Top
Latest News
Home > शिक्षा > कैरियर > NTA जेईई मेन अप्रैल के लिए आज से करें आवेदन, पढ़ें पूरी खबर

NTA जेईई मेन अप्रैल के लिए आज से करें आवेदन, पढ़ें पूरी खबर

NTA जेईई मेन अप्रैल के लिए आज से करें आवेदन, पढ़ें पूरी खबर

नई दिल्ली। NTA जेईई मेन अप्रैल परीक्षा 2020 के लिए रजिस्ट्रेशन jeemain.nta.nic.in पर आज से शुरू होंगे। अगर जनवरी जेईई मेन में अच्छा प्रदर्शन नहीं किया है तो इस परीक्षा के जरिए स्टूडेंट्स अपने जईई मेन स्कोर सुधार सकते हैं। साल में दो बार जेईई मेन होने के चलते अब स्टूडेंट्स अपने जईई मेन स्कोर सुधार सकते हैं। JEE Main April 2020 के लिए 7 मार्च तक आवेदन किया जा सकेगा। आवेदन फीस 8 मार्च 2020 तक जमा कराई जा सकेगी। इमेज अपलोडिंग की डेडलाइन भी 8 मार्च 2020 तय की गई है। जेईई मेन अप्रैल 2020 ऑनलाइन मोड में 5 अप्रैल, 7 अप्रैल से 9 अप्रैल और 11 अप्रैल, 2020 को आयोजित होगा। जेईई मेन परीक्षा के माध्यम से 12वीं पास स्टूडेंट्स को देश के प्रतिष्ठित इंजीनियरिंग कॉलेजों में एंट्री मिलती है।

- NIT, IIIT और अन्य केंद्रीय वित्त पोषित तकनीकी संस्थानों आदि में बीटेक, बीई कोर्सेज में प्रवेश के लिए जेईई मेन एग्जाम आयोजित होता है। यह साल में दो बार आयोजित होता है। जेईई मेन जनवरी 06 जनवरी से 09 जनवरी के बीच आयोजित हुई थी। परीक्षा परिणाम 17 जनवरी और 23 जनवरी, 2020 को घोषित किया गया था।

- वे अभ्यर्थी जो पहले जेईई मेन जनवरी 2020 परीक्षा में बैठ चुके हैं वे चाहें तो जेईई मेन अप्रैल 2020 में स्कोर में सुधार के लिए बैठ सकते हैं। मेरिट लिस्ट/रैंकिंग तैयार करने के लिए किसी भी अभ्यर्थी के दो में से सबसे अच्छे एनटीए स्कोर पर विचार किया जाएगा।

- बी. आर्क और बी. प्लानिंग की पात्रता मानदंड के अनुसार एवं विषय विशेषज्ञों की राय के मुताबिक बीई, बीटेक, बी आर्क और बी प्लानिंग के प्रश्नपत्र के प्रारूप एवं प्रश्नों की संख्या में बदलाव किये गए हैं जिनका अनुमोदन जैब (JAB) द्वारा किया गया है। इन्हें जेईई मेन जनवरी 2020 परीक्षा में भी लागू किया गया था।

- परीक्षा का नया पैटर्न इस प्रकार है-

- ऊपर दी गईं सभी परीक्षाएं, बी आर्क की ड्राइंग परीक्षा के प्रश्नों को छोड़कर केवल कंप्यूटर आधारित परीक्षा (सीबीटी) मोड में आयोजित की जाएंगी। बीआर्क की ड्राइंग परीक्षा कागज कलम (ऑफलाइन) मोड में आयोजित की जाएंगी।

- अप्रैल जेईई मेन 2020 परीक्षा के बाद दोनों एनटीए स्कोर (जनवरी का जेईई मेन स्कोर और अप्रैल का जेईई मेन स्कोर) के आधार पर रैंकिंग तय की जाएगी।

- जेईई एडवांस्ड 2020 ( JEE Advanced 2020 ) का आयोजन 17 मई, 2020 को होगा। इसमें दो पेपर होंगे। पहला पेपर सुबह 9 से 12 बजे तक और दूसरा दोपहर ढाई से साढ़ें पांच बजे तक होगा। यह पूरी तरह कंप्यूटर बेस्ड टेस्ट होगा।

- IIT Advanced से जुड़ी जानकारी jeeadv.ac.in पर मिलेगी।

- जो परीक्षार्थी परीक्षा में बैठना चाहते हैं वह jeemain.nta.nic.in पर जाकर डिटेल्ड नोटिफिकेशन डाउनलोड कर सकते हैं।

