Home > Archived > रेत माफियाओं के विरुद्ध वैधानिक कार्रवाई नहीं की तो करेंगे सत्याग्रह

रेत माफियाओं के विरुद्ध वैधानिक कार्रवाई नहीं की तो करेंगे सत्याग्रह

रेत माफियाओं के विरुद्ध वैधानिक कार्रवाई नहीं की तो करेंगे सत्याग्रह

लहार विधायक डॉ. गोविन्द सिंह ने जिलाधीश को खुला पत्र लिखकर दी चेतावनी-

भिण्ड, ब्यूरो। लहार विधायक डॉ. गोविन्द सिंह ने जिलाधीश भिण्ड को खुला पत्र लिखते हुए चेतावनी दी है कि वे जिले के जिलाधीश होने के नाते अपने कर्तव्य का पालन कर रेत अवैध उत्खनन के मामले में कठोर कदम उठाते हुए दोषियों के विरुद्ध वैधानिक कार्रवाई करें। यदि उनके द्वारा अपने कर्तव्यों का पालन नहीं किया गया तो वे जिला प्रशासन की अयोग्यता को जिले एवं प्रदेश में उजागर करने के लिए महात्मा गांधी के बताए मार्ग पर चलकर सत्याग्रह करेंगे।

डॉ. सिंह ने कहा है कि जिलाधीश को जिले की कमान सम्हाले लगभग दो वर्ष हो चुके हैं। जिले में ईमानदार एवं कर्तव्यनिष्ठ अधिकारी की छवि बनाकर नकल माफियाओं पर अंकुश लगाने की अच्छी कोशिश की है। जिसके चलते कई मुद्दों पर हस्तक्षेप भी नहीं किया। लेकिन जिले में लगातार रेत माफियाओं द्वारा गोली चलाकर, ट्रकों से कुचल कर एक वर्ष में सौ से अधिक निर्दोष व्यक्तियों की हत्याएं की गई हैं तथा अनेक व्यक्तियों पर प्राणघातक हमले हुए है। रेत माफियाओं के हौंसले इतने बुलंद है कि वन, राजस्व, परिवहन तथा पुलिस विभाग के अधिकारियों पर आए दिन हमले हो रहे हैं। जसवीर सिंह हवलदार थाना रावतपुरा, अवधेश सिंह यादव छजूपुरा, रामनरेश सिंह भारौलीकलां की हत्याएं के साथ तमाम व्यक्तियों पर ट्रक चढ़ाकर जान से मारने की घटनाएं उजागर हुई हैं। 10 फरवरी 18 को ग्राम सडा थाना भारौली के पास ओव्हरलोड रेत से भरे ट्रक ने दो नवयुवकों शिवेन्द्र सिंह 20 वर्ष, हवलदार सिंह 23 वर्ष निवासी ग्राम मेवली को कुचलकर मार डाला।

आप भिण्ड जिले के जिला दण्डाधिकरी हैं। लगातार जिले में कानून व्यवस्था बिगड़ती जा रही है। आपका दायित्व जिले की कानून व्यवस्था बनाकर आम नागरिकों की सुरक्षा की जबावदारी है। परंतु आप मूकदर्शक, तमाशवीन बने हैं। भिण्ड जिले की 17 लाख से अधिक नागरिकों की जीवन रक्षा की जिम्मेदारी न निभाकर आप केवल जिला चिकित्सालय एवं उत्कृष्ट उमावि भिण्ड को खूबसूरत बनाने को ही अपना कर्तव्य मान बैठे हैं। क्या आपको नहीं पता कि आपके अधीन कार्यरत राजस्व, खनिज एवं परिवहन विभाग के अधिकारी रेत माफियाओं से मिलकर भारी पैमाने पर ओवरलोड वाहनों से अवैध उत्खनन कर प्रतिदिन भिण्ड जिले की जीवनदायिनी सिंध नदी की छाती को छलनी कर लाखों रुपए की खुलेआम लूट कर रहे हैं।

पिछले 100 वर्षों में भिण्ड जिले को दस्युओं द्वारा जितना नहीं लूटा गया। उससे 50 गुना से अधिक भिण्ड जिले की खनिज संपत्ति आपके दो वर्ष के कार्यकाल में रेत, पत्थर माफियाओं ने राजस्व, खनिज, पुलिस तथा परिवहन विभाग के अधिकारियों से सांठ-गांठ कर लूट लिया। अगर अब भी मैं इस अन्याय के खिलाफ नहीं बोला तो वेमौत मौत के घाट उतार दिए गए लोगों की आत्मा तथा जिले की गरीब जनता मुझे इस भ्रष्टाचार में सहयोगी मानकर माफ नहीं करेगी। अत: मैं आपसे अपील करता हूं कि आप निष्पक्ष होकर जिले के जिलाधीश होने के नाते कर्तव्य का पालन कर कठोरता से कदम उठाते हुए दोषियों के विरुद्ध वैधानिक कार्रवाई करें। वरना अब मुझे मजबूर होकर महात्मा गांधी जी के बताए गए मार्ग पर चलकर सत्याग्रह कर जिला प्रशासन की अक्षमता और अयोग्यता को जिले एवं प्रदेश की जनता के सामने उजागर करूंगा।


Share it
Top