Home > Archived > टॉर्च की रोशनी में किए आंखों के आॅपरेशन, सीएमओ पर गिरी गाज

टॉर्च की रोशनी में किए आंखों के आॅपरेशन, सीएमओ पर गिरी गाज

टॉर्च की रोशनी में किए आंखों के आॅपरेशन, सीएमओ पर गिरी गाज

उन्नाव। उत्तर प्रदेश के उन्नाव स्थित नवाबगंज सीएचसी में लगे नेत्र शिविर में अव्यवस्था का ‘अंधेरा’ छाया रहा। बिना बिजली और बेड के मोतियाबिंद के आॅपरेशन टार्च की रोशनी में किए गए और मरीजों को जमीन पर लिटा दिया गया। छह मरीजों को इंफेक्शन हो गया। सोमवार को संयुक्त निदेशक स्वास्थ्य और एसडीएम हसनगंज मामले की जांच करने पहुंचे तो इससे पहले शिविर का आयोजन कराने वाला एनजीओ बैनर व बिस्तर समेट कर सीएचसी से निकल गया। जांच चल रही थी कि इसी बीच शासन ने नवाबगंज सीएचसी प्रभारी को निलंबित करने के साथ सीएमओ को इस लापरवाही के लिए हटाने का आदेश जारी कर दिया।ा। समिति के प्रबंधक और सीएचसी प्रभारी के अनुसार, शाम को डॉ. नूतन सक्सेना ने टीम संग आॅपरेशन शुरू किया। पूरी प्रक्रिया शुरू से अव्यवस्था से घिरी रही। ओटी के भीतर बिजली का बंदोबस्त न होने से आॅपरेशन टार्च की रोशनी में किए गए। आॅपरेशन के बाद रोगी को वहीं गैलरी में जमीन पर लिटा दिया गया। छह रोगियों को इंफेक्शन हो गया तो तीमारदारों ने हंगामा कर दिया। घटना चर्चा में आई तो संयुक्त निदेशक स्वास्थ्य डॉ. अवधेश कुमार यादव सीएचसी नवाबगंज पहुंचे। डीएम ने भी एसडीएम मनीष बंसल की अगुवाई में सीएमओ डॉ. राजेंद्र प्रसाद और अंधता निवारण समिति प्रभारी यूसी सक्सेना को जांच के लिए भेजा। दोनों टीमों की जांच के बीच में ही शासन ने कार्रवाई करते हुए सीएचसी प्रभारी डा. देवेश दास को निलंबित कर दिया और सीएमओ डा. राजेंद्र प्रसाद को पद से हटा दिया। जांच टीम ने सीएचसी प्रभारी समेत अन्य स्टाफ के बयान आदि दर्ज किए।

Share it
Top