Home > Archived > भारत- वियतनाम के बीच 2000 सालों से पुराना सभ्यातागत संबंध

भारत- वियतनाम के बीच 2000 सालों से पुराना सभ्यातागत संबंध

भारत- वियतनाम के बीच 2000 सालों से पुराना सभ्यातागत संबंध

नई दिल्ली। भारत और वियतनाम के बीच 2000 सालों से पुराने सभ्यातागत संबंध हैं। बौद्ध धर्म, हिन्दू चम्पा सभ्यता और हमारे साझा दर्शन ने हमारे समान रिश्तों को सुदृढ़ बनाया है। हमारे आर्थिक संबंधों में उल्लेखनीय वृद्धि हुई है। हमारे नेताओं ने 2020 तक 15 बिलियन डॉलर का व्यापार लक्ष्य निर्धारित किया है। हमें इस लक्ष्य तक पहुंचने के लिए अपने प्रयासों में दोगुनी तेजी लानी होगी। वियतनाम के राष्ट्रपति का भारत में स्वागत करते हुए राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने वियतनाम को जनवरी 2018 में नई दिल्ली में आयोजित आसियान भारत स्मारक शिखर सम्मेलन में ठोस परिणाम सुनिश्चित करने में एक समन्वयक देश की भूमिका निभाने के लिए धन्यवाद दिया।

राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने शनिवार को राष्ट्रपति भवन में वियतनाम के राष्ट्रपति ट्रान डई कुआंग की मेजबानी की। राष्ट्रपति कोविंद ने मेहमान राष्ट्रपति के सम्मान में भोज का आयोजन किया। राष्ट्रपति ने कहा कि भारत और वियतनाम के बीच भारत-प्रशांत क्षेत्र में शांति, स्थिरता और सुरक्षा पर समान दृष्टिकोण हैं। राष्ट्रपति ने कहा कि हमारे स्वाधीनता संग्राम के नेता महात्मा गांधी और राष्ट्रपति हो ची मिन्ह आधुनिक युग में हमारे संबंधों में नई ऊर्जा का संचार कर रहे हैं। हमारा दृढ़ विश्वास है कि भारत और वियतनाम के बीच एक मजबूत साझेदारी हमारे लोगों के लिए तथा व्यापक क्षेत्र के लिए शांति और समृद्धि का रास्ता प्रशस्त करेगी।

Share it
Top