Home > अर्थव्यवस्था > अब पीएफ अकाउंट की जानकारी एसएमएस के जरिए कर सकते हैं पता

अब पीएफ अकाउंट की जानकारी एसएमएस के जरिए कर सकते हैं पता

अब पीएफ अकाउंट की जानकारी एसएमएस के जरिए कर सकते हैं पता

नई दिल्ली। कर्मचारी भविष्य निधि संगठन के छह करोड़ से अधिक सदस्यों को वित्त वर्ष 2018-19 के लिए 8.65 प्रतिशत की दर से जल्द ब्याज पीएफ खातों में आने वाला है। श्रम मंत्री संतोष गंगवार ने कहा कि ईपीएफओ जल्द अपने 6 करोड़ सदस्यों के खातों में ब्याज को क्रेडिट करेगा और श्रम एवं रोजगार मंत्रालय ने इसे अधिसूचित कर दिया है। अब जल्द ही यह पैसा दिवाली से पहले ईपीएफ खाताधारकों के खातों में ट्रांसफर किए जाने की उम्मीद है। ऐसे में आप भी एक एसएमएस के जरिए पता कर सकते हैं।

भविष्य निधि निकासी दावों के तहत ईपीएफओ 2018-19 के लिए 8.65 प्रतिशत की दर से ब्याज का भुगतान कर रही है। वहीं, वित्त वर्ष 2017-18 के लिए ईपीएफ जमा पर 8.55 प्रतिशत की ब्याज दर से ब्याज दिया गया था। आप ये बैलेंस एक एसएमएस के जरिए भी जान सकते हैं।

एसएमएस के जरिए पता कर सकते हैं बैलेंस -

अगर आपका यूएएन नंबर ईपीएफओ के पास रजिस्टर्ड है तो आपके पीएफ के बैलेंस की जानकारी मैसेज के जरिए मिल जाएगी। इसके लिए आपको 7738299899 पर EPFOHO UAN ENG ( आखरी तीन अक्षर भाषा के लिए है।) लिखकर भेजना होगा। आपके पीएफ की जानकारी मैसेज के जरिए मिल जाएगी।

अगर आपको हिंदी भाषा में जानकारी चाहिए तो EPFOHO UAN HIN लिखकर भेजना होगा। पीएफ बैलेंस जानने की यह सेवा अंग्रेजी, पंजाबी, मराठी, हिंदी, कन्नड़, तेलगू, तमिल, मलयालम और बंगाली में मिल रही है। पीएफ बैलेंस के लिए जरूरी है कि आपका यूएएन, बैंक एकाउंट, पैन (PAN) और आधार (AADHAR) से लिंक्ड हो।

ईपीएफओ की वेबसाइट पर अपनी पासबुक पर बैलेंस चेक कर सकते हैं। पासबुक देखने के लिए यूएन नंबर होना जरूरी है।

मिस्ड कॉल के जरिए जानें बैलेंस - अपने रजिस्टर्ड मोबाइल नंबर से 011-22901406 पर मिस्ड कॉल दें। इसके बाद ईपीएफओ के संदेश के जरिए पीएफ की डिटेल मिल जाएगी। यहां भी आपका यूएएन, पैन और आधार लिंक होना जरूरी ही।

क्या होता है यूएएन नंबर- ईपीएफओ यूनिवर्सल अकाउंट नंबर (यूएएन) की सर्विस देता है जिसके जरिए खाता धारक अपने पीएफ अकाउंट बैलेंस देख सकते हैं। ये नंबर बैंक अकाउंट की तरह ही होता है।

Tags:    

Swadesh Digital ( 0 )

स्वदेश वेब डेस्क www.swadeshnews.in


Share it
Top