Home > Archived > ताज महोत्सव में इस बार नहीं आ रही भीड़

ताज महोत्सव में इस बार नहीं आ रही भीड़

आगरा। ताज महोत्सव में इस बार पिछले वर्ष की तरह भीड़ नहीं उमड़ रही। दर्शक दीर्घा में हर शाम प्रस्तुतियों के दरम्यान सन्नाटा पसरा रहता है। सात दिन में पिछले वर्ष की अपेक्षा काफी कम टिकट बिक्री हुई है। इसकी वजह युवाओं का परीक्षा में व्यस्त होना है। महोत्सव में टिकट बिक्री से होने वाली आय पिछले वर्ष के बराबर पहुंचने की उम्मीद न के बराबर है।

ताज महोत्सव का आयोजन शिल्पग्राम में 18 से 27 फरवरी तक होता है। इस बार उप्र विधानसभा चुनाव के चलते ताज महोत्सव एक माह विलंब से 18 मार्च को शुरू हुआ। यह 27 मार्च तक चलेगा। इस समय बोर्ड और ग्रेजुएशन की परीक्षाएं चल रही हैं, जिससे युवाओं को फुरसत नहीं है। महोत्सव में वह बहुत कम जा रहे हैं। इसका असर महोत्सव आयोजन समिति को टिकट बिक्री से होने वाली आय पर पड़ा है। बड़े कलाकारों के अभाव और विलंब से आयोजन भी दर्शकों की संख्या कम रहने के प्रमुख कारण हैं। शुरुआती सात दिनों में इस बार 17.95 लाख रुपये के टिकट ही बिके हैं। पिछले आयोजन में सात दिन में 24.11 लाख रुपये के टिकट बिके थे।

महोत्सव में रविवार को हमेशा भीड़ उमड़ती रही है। पिछले वर्ष फरवरी में हुए महोत्सव में तीसरे दिन रविवार पडऩे पर रिकॉर्ड भीड़ उमड़ी थी। तब 7.58 लाख रुपये के टिकट बिके थे। इस बार दूसरे दिन ही रविवार था, लेकिन 3.23 लाख रुपये के टिकट ही बिक सके। यह पिछले वर्ष के आधे से भी कम रहा है।

Share it
Top