Home > Archived > तीन दिन में नौ बुजुर्गो ने ली रामलाल वृद्धाश्रम में शरण

तीन दिन में नौ बुजुर्गो ने ली रामलाल वृद्धाश्रम में शरण

तीन दिन में नौ बुजुर्गो ने ली रामलाल वृद्धाश्रम में शरण


आगरा। रामलाल आश्रम कैलाश मंदिर सिकंदरा पर पिछले 3 दिन में 9 बुजुर्ग अपनों से प्रतारित होकर आए है। आश्रम मे अपनों से परेशान होकर आने वाले वृद्धजनों की संख्या दिनों दिन बढ़ती जा रही है। आश्रम में वृद्धों की संख्या बढक़र 230 हो गयी है। आश्रम द्वारा प्रतिमाह 10 से 15 बुजुर्ग लोगों का समझोता कराया जा रहा है परंतु संस्कारो की कमी के कारण हमारे वृद्धजनों को प्रतारित किया जा रहा है।

75 वर्षीय हरी दीक्षित कीठम अछनेरा से बच्चो से दुखी हो कर आए है। 90 वर्षीय सुशीला देवी सरला बाग दयालबाग से आई है इंका कोई भी नहीं है और अब इनके पास कुछ नहीं है ये वास्तविक असहाय है, जिनको आश्रम ने कमरा व कपड़ा खाने की व्यवस्था भी करा दी। कालन्दी विहार से आई विद्या देवी उम्र करीब 95 वर्ष है जिनको उनको अपने ही 4 पुत्रों द्वारा घर से निकाला है। 65 वर्षीय हरदोई देवी फतेहपुर सीकरी की रहने वाली है। इनके बच्चे आए दिन मारपीट करते थे। तंग आ कर आश्रम मे रहने का निर्णय लिया और घर छोड़ कर आ गयी। मूलचंद माहेश्वरी इरादत नगर 73 वर्ष के है जिंका कोई नहीं है वो आश्रम में आए है।

शारदा देवी औरैया रहने वाली बताती है और कुछ जानकारी देने में सक्षम नहीं है। 75 वर्षीय रुक्मणी देवी फीरोजाबाद जिले से बच्चो द्वारा प्रताडि़त हो कर आई है। रघुवीर सिंह जोगीपाड़ा के रहने वाले है जिनकी उम्र 61 वर्ष है। अपनों घर से दुखी हो कर आश्रम मे शरण ले रहे हैे किशन चन्द्र मदिया कटरा से आए है। इनके घर मे इन्हे मारा पीटा जाता था और रोटी भी नहीं दी जाती थी। शनिवार को सभी वृद्धजनों को समूहिक रूप से स्वागत किया गया। इस अवसर पर संस्थापक हरी प्रसाद सारस्वत, अध्यक्ष शिव प्रसाद शर्मा, नन्द किशोर शर्मा व आश्रम मे वृद्धजन मौजूद रहे।

Share it
Top