Home > शिक्षा > कैलिफोर्नियां में मैकडोनाॅल्ड, वेंटेज एलईडी में पहुंचे जीएलए के छात्र, प्रबंधन की बारीकियों को समझा

कैलिफोर्नियां में मैकडोनाॅल्ड, वेंटेज एलईडी में पहुंचे जीएलए के छात्र, प्रबंधन की बारीकियों को समझा

न्यू बिजनेस आईडिया प्रतियोगिता, जिसमें दक्षिण कोरिया, कोलंबिया और अमेरिका के विद्यार्थी भी प्रतिभाग कर रहे थे, इसमें जीएलए ने प्रथम स्थान प्राप्त किया

कैलिफोर्नियां में मैकडोनाॅल्ड, वेंटेज एलईडी में पहुंचे जीएलए के छात्र, प्रबंधन की बारीकियों को समझा

मथुरा। कैलिफोर्निया में जीएलए विश्वविद्यालय मथुरा की उपलब्धियां गिनाकर एमबीए विद्यार्थियों का दल वापस आ गया है। शिक्षक डाॅ. कुशाग्र कुलश्रेष्ठ एवं डाॅ. सुचेता अग्रवाल के नेतृत्व में दल ने सेन बर्नारडीनो स्थित कैलिफोर्निया स्टेट यूनिवर्सिटी द्वारा आयोजित किये गये लीडरशिप एकेडमी प्रोग्राम में विभिन्न सत्रों के दौरान प्रतिभाग किया।कैलिफोर्निया में अपने प्रवास के दौरान इस दल ने सैन डिएगो, हाॅलीवुड, लाॅस एंजिल्स, कैरोलिनाआदि जगहों पर भ्रमण के साथ ही औद्योगिक भ्रमण भी किये। डिज्नी लैंड समेत कई बड़े प्रोजेक्ट्स के लिए काम कर रहे गार्नर हाल्ट प्रोडक्शन के भ्रमण को पहुंचे। विद्यार्थियों के दल की आगवानी स्वयं समूह के चेयरमैन गार्नर हाल्ट ने की और अपने समूह की कार्यप्रणाली एवं प्रबंधन के विभिन्न पहलुओं की बारीकियों को समझाया। विश्वप्रसिद्ध फूड चेन मैकडोनाल्ड के सेन बर्नारडीनो स्थित मूल स्थान, जिसे अब म्यूजियम में बदल दिया गया है, का भी भ्रमण कर मैकडोनाल्ड के इतिहास एवं इसकी यात्रा को जाना। इसके अतिरिक्त वेंटेज एलईडी का भ्रमण कर वहां की कार्यप्रणाली को भी समझा। न्यू बिजनेस आईडिया प्रतियोगिता, जिसमें दक्षिण कोरिया, कोलंबिया और अमेरिका के विद्यार्थी भी प्रतिभाग कर रहे थे। इसमें जीएलए विश्वविद्यालय के विद्यार्थियों ने प्रथम स्थान प्राप्त किया।इसके मध्य ही वहां उपस्थित दूर-दराज से अतिथियों ने भी जीएलए विश्वविद्यालय, मथुरा की प्रगतियों के बारे में जाना। विश्वविद्यालय की प्रगति के बारे में विभागाध्यक्ष और विद्यार्थियों ने वहां उपस्थित अतिथियों विस्तार से गिनाया। विश्वविद्यालय की विशेष उपलब्धियों को विषय विशेषज्ञों द्वारा सराहा गया।

डाॅ. कुशाग्र कुलश्रेष्ठ एवं डाॅ. सुचेता अग्रवाल ने विभिन्न प्रतियोगिताओं में प्रतिभाग करते हुए दमदार प्रदर्शन के माध्यम से सभी का ध्यान अपनी ओर आकर्षित किया। अतिथि व्याख्यान के दौरान अपने अनुभव साझा करते हुए डाॅ. कुलश्रेष्ठ ने कहा कि इस कार्यक्रम के माध्यम से विदेशी संस्कृति, सभ्यता एवं शिक्षा पद्धति को समझने का मौका मिला। विद्यार्थियों को सफल उद्यमिता के गुर, लीडरशिप, स्टार्टअप से संबंधी विभिन्न पहलुओं की जानकारी उपलब्ध करायी गयी। साथ ही विपणन एवं वित्त प्रबंधन के विभिन्न पहलुओं की भी जानकारी दी गयी।

विभागीय शिक्षक प्रो. कन्हैया सिंह ने कहा कि अपने विद्यार्थियों के लिए गुणवत्ता युक्त शिक्षा के उद्देश्य को ध्यान में रखते हुए विश्वविद्यालय की ओर से निरंतर प्रयास किये जा रहे हैं और इस प्रकार के कार्यक्रम मील का पत्थर साबित होने वाले हैं। विश्वविद्यालय के कुलपति प्रो. आनंद मोहन अग्रवाल ने कार्यक्रम की सफलता पर हर्ष व्यक्त करते हुए सभी को बधाई दी। उन्होंने बताया कि कुछ समय पहले ही जीएलए विश्वविद्यालय के प्रबंधन संकाय द्वारा भी द्वि-दिवसीय अंतर्राष्ट्रीय कांफ्रेंस का आयोजन किया गया था, जिसमें देश-विदेश से कई शिक्षकों, शोधार्थियों ने भाग लिया था और इस दल का यह दौरा उसी की अगली कड़ी है।

स्वदेश मथुरा ( 0 )

Swadesh Digital contributor help bring you the latest article around you


Share it
Top