- पेपर-2 के पैटर्न में बदलाव

जेईई मेन पेपर टू के परीक्षा पैटर्न में बदलाव कर दिया गया है। अब बदले हुए पैटर्न के आधार पर अप्रैल में परीक्षा होगी। इसकी अधिसूचना जारी कर दी गई है। बदले हुए पैटर्न के अनुसार बी आर्क, बी प्लानिंग में बदलाव किया गया है। अब जेईई मेन पेपर टू में 400 अंकों की परीक्षा होगी। वहीं नेशनल एप्टीट्यूड टेस्ट इन आर्किटेक्चर (नाटा) 200 अंकों का होगा। पहले जेईई मेन पेपर टू में 83 प्रश्नों के उत्तर देने होते थे। अब छात्रों को सिर्फ 77 प्रश्नों के उत्तर देने होंगे। इनमें अब गणित से 25, ड्राइंग से 2 व एप्टीट्यूड टेस्ट से 50 प्रश्नों के सवाल पूछे जाएंगे।

बीआर्क और बी प्लानिंग या नाटा के संबंध में इस परीक्षा के विशेषज्ञ सह आरएफएस के निदेशक प्रोफेसर राज चित्रकार ने बताया कि बदले हुए पैटर्न से छात्रों को काफी फायदा होगा। साथ ही छात्रों को अब प्रत्येक प्रश्नों के उत्तर पर विशेष ध्यान देना होगा। यह परीक्षा नेशनल टेस्टिंग एजेंसी (एनटीए) जेईई मेन द्वारा आयोजित की जाती है।

बीआर्क और बी प्लानिंग 400 अंकों का होता है, जिसमें गणित से 100 अंकों के 25 प्रश्न, एप्टीट्यूड टेस्ट से 200 अंकों के 50 प्रश्न और ड्राइंग से 50-50 अंकों के दो सवाल पूछे जाते हैं। जबकि नेशनल एप्टीट्यूड टेस्ट इन आर्किटेक्चर (नाटा) में 200 अंकों के लिए पहली टेस्ट के पार्ट में ऑनलाइन लेकिन ड्राइंग जो 80 मार्क टेस्ट में ऑफलाइन होती है। बीआर्क और बी प्लानिंग के पहले पार्ट के टेस्ट में मुख्य रूप से एनालिटिकल रिजनिंग, मेंटल एबिलिटी, न्यूमेरिकल व वर्बल से सवाल पूछे जाते हैं।

नई दिल्ली। कांग्रेस के वरिष्ठ नेता पी चिदंबरम ने शुक्रवार को जम्मू-कश्मीर के पूर्व मुख्यमंत्रियों उमर अब्दुल्ला और महबूबा मुफ्ती समेत दो अन्य के खिलाफ जन सुरक्षा कानून (पीएसए) के तहत मामला दर्ज किए जाने को लेकर सरकार की निंदा की। उन्होंने ट्वीट कर इसपर आश्चर्य जाहिर किया। चिदंबरम ने लिखा कि बिना आरोप हिरासत में लिया जाना लोकतंत्र की हत्या है। जब अन्यायपूर्ण कानून पारित किए जाते हैं या अन्यायपूर्ण कानून लागू किए जाते हैं तो जनता के पास शांतिपूर्ण प्रदर्शन करने के सिवा कोई रास्ता बचता है क्या?

इसके बाद एक अन्य ट्वीट में उन्होंने लिखा कि 'प्रधानमंत्री कहते है कि प्रदर्शनों से अराजकता फैलेगी इसलिए संसद में पारित किए गए कानूनों का पालन किया जाना चाहिए। वे महात्मा गांधी, मार्टिन लूदर किंग और नेलसन मंडेला के उदाहरणों को भूल गए हैं।' उन्होंने लिखा कि 'शांतिपूर्ण विरोध के माध्यम से अन्यायपूर्ण कानूनों का विरोध किया जाना चाहिए।'

बता दें कि अबदुल्ला और मुफ्ती के खिलाफ मुकदमा दर्ज होने के पहले दिन में नेशनल कॉन्फ्रेंस के महासचिव तथा पूर्व मंत्री अली मोहम्मद सागर और पीडीपी के वरिष्ठ नेता सरताज मदनी पर भी पीएसए लगाया गया। एक पुलिस अधिकारी के साथ एक मजिस्ट्रेट यहां हरि निवास पहुंचे, जहां 49 वर्षीय उमर पांच अगस्त से नजरबंद हैं। इसी दिन केन्द्र सरकार ने जम्मू-कश्मीर से विशेष दर्जा वापस लेकर उसे दो केन्द्र शासित प्रदेशों लद्दाख और जम्मू-कश्मीर में विभाजित कर दिया था। उन्होंने पीएसए के तहत जारी वारंट उमर को सौंपा। उमर के दादा तथा पूर्व मुख्यमंत्री शेख मोहम्मद अब्दुल्ला के शासनकाल में 1978 में लकड़ी की तस्करी को रोकने के लिए यह कानून लाया गया था।

Tags:    

Swadesh Digital ( 0 )

स्वदेश वेब डेस्क www.swadeshnews.in


Next Story
Share it
Top