Home > Archived > लापता विमान में सवार एयरमैन के भाई के दावे से रहस्य गहराया

लापता विमान में सवार एयरमैन के भाई के दावे से रहस्य गहराया

लापता विमान में सवार एयरमैन के भाई के दावे से रहस्य गहराया

लापता विमान में सवार एयरमैन के भाई के दावे से रहस्य गहराया

नई दिल्ली। इंडियन एयर फ़ोर्स के एक सप्ताह पहले लापता हुए एएन 32 विमान को लेकर रहस्य और गहरा गया है। एक टीवी न्यूज़ चैनल ने विमान में सवार 29 लोगों में से एक रघुवीर वर्मा के भाई संजीत के हवाले से खबरों में बताया कि रघुवीर के फोन पर पिछले दो दिन से रिंग जा रही है, लेकिन फोन उठ नहीं रहा है। विमान की तलाश में जुटी वायुसेना ने अब इस एंगल से भी जांच शुरू कर दी है।

संजीत के मुताबिक रघुवीर के मैसेंजर ऐप पर लास्ट सीन 26 जुलाई दिखा रहा है। पोर्ट ब्लेयर के रहने वाले रघुवीर वर्मा इन दिनों राजस्थान में तैनात थे और छुट्टी पर अपने घर लौट रहे थे।

कल ही रक्षा मंत्री मनोहर पर्रिकर ने राज्यसभा में बयान दिया है कि वायुसेना के लापता विमान को खोजने के लिए अमेरिका से भी मदद मांगी गई है। हालांकि पर्रिकर ने विमान के गायब होने में किसी भी तरह की साजिश से इनकार किया है।

गौरतलब है कि जो विमान लापता हुआ है उसने 22 जुलाई की सुबह 8.30 बजे चेन्नई के तांबरम एयरपोर्ट से पोर्ट ब्लेयर के लिए उड़ान भरी थी लेकिन 16 मिनट बाद ही सुबह 8 बजकर 46 मिनट पर विमान का संपर्क टूट गया। उस समय विमान 23 हजार फुट की ऊंचाई पर उड़ रहा था।

एक अहम सवाल जो सबको परेशान कर रहा है वह यह कि विमान के पायलट, को-पायलट और नेवीगेटर द्वारा ऐसी स्थिति में इमरजेंसी बटन क्यों नहीं दबाया गया। आमतौर पर विमान में तकनीकी या कोई दूसरी खराबी आने पर इमरजेंसी बटन का इस्तेमाल किया जाता है जिससे सभी एटीसी और रडार सिस्टम एक्टिव हो जाते हैं। लापता विमान को खोजने में 16 टोही विमान और एक पनडुब्बी तथा सेटेलाइट की सहायता ली जा रही है। अब तक का यह सबसे बड़ा खोजी अभियान है।

Share it
Top