Home > Lead Story > घाटी में सामान्य होते हालात के बीच आतंकियों ने दी धमकी, लोग घर से बाहर न निकलें

घाटी में सामान्य होते हालात के बीच आतंकियों ने दी धमकी, लोग घर से बाहर न निकलें

घाटी में सामान्य होते हालात के बीच आतंकियों ने दी धमकी, लोग घर से बाहर न निकलें

श्रीनगर। जम्मू कश्मीर में अनुच्छेद 370 और 35ए हटाए जाने के बाद से राज्य में सुरक्षा के कड़े प्रबंध किए गए। इसी बीच धारा 144 के तहत प्रतिबंध भी लागू कर दिए गए। प्रतिबंध हटने तथा कश्मीर घाटी में धीरे-धीरे हालात सामान्य होते देख आतंकी बौखला गए हैं और अब वह लोगों को धमकियां देने लगे है।

हिजबुल मुजाहिदीन आतंकी संगठन के आतंकियों ने स्थानीय लोगों और दुकानदारों को धमकी दी है कि अपनी दुकानें न खोलें तथा टैक्सी ड्राइवरों से कहा है कि टैक्सी न चलाएं। इसके अतिरिक्त स्थानीय लोगों को घर से बाहर न आने की धमकी भी दी गई है। इससे पहले लोगों में डर पैदा करने के लिए पिछले दिनों आतंकियों ने श्रीनगर में एक दुकानदार की गोली मारकर हत्या कर दी थी।

आतंकी संगठन हिजबुल के नाम से एक खत जारी कर कहा गया है कि कश्मीर घाटी में कोई भी दुकानदार अपनी दुकानें न खोलें और बाजार बंद रहने चाहिए। इसके साथ ही वाहन चालकों को भी यह कहकर धमकाया गया है कि घाटी में चलने वाले वाहनों के नंबर आतंकियों के पास हैं, जिसके चलते वाहन चालक अपने वाहन घरों से बाहर न निकालें। इसी बीच आतंकियों ने स्कूलों को लेकर भी चेतावनी जारी की है। पत्र में आगे कहा गया है कि कोई भी लड़की स्कूल जाती नहीं दिखनी चाहिए।

उल्लेखनीय है कि धारा 370 हटने के बाद सुरक्षा व्यवस्था कड़ी कर दी गई है, जिससे आतंकी अपनी किसी भी वारदात को अंजाम नहीं दे पा रहे हैं और बौखलाकर ऐसे फतवे जारी कर रहे हैं। गत गुरुवार को आतंकियों ने श्रीनगर में एक दुकानदार गुलाम मोहम्मद पर गोलीबारी कर दी, जिसके बाद उसकी मौके पर ही मौत हो गई। अब आतंकियों द्वारा यह खत जारी करने के बाद कश्मीर घाटी की सुरक्षा व्यवस्था और कड़ी कर दी गई है।

इस बीच जम्मू कश्मीर पुलिस ने कहा है कि यहां के हालात बिल्कुल शांत हैं। कश्मीर घाटी में हालात पूरी तरह से काबू में हैं। जम्मू कश्मीर पुलिस ने शनिवार को ट्वीट कर इसकी जानकारी दी। पुलिस ने कहा कि जो भी लोग फेक न्यूज फैला रहे हैं, हमने उनकी पहचान कर ली है। उन्होंने कहा कि प्रक्रिया के तहत कानूनी उपाय किए जा रहे हैं। उन्होंने लोगों से अपील की कि शांति भंग करने के लिए बनाई गई किसी भी अफवाह पर ध्यान न दें। (हि.स.)

Tags:    

Swadesh News ( 0 )

Swadesh Digital contributor help bring you the latest article around you


Share it
Top