Home > देश > अब नये मोटर व्हीकल एक्ट के बाद लोगों में आया सुधार

अब नये मोटर व्हीकल एक्ट के बाद लोगों में आया सुधार

अब नये मोटर व्हीकल एक्ट के बाद लोगों में आया सुधार

दिल्ली। राजधानी दिल्ली में एक सितंबर 2019 से लागू हुए नए मोटर व्हीकल एक्ट को एक महीना पूरा हो गया है। इस एक महीने के दौरान राजधानी में वाहन चालकों के बीच काफी सुधार देखने को मिला है।

दिल्ली पुलिस के प्रवक्ता अनिल मित्तल ने बताया कि बीते एक सितम्बर से दिल्ली ट्रैफिक पुलिस नई चालान दर के अनुसार ही वाहनों का चालान कर रही है। इसका असर पूरी दिल्ली में देखने को मिल रहा है। चालान के डर से लोग अब ट्रैफिक नियमों का पालन करने लगे हैं, क्योंकि ऐसा नहीं करने पर उन्हें हजारों रुपयों का चालान भरना पड़ सकता है।

ट्रैफिक पुलिस के अनुसार सितंबर 2018 में राजधानी में कुल 5,24,819 चालान किए गए थे। वहीं सितंबर 2019 की बात करें तो कुल 1,73,921 चालान इस एक महीने में किए गए हैं। ट्रैफिक पुलिस का कहना है कि चालान में आई कमी की एक बड़ी वजह इसे कोर्ट को भेजना भी है। अभी पुलिस फिलहाल चालान की राशि नहीं ले सकती। इसके अलावा ट्रैफिक पुलिस लगातार नियमों का पालन करवाने के लिए काम कर रही है। इसकी वजह से भी काफी असर देखने को मिल रहा है।

ट्रैफिक पुलिस द्वारा जारी आंकड़ो पर गौर करे तो सबसे कम चालान शराब पीकर गाड़ी चालाने वाले लोगों का हुआ है। वर्ष 2018 की बात करे तो सितंबर माह तक शराब पीकर गाड़ी चालाने वाले 3682 लोगों का पुलिस ने चालान किया। जबकि इस वर्ष सितंबर माह तक यह आंकड़ा घटकर 1475 में आ गया है। इसी क्रम में पिछले वर्ष तेज रफ्तार से गाड़ी चालाने वाले करीब 13281 लोगों का पुलिस ने चालान किया। इस वर्ष 3366 लोगों का ही चालान हुआ। वहीं ट्रिपल राइडिंग की बात करे तो पिछले वर्ष यह आंकडा 15261 था जो इस वर्ष घटकर 1853 रह गया। नये नियाम के बाद सबसे ज्यादा लोगों ने हेल्मेट लगाये। पिछले वर्ष बिना हेल्मेट के करीब 104522 लोगों के चालान हुए। जबकि इस वर्ष सिर्फ 21154 लोगों का चालान हुआ। नए मोटर व्हीकल एक्ट के जारी होने के बाद इस वर्ष सबसे ज्यादा बिना लाइसेंस वालों के चालान हुए। पिछले वर्ष ट्रैफिक पुलिस ने 5120 लोगों के चालान किये। जबकि इस वर्ष 11529 लोगों के चालान हुए। वहीं गाड़ी के प्रदूशण कागजात की बात करे तो पिछले वर्ष ट्रैफिक पुलिस ने 3279 लोगों का चालान किया। जबकि इस वर्ष यह संख्या बढ़कर 13659 तक पहुंच गई। बिना सीट बेल्ट के लोगों का पिछले वर्ष 40065 चालान हुआ, जबकि इस वर्ष 6445 लोगों चालान हुआ।

ट्रैफिक पुलिस के मुताबिक एक महीने के दौरान सड़क हादसों में किस तरह की कमी आई है, या क्या असर पड़ा है इसका आंकलन किया जा रहा है। फिलहाल सभी सड़क हादसों को लेकर ट्रैफिक पुलिस जानकारी जुटा रही है ताकि ये साफ हो सके कि नए मोटर व्हीकल एक्ट का सड़क हादसों पर कितना असर पड़ा है।

Tags:    

Swadesh Digital ( 0 )

स्वदेश वेब डेस्क www.swadeshnews.in


Share it
Top