Top
Latest News
Home > Archived > टीपू सुल्तान जयंती : कर्नाटक में ट्रांसपोर्ट की बस पर हुई पत्थरबाजी, कोडगु में धारा 144

टीपू सुल्तान जयंती : कर्नाटक में ट्रांसपोर्ट की बस पर हुई पत्थरबाजी, कोडगु में धारा 144

टीपू सुल्तान जयंती : कर्नाटक में ट्रांसपोर्ट की बस पर हुई पत्थरबाजी, कोडगु में धारा 144

कर्नाटक। कर्नाटक सरकार आज टीपू सुल्तान जयंती मना रही है। इस मौके पर किसी भी अप्रिय घटना से बचने के लिए पूरे राज्य में सुरक्षा के कडे इंतजाम किए गए हैं। वहीं इसका विरोध भी शुरू हो गया है। टीपू जयंती समारोह के दौरान मदिकेरी में कर्नाटक स्टेट रोड ट्रांसपोर्ट की बस पर पत्थर फेंके गए। वहीं कोडगु में धारा 144 लागू कर दी गई है लेकिन इसके बावजूद विरोध प्रदर्शन हो रहा है। हांलांकि बस पर हुई पत्थरबाजी में किसी के घायल होने की कोई खबर नहीं है।

विदित है कि पिछले दिनों केन्द्रीय राज्यमंत्री अनंत कुमार हेगडे ने कर्नाटक सरकर के टीपू जयंती मनाने के फैसले की कडी निंदा की थी। उन्होंने टीपू सुल्तान को बलात्कारी और हत्यारा बताया था। इससे पहले भी टीपू सुल्तान जयंती मनाने को लेकर विवाद हो चुका है।

हम आपको बता दे कि वहीं टीपू जयंती समारोह के आयोजन को रोकने के लिए कर्नाटक हाईकोर्ट में एक अंतरिम याचिका भी लगाई गई थी लेकिन कोर्ट ने उसे खारिज कर दिया था। साथ ही कोर्ट ने राज्य सरकार को निर्देश दिए थे कि वह चार सप्ताह में याचिकाकर्ता की अपील के खिलाफ आपत्ति दर्ज कराए। टीपू सुल्तान 18वीं सदी के शासक थे। ज्ञातव्य है कि टीपू सुल्तान की छवि इतिहास में तो अच्छी बताई गई है। टीपू सुल्तान को भारत के इतिहास में एक बहादुर और धर्म निरपेक्ष बताया गया है। टीपू सुल्तान ने 18वीं सदी में अंग्रेजी हुकूमत से लौहा लिया था।

गौरतलब है कि टीपू सुल्तान को इतिहास में धर्म निरपेक्ष शासक बताया गया है। टीपू सुल्तान के वजीर हिंदू धर्म से थे। अब हिंदू नेता टीपू सुल्तान की छवी को लेकर सवाल उठा रहे हैं। हिंदू नेता हेगडे टीपू सुल्तान को हिंदूओ का दुश्मन बताते हैं। कहा जा रहा है कि टीपू सुल्तान ने अपने शासनकाल में लगभग 800 मंदिर तुडवाए थे।

Next Story
Share it
Top