंने बिना भेद विकास समाज के हर वर्गों की खिदमत की है। उन्होंने कहा कि पति पत्नी की सरकार में पूरे बिहार में महज सात सौ मेगावाट बिजली की खपत थी। लेकिन आज बिहार में 52 सौ मेगावाट बिजली की खपत हो रही है। हर घर में बिजली है। अब अंधेरा नहीं है इसलिए समाज में लालटेन की उपयोगिता समाप्त हो गयी है। मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने अपने संबोधन में पहली बार नवगछिया के चिरपरिचित मांग नवगछिया को पूर्ण जिला बनाने के मांग की चर्चा .। मुख्यमंत्री ने कहा कि नवगछिया जिला बने यह यहां के लोगों की आकांक्षा है। इस बात से वे अवगत हैं। दूसरी तरफ जिला बनाने को लेकर ज्ञापन देने वाले अधिवक्ता संघ के अध्यक्ष सत्येंद्र नारायण चौधरी कौशल ने कहा कि जब उन्होंने यह ज्ञापन मुख्यमंत्री को सौंपा तो उन्होंने कहा कि आपके मांगों से हम अवगत हैं। समय आने पर देखा जायेगा। इधर मुख्यमंत्री ने अपने चिरपिरचित मजदूरी मांगने के अंदाज में लोगों से वोट की अपील है। सभा की अध्यक्षता भाजपा जिलाध्यक्ष विनोद कुमार मंडल कर रहे थे। इस मौके पर प्रत्याशी अजय कुमार मंडल, जदयू जिलाध्यक्ष चंदेश्वरी प्रसाद सिंह निषाद, पूर्व विधायक ई शैलेंद्र, पूर्व एमएलसी संजय सिंह आदि ने भी सभा को संबोधित किया।

Tags:    

Swadesh Digital ( 7996 )

स्वदेश वेब डेस्क www.swadeshnews.in


Share it
Top