Top
Latest News
Home > Archived > तालिबान के नए नेता के पास शांति चुनने का मौका: अमेरिका

तालिबान के नए नेता के पास शांति चुनने का मौका: अमेरिका

तालिबान के नए नेता के पास शांति चुनने का मौका: अमेरिका

वाशिंगटन। अमेरिका ने कहा है कि अफगान तालिबान के नए नेता के पास अफगानिस्तान में शांति स्थापना का विकल्प चुनने और शांति वार्ता में शामिल होकर बातचीत के जरिए समाधान तलाशने की ओर आगे बढऩे का अवसर है। विदेश मंत्रालय के उप प्रवक्ता मार्क टोनर ने बुधवार को कहा कि हम उम्मीद करते हैं कि तालिबान का नया नेतृत्व मौके का लाभ उठाएगा।

पाकिस्तान में शनिवार को एक अमेरिकी ड्रोन हमले में अफगान तालिबान के मुखिया मुल्ला मंसूर की मौत के बाद तालिबान ने एक धार्मिक नेता मुल्ला हैबतुल्ला अखुंदजादा को अपना नया नेता नियुक्त किया है। तालिबान अफगान सरकार की शांति पहल को खारिज करता रहा है। टोनर ने एक प्रश्न के उत्तर में कहा कि नए नेता के पास शांति का चुनाव करने का अवसर है। हम उम्मीद करते हैं कि वह अब ऐसा ही करेगा। अखुंदजादा का नाम आतंकवादियों के नाम वाली किसी सूची में शामिल नहीं है। टोनर ने इन प्रश्नों का उत्तर नहीं दिया कि क्या वह अफगानिस्तान में अमेरिकी बलों के निशाने पर है। उन्होंने कहा मैं इस संबंध में पहले से कुछ नहीं बताउंगा कि अमेरिका के राष्ट्रीय सुरक्षा हित में हम किसे निशाना बना सकते हैं।

इस बीच अमेरिका के रक्षा मंत्री एश्टन कार्टर ने उम्मीद जताई कि अखुंदजादा के नेतृत्व में नए तालिबानी नेतृत्व को सदबुद्धि मिलेगी। कार्टर ने रोड आइलैंड में संवाददाताओं से कहा कि हमें यह देखना होगा कि नया तालिबानी नेतृत्व किस निष्कर्ष पर पहुंचता है। निस्संदेह उन्हें जो निष्कर्ष निकालना चाहिए, वह यह है कि वे जीत नहीं सकते। कार्टर ने कहा कि अमेरिका के समर्थन वाला अफगान सुरक्षा बल उनसे मजबूत बनेगा। इसलिए सरकार के साथ शांति स्थापित करने का विकल्प नहीं चुनने पर युद्धक्षेत्र में उनकी हार तय है। रक्षा मंत्री ने एक प्रश्न के उत्तर में कहा कि अफगानिस्तान में हमारी योजना अमेरिका बलों की समग्र संख्या कम करने की है लेकिन हम लंबे समय तक वहां रहेंगे। यह अफगान सुरक्षा बलों की मदद करने का सबसे महत्वपूर्ण तरीका है। उन्होंने कहा कि हम उन्हें आर्थिक मदद देना जारी रखेंगे। नाटो सहयोगियों ने संकेत दिया है कि वे अफगान सुरक्षा बलों को आर्थिक मदद देते रहेंगे और यह सबसे महत्वपूर्ण बात है।

Next Story
Share it
Top