Home > Archived > अमेरिका ने पाकिस्तान और ईरान के मसले पर सुरक्षा परिषद का दरवाजा खटखटाया

अमेरिका ने पाकिस्तान और ईरान के मसले पर सुरक्षा परिषद का दरवाजा खटखटाया

अमेरिका ने पाकिस्तान और ईरान के मसले पर सुरक्षा परिषद का दरवाजा खटखटाया

न्यूयार्क। संयुक्त राष्ट्र में अमेरिकी राजदूत निकी हेले ने मंगलवार को पाकिस्तान में आतंकवादियों के संरक्षण और ईरान में जनआंदोलन के मुद्दे पर सुरक्षा परिषद की आपातकालीन बैठक बुलाए जाने की मांग की है। उन्होंने ईरान में सरकार की दमनकारी कारवाई को लेकर जेनेवा में मानवाधिकार आयोग की बैठक बुलाए जाने पर भी ज़ोर दिया है।


हेले ने पत्रकारों से बातचीत में कहा कि आतंकवाद के ख़िलाफ साझी लड़ाई के नाम पर पाकिस्तान दोहरा मानदंड अपना रहा है। इसलिए उसे 25.5 करोड़ डॉलर अर्थात करीब 1650 करोड़ रुपए की आर्थिक मदद नहीं दी जा सकती है। उन्होंने कहा कि पाकिस्तान आतंकादियों की शरणस्थली बना हुआ है।

उधर, ईरान में बेरोज़गारी और महंगाई आदि मुद्दों को लेकर प्रदर्शनकारियों के खिलाफ सरकार की दमनकारी कारवाई के कारण पिछले सात दिनों में 22 लोगों की जानें जा चुकी है, जबकि 450 लोगों को गिरफ़्तार किया जा चुका है।

इस संदर्भ में निकी हेले ने कहा कि सुरक्षा परिषद की बैठक में अन्यान्य देशों की आवाज़ सुने जाने की ज़रूरत है। उन्होंने ईरान के आयातुल्ला खुमैनी के आरोपों को बेबुनियाद बताते हुए कहा कि जनांदोलन को अंतर राष्ट्रीय ताक़तों का समर्थन है।

Share it
Top