Home > Archived > कुलपति ने वित्त नियंत्रक से मांगा स्पष्टीकरण

कुलपति ने वित्त नियंत्रक से मांगा स्पष्टीकरण

कुलपति ने वित्त नियंत्रक से मांगा स्पष्टीकरण

-मामला सर्विस प्रोवाइडरों का
ग्वालियर। जीवाजी विश्वविद्यालय के कार्यपरिषद् सदस्य ने बिना स्वीकृति के तीन सर्विस प्रोवाइडरों का भुगतान ठेकेदार के माध्यम से लेने के मामले में कुलपति से शिकायत की है। जिस पर कुलपति ने शिकायत का हवाला देते हुए वित्त नियंत्रक को नोटिस जारी करते हुए स्पष्टीकरण मांगा है, साथ ही मैसर्स शर्मा सिक्युरिटी सर्विसेज के ठेकेदार से ठेके पर काम कर रहे कर्मचारियों की जानकारी तलब की है। जीवाजी विवि के कार्यपरिषद सदस्य हुकुम सिंह यादव ने विवि के वित्त नियंत्रक महक सिंह द्वारा तीन कर्मचारियों का भुगतान ठेकेदार के माध्यम से लिए जाने के मामले में कुलपति प्रो. संगीता शुक्ला को पत्र लिखकर पूछा है कि क्या वित्त नियंत्रक को कर्मचारी रखने की पात्रता है, और अगर है तो वह कितने कर्मचारी रख सकते हैं। उन्होंने यह भी कहा कि वित्त नियंत्रक को कर्मचारी रखने की स्वीकृति किसके द्वारा दी गई है, अगर उन्हें कर्मचारी रखने की स्वीकृति नहीं है और उसके बाद भी वह कर्मचारियों का भुगतान ले रहे हैं, तो यह अपराध की श्रेणी में आता है। इसके चलते गुरूवार को कुलपति प्रो. संगीता शुक्ला ने कार्यपरिषद् की शिकायत का हवाला देते हुए वित्त नियंत्रक को नोटिस जारी किया है। जिसमें उन्होंने वित्त नियंत्रक से तीन कर्मचारियों का भुगतान लेने के मामले में जवाब मांगा है।, इसके साथ ही उन्होंने सर्विस प्रोवाइडर प्रदाता एजेंसी को भी नोटिस जारी कर विवि में ठेके पर काम कर रहे कर्मचारियों की जानकारी मांगी है। उल्लेखनीय है कि विगत दिवस ही वित्त नियंत्रक ने सर्विस प्रोवाइडरों के कर्मचारियों को अनर्गल भुगतान करने की शिकायत को लेकर कुलपति को एक पत्र लिखा था।

Share it
Top