Home > Archived > लगातार तीसरे सप्ताह फीकी पड़ी सोने-चांदी की चमक

लगातार तीसरे सप्ताह फीकी पड़ी सोने-चांदी की चमक

लगातार तीसरे सप्ताह फीकी पड़ी सोने-चांदी की चमक

नई दिल्ली। वैश्विक स्तर दोनों कीमती धातुओं में रही गिरावट के बीच घरेलू बाजार में जेवराती मांग की सुस्ती से दिल्ली सरार्फा बाजार में सोने-चांदी के भाव लगातार तीसरे सप्ताह लुढक गए। खुदरा जेवराती मांग घटने से सोना गत सप्ताह 150 रुपए टूटकर 30,200 रुपए प्रति दस ग्राम और सिक्का निमार्ताओं के उठाव में आई कमी से चांदी 200 रुपए फिसलकर 40,000 रुपए प्रति किलोग्राम पर आ गई। अंतरराष्ट्रीय बाजार में इस सप्ताहांत शुक्रवार को लंदन हाजिर 5.10 डॉलर की साप्ताहिक गिरावट के साथ 1,267.95 डॉलर प्रति औंस पर बंद हुई। अमेरिका का सोना वायदा भी 4.40 डॉलर की गिरावट में 1,270.20 डॉलर प्रति औंस बोला गया। चांदी हाजिर में 0.03 डॉलर की गिरावट रही और यह 16.78 डॉलर प्रति औंस पर रही। कारोबारियों का कहना है कि इस बार दिवाली और धनतेसर के त्योहार के दौरान भी सोने की मांग सुस्त रही जिसके कारण सरार्फा कारोबारियों की उम्मीदें वैवाहिक मौसम से बंधी हैं। गत सप्ताह के दौरान सोना स्टैंडर्ड 150 रुपए फिसलकर सप्ताहांत पर 30,200 रुपए प्रति दस ग्राम पर आ गया। सोना बिटुर भी इतनी ही गिरावट में 30,050 रुपए प्रति दस ग्राम के भाव बिका। आठ ग्राम वाली गिन्नी पूरे सप्ताह 24,700 रुपए पर टिकी रही। सिक्का निमार्ताओं की ग्राहकी कमजोर पड?े से सप्ताह के दौरान चांदी हाजिर के भाव 200 रुपए लुढककर 40,200 रुपए प्रति किलोग्राम रहे। चांदी वायदा भी 100 रुपए की साप्ताहिक गिरावट में 39,050 रुपए प्रति दस ग्राम बोली गई। सिक्कों की खनक भी कमजोर पड़ गई है। सिक्का लिवाली तथा बिकवाली 1,000-1,000 रुपए कमजोर पडकर 73 हजार और 74 हजार रुपए प्रति सैकड़ा पर आ गए। कारोबारियों का कहना है कि अगले सप्ताह भी सोने पर वैवाहिक मौसम की मांग तथा वैश्विक परिदृश्य पर प्रभाव रहेगा। बाजार विश्लेषकों का कहना है कि दुनिया की अन्य प्रमुख मुद्राओं की तुलना में डॉलर में रही तेजी और अमेरिका के सकारात्मक रोजगार आंकड़ों से पीली धातु पर दबाव बढ़ गया है। घरेलू स्तर पर खुदरा जेवराती मांग सुस्त है जिससे सोने के भाव लुढके हैं।

Share it
Top