Home > Archived > कल मुंबई और पुणे के बीच भिड़ंत, ये खिलाड़ी होगा कप्तान

कल मुंबई और पुणे के बीच भिड़ंत, ये खिलाड़ी होगा कप्तान

कल मुंबई और पुणे के बीच भिड़ंत, ये खिलाड़ी होगा कप्तान

पुणे| कई धुरंधर खिलाडियों से सजी राइजिंग पुणे सुपरजाइंट्स की टीम पिछले साल के लचर प्रदर्शन को भुलाकर इंडियन प्रीमियर लीग के दसवें सत्र के अपने पहले मैच में कल यहां शुरू में लड़खड़ाने के लिये मशहूर मुंबई इंडियन्स के खिलाफ सकारात्मक परिणाम हासिल करने के लिये मैदान पर उतरेगी।

मुंबई के लिये शुरू में जीत की लय हासिल करना आसान नहीं रहा है और रोहित शर्मा की अगुवाई वाली टीम इस बार यह मिथक तोड़ने की कोशिश करेगी लेकिन पुणे के सामने उसके लिये अनुकूल शुरुआत करना मुश्किल होगा जिसके पास कप्तान स्टीवन स्मिथ सहित कई स्टार खिलाड़ी हैं। पुणे सुपरजाइंट्स ने पिछली बार मुंबई को उसके घरेलू मैदान पर पहले मैच में नौ विकेट से हराकर शानदार शुरुआत की थी लेकिन इसके बाद वह चोटिल खिलाडियों से जूझती रही और आठ टीमों के बीच सातवें स्थान पर रही थी।

मुंबई ने लीग चरण में बाद में लय पकडी लेकिन तब तक देर हो चुकी थी और आखिर में उसे पांचवें स्थान से संतोष करना पड़ा था। इस बार पुणे सुपरजाइंट्स अपने घरेलू मैदान पर शुरुआत करेगा जहां पिछली बार उसने चार मैच खेले हैं और इन सभी में उसे हार का सामना करना पड़ा था। स्मिथ और उनके साथी खिलाड़ी सुनिश्चित करना चाहेंगे कि इस बार टीम ऐसी कोई गलती नहीं करे जिससे घरेलू दर्शकों को निराश होना पड़े।

सुपरजाइंट्स की टीम काफी संतुलित दिख रही है. उसके पास स्मिथ, फाफ डुप्लेसिस और अंजिक्य रहाणे के रुप में बेहतरीन फार्म में चल रहे तीन जबर्दस्त बल्लेबाज हैं। महेंद्र सिंह धौनी के रुप में उसके पास दुनिया का सर्वश्रेष्ठ फिनिशर है जो कप्तानी से मुक्त होने के बाद स्वच्छंद होकर मैदान पर उतरेंगे। पुणे ने सर्वश्रेष्ठ ऑलराउंडरों में से एक बेन स्टोक्स को अपनी टीम से जोडा है। इस साल नीलामी में सबसे मोटी रकम में खरीदे गये इंग्लैंड के इस खिलाड़ी पर सभी की निगाहें टिकी रहेंगी।

रविचंद्रन अश्विन के बाहर हो जाने से पुणे की गेंदबाजी जरुर कमजोर पडी है। उसने आईसीसी टी20 रैंकिंग में नंबर एक गेंदबाज इमरान ताहिर को अपनी टीम से जोड़ा है लेकिन अश्विन जैसे कुशल आफ स्पिनर और निचले क्रम के उपयोगी बल्लेबाज की टीम को जरुर कमी खलेगी। अशोक डिंडा, डेनियल क्रिस्टियन और शार्दुल ठाकुर पुणे के तेज गेंदबाजी विभाग को संभालेंगे। स्मिथ अनुभवी आलराउंडर रजत भाटिया का कैसे उपयोग करते हैं यह देखना दिलचस्प होगा. अगर मुंबई की बात करें तो पिछले तीन सत्र में उसकी शुरुआत अच्छी नहीं रही थी।

आईपीएल 2016 में तो उसे अपने पहले पांच मैचों में हार झेलनी पड़ी थी। इससे पहले 2015 में उसने शुरुआती पांच में से चार मैच गंवाये थे लेकिन बाद में अच्छा प्रदर्शन करने के कारण वह चैंपियन बना था लेकिन हर बार ऐसा होगा यह जरुरी नहीं है और रोहित शर्मा इसे अच्छी तरह से समझते होंगे। मुंबई का गेंदबाजी आक्रमण मजबूत नजर आता है लेकिन बल्लेबाजी में उसके खिलाडियों की मैच अभ्यास की कमी और खराब फार्म टीम के लिये परेशानी का सबब बन सकती है।

Share it
Top