Home > अर्थव्यवस्था > आरबीआई के पास विदेशी मुद्रा भंडार बढ़ा

आरबीआई के पास विदेशी मुद्रा भंडार बढ़ा

आरबीआई के पास विदेशी मुद्रा भंडार बढ़ा

मुंबई। देश का विदेशी मुद्रा भंडार 1 मार्च 2019 तक 28,519.1 बिलियन यानी 401,776.7 मिलियन डॉलर के स्तर तक पहुंच गया है। आरबीआई की ओर से दी गई जानकारी में पता चला है कि एक मार्च 2019 को समाप्त सप्ताह में विदेशी मुद्रा भंडार में 92.0 बिलियन डॉलर या 2,559.5 मिलियन डॉलर की बढ़ोतरी दर्ज हुई है। मार्च 2018 में विदेशी मुद्रा भंडार 910.6 बिलियन डॉलर रहा था। मार्च तक विदेशी मुद्रा आस्तियां (फॉरेन एक्सचेंज असेट्स) के रूप में आरबीआई के पास 26,546.9 बिलियन डॉलर या 374,060.6 मिलियन डॉलर जमा थे, जबकि गोल्ड भंडार भी इस दौरान 1,655.5 बिलियन या 23,253.1 मिलियन डॉलर का हो गया था।

आरबीआई की ओर से बताया गया कि फरवरी महीने के आखिरी सप्ताह में विदेशी मुद्रा भंडार 94.47 करोड़ डॉलर बढ़कर 399.21 अरब डॉलर हो गया था। इस समीक्षाधीन सप्ताह में, विदेशी मुद्रा परिसंपत्तियां भी 2.06 अरब डॉलर बढ़कर 374.060 अरब डॉलर के स्तर पर पहुंच गई थी। देश का विदेशी मुद्रा भंडार पिछले साल 13 अप्रैल, 2018 को समाप्त सप्ताह में 426.028 अरब डॉलर के रिकॉर्ड उच्च स्तर पर पहुंच गया था। हालांकि इसके बाद से ही मुद्रा भंडार में काफी गिरावट आई है। इस सप्ताह के दौरान अंतरराष्ट्रीय मुद्रा कोष (आईएमएफ) के पास सुरक्षित विशेष निकासी अधिकार 30 लाख डॉलर बढ़कर 1.463 अरब डॉलर हो गया है। आईएमएफ में देश का आरक्षित भंडार भी 62 लाख डॉलर बढ़कर 2.999 अरब डॉलर हो गया है।

आरबीआई की ओर से मिली जानकारी के अनुसार, जनता के पास 31 मार्च 2018 तक जहां 17,597.10 बिलियन रकम बकाया थी, जो 15 फरवरी 2019 तक कुल 20,280.2 बिलियन डॉलर हो गई। इसके अलावा बैंकों के पास मांग जमाराशि 31 मार्च 2018 तक 14,837.1 बिलियन थी, जो 15 फरवरी 2019 में यह घटकर 14,012.7 बिलियन रह गई। बैंकों के पास मियादी जमा राशि पिछले साल 31 मार्च 2018 तक 106,952.6 बिलियन रही थी, तो 15 फरवरी 2019 को समाप्त पखवाड़े के दौरान यह रकम बढ़कर 114,846.1 बिलियन डॉलर हो गई। रिजर्व बैंक के पास अन्य जमाराशि के तहत 31 मार्च 2018 को जहां 239.1 बिलियन रकम उपलब्ध थी| 15 फरवरी 2019 तक आरबीआई के पास इस मद के तहत 262.0 बिलियन डॉलर रकम उपलब्ध थी।

आरबीआई ने बताया कि 31 मार्च 2018 तक सरकार को निवल बैंक ऋण 40,014.0 बिलियन डॉलर था, जबकि 15 फरवरी 2019 को यह बढ़कर 44,328.5 बिलियन डॉलर हो गया। इसके अलावा वाणिज्यिक क्षेत्र को बैंक ऋण के रूप में 31 मार्च 2018 को 92,137.2 बिलियन डॉलर दिया गया था, जबकि 15 फरवरी 2019 को यह बैंक ऋण बढ़कर 100,018.8 बिलियन डॉलर हो गई। अन्य बैंक को बैंक ऋण पिछले साल 91,996.9 बिलियन डॉलर दी गई थी, जबकि 15 फरवरी 2019 तक यह ऋण बढ़कर 99,938.1 बिलियन डॉलर हो गई।

Tags:    

Swadesh Digital ( 7036 )

स्वदेश वेब डेस्क www.swadeshnews.in


Share it
Top