Home > Archived > लटकाना, अटकाना, भटकाना पुरानी सरकारों का स्वभाव

लटकाना, अटकाना, भटकाना पुरानी सरकारों का स्वभाव

लटकाना, अटकाना, भटकाना पुरानी सरकारों का स्वभाव

प्रधानमंत्री ने रखी नवी मुंबई में अंतर्राष्ट्रीय हवाई अड्डे की आधार शिला


मुंबई, स्व.स.से.। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने रविवार को महाराष्ट्र के नवी मुंबई में अंतरराष्ट्रीय हवाई अड्डे की आधारशिला रखी। इस दौरान प्रधानमंत्री मोदी पूर्व की सरकारों पर बरसे। हालांकि उन्होंने बहुचर्चित पीएनबी घोटाले पर कुछ नहीं कहा। देश में लंबित पड़ीं परियोजनाओं का जिक्र कर मोदी ने कहा कि पुरानी सरकारों का स्वभाव था लटकाना, अटकाना और भटकाना। मोदी ने कहा कि करीब-करीब 10 लाख करोड़ की परियोजनाएं लटकी-अटकी और भटकी हुई थीं। इन परियोजनाओं को हमने कार्यान्वित किया, धन का प्रबंध किया और आज तेज गति से इन पर काम चल रहा है। नवी मुंबई हवाई अड्डे का काम भी इसी का हिस्सा है। इस मौके पर प्रधानमंत्री ने उभरती अर्थव्यवस्था में उड्डयन सेक्टर के महत्व को रेखांकित किया और कहा कि पिछले एक साल में 900 हवाई जहाजों के आॅर्डर दिये गये हैं। आज हमारे देश में लगभग 450 विमान संचालन में हैं, इसमें सरकारी और निजी विमान भी शामिल हैं। उन्होंने कहा उड्डयन क्षेत्र भी अपने साथ रोजगार के ज्यादा मौके लाता है। प्रधानमंत्री मोदी ने हवाई यात्रा के लिए बढ़ती मांग को पूरा करने के लिये उड्डयन का आधारभूत ढांचा बढ़ाने की आवश्यकता पर बल दिया।

21 साल पुरानी परियोजना

बता दें कि नवी मुंबई अंतरराष्ट्रीय हवाई अड्डा 21 साल पुरानी परियोजना है। इसकी योजना 1997 में बनाई गई थी। तब इस परियोजना की निवेश लागत 3 हजार करोड़ थी। इसे मुंबई शहर की बढ़ती जरूरतों को पूरा करने के लिए बनाया जाना था। लेकिन, फंड, राजनीतिक इच्छाशक्ति की कमी, पर्यावरण से जुड़े मुद्दे की वजह से परियोजना में लगातार देरी होती चली गई। इस समय इस परियोजना की लागत बढ़कर 16 हजार 700 करोड़ हो गई है। इसे सिटी इंडस्ट्रियल डेवलपमेंट कॉरपोरेशन और जीवीके ग्रुप मिल कर बना रहा है।

Share it
Top