Home > राज्य > मध्यप्रदेश > भिंड > 57 साल बाद भिंड में खुलेगा प्रदेश का दूसरा सैनिक स्कूल

57 साल बाद भिंड में खुलेगा प्रदेश का दूसरा सैनिक स्कूल

57 साल बाद भिंड में खुलेगा प्रदेश का दूसरा सैनिक स्कूल

भोपाल/भिंड, निप्र। प्रदेश के भिण्ड जिले में प्रदेश का दूसरा और देश का 26 वां सैनिक स्कूल खोले जाने को लेकर तत्कालीन सरकार में शुरु हुई कवायद निष्कर्ष की ओर बढ़ती दिखाई देने लगी है। इस सम्बन्ध में विधानसभा में दिए आश्वासन को पूरा करने के लिए सरकार के सामान्य प्रशासन, सहकारिता एवं संसदीय कार्य मंत्री डॉ.गोविन्द सिंह ने केन्द्रीय रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह को पत्र लिखकर भिण्ड जिले के लिए स्वीकृत सैनिक स्कूल को अविलंब स्थापित किए जाने का आग्रह किया है। बता दें कि इससे पहले यह सैनिक स्कूल जिले की गोहद अनुभाग के भिण्ड-ग्वालियर राष्ट्रीय राजमार्ग क्रमांक 92 से सटे मालनपुर औद्योगिक क्षेत्र के मौजा लहचूरा में खोले जाने की कवायद चली थी। इसके लिए रक्षा मंत्रालय की एक टीम भी भूमि चयन की प्रक्रिया के लिए यहां आ चुकी है। बाद में इस टीम ने सैनिक स्कूल किराये के भवन में खोलने का प्रस्ताव दिया था। लेकिन भिंड से बसपा विधायक संजीव सिंह कुशवाह ने विधानसभा में सैनिक स्कूल भिंड मुख्यालय में खोले जाने की मांग रखी थी। हांलाकि प्रदेश के भिंड जिले के मालनपुर में प्रदेश के दूसरे सैनिक स्कूल का शुभारंभ लोकसभा चुनाव से पहले ही होना था। लेकिन स्थानीय स्तर पर इसको लेकर मतैक्य न होने के चलते यह प्रक्रिया अधर में लटक गई थी। प्रदेश में पहला सैनिक स्कूल रीवा में 57 साल पहले 1962 में खोला गया था।

मंत्री ने कहा था, भिंड में ही खुलेगा सैनिक स्कूल

विधानसभा सत्र के दौरान कमलनाथ सरकार के सामान्य प्रशासन, सहकारिता एवं संसदीय कार्य मंत्री डॉ.गोविन्द सिंह ने विधायक के सवालों का जवाब देते हुए आश्वासन दिया था, कि सैनिक स्कूल भिंड में खुलेगा। विधानसभा में मंत्री के आश्वासन के बाद भिण्ड के लोगों की उम्मीद जाग गई थी कि सैनिक स्कूल भिंड मुख्यालय पर खुलेगा। विधायक के सवालों के जवाब में सामान्य प्रशासन मंत्री डॉ.गोविंद सिंह ने कहा था कि तत्कालीन मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान की घोषणा का सम्मान करता हूं। सैनिक स्कूल की घोषणा भिंड की है, तो सैनिक स्कूल भिंड में ही बनेगा। उन्होंने कहा था, कि भिंड वीरों की भूमि है। सबसे ज्यादा भिंड-मुरैना के नौजवान सेना में सेवाएं दे रहे हैं। उन्होंने कहा था कि प्रदेश को भी कुछ देना होगा। हम भी पहल करेंगे। मंत्री सिंह ने कहा था कि रक्षा मंत्री निर्मला सीतारमण (तत्कालीन) ने कहा था, सैनिक स्कूल बनाने के लिए 100 करोड़ रुपए देंगे। उन्होंने कहा जिस दिन राशि आ जाएगी भवन बना देंगे। मालनपुर में स्कूल खोलने की बात पर मंत्री ने कहा था कि अभी मप्र प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड की रिपोर्ट भी नहीं मिली है। अब विधानसभा में दिए आश्वासन को पूरा करने के लिए मंत्री डॉ. गोविन्द सिंह ने केन्द्रीय रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह को बीती 16 अक्टूबर 2019 को पत्र लिख कर भिंड जिले के लिए स्वीकृत सैनिक स्कूल भिण्ड मुख्यालय पर खोले जाने का आग्रह किया है। जिसके जबाव में केन्द्रीय रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने लिखा है कि वह इस मामले में परीक्षण कराकर यथोचित कार्यवाही करेंगे।

शिवराज सिंह चौहान ने किया था ऐलान

विधानसभा में भिंड से बसपा विधायक संजीव सिंह कुशवाह ने तर्क दिया था कि 27 फरवरी 2016 को तत्कालीन मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने भिंड में सैनिक स्कूल खोलने की घोषणा की थी। भिंड के तत्कालीन जिलाधीश ने 23 फरवरी 2017 को डिडी गांव में सैनिक स्कूल के लिए 22 हेक्टेयर जमीन आवंटित की। इसके बाद सैनिक स्कूल मालनपुर में खोलने की तैयारी शुरू कर दी गई। रक्षा मंत्रालय भारत सरकार ने 3 अक्टूबर 2018 को पत्र भेजा कि मालनपुर में सैनिक स्कूल शुरू किया जाए। विधायक ने कहा ऐसा क्यों हुआ। आखिर कहां बनेगा सैनिक स्कूल?

किराए पर भिंड में सैनिक स्कूल क्यों नहीं ?

विधायक संजीव सिंह ने सवाल किया कि 3 अक्टूबर को रक्षा मंत्रालय से जो पत्र आया है, उसमें लिखा है कि किराए पर भवन लेकर स्कूल संचालित किया जाए। उन्होंने कहा कि किराए पर भिंड में सैनिक स्कूल क्यों नहीं खोला जाना चाहिए। उन्होंने कहा कि भिंड में शासकीय स्कूल की इमारत है, जहां सैनिक स्कूल संचालित किया जा सकता है। यहां बता दें बीती 12 फरवरी को सैनिक स्कूल बोर्ड से ग्रुप कैप्टन रवि कुमार ने सैनिक स्कूल खोलने के लिए प्रशासन के साथ मालनपुर में विजिट की थी।

Tags:    

Swadesh News ( 0 )

Swadesh Digital contributor help bring you the latest article around you


Share it
Top