Home > Archived > अटलजी के नाम पर बनेगा मल्टी आर्ट कॉम्पलेक्स: तोमर

अटलजी के नाम पर बनेगा मल्टी आर्ट कॉम्पलेक्स: तोमर

निर्माण के लिए सांसद निधि से पांच करोड़ देने की घोषणा

ग्वालियर। जीवाजी विश्वविद्यालय में निर्माणाधीन मल्टी आर्ट कॉम्पलेक्स का नाम अटल बिहारी वाजपेयी मल्टी आर्ट कॉम्पलेक्स होगा। यह बात केन्द्रीय इस्पात एवं खान मंत्री नरेन्द्र सिंह तोमर ने जीवाजी विश्वविद्यालय में प्रस्तावित निर्माण कार्यों के भूमि पूजन के दौरान मुख्य अतिथि के रूप में कही। उन्होंने कहा कि विश्वविद्यालय में बनने वाला यह कॉम्पलेक्स अन्तर्राष्ट्रीय स्तर का हो जिस पर ग्वालियर ही नहीं पूरे देश को गर्व हो।

इस हेतु मैं अपनी सासंद निधि से 5 करोड़ रूपये दो किश्तों में विवि को प्रदान करूंगा। कार्यक्रम में विशिष्ट अतिथि के रूप में महिला एवं बाल विकास मंत्री माया सिंह उपस्थित थीं। जबकि अध्यक्षता कुलपति प्रो. संगीता शुक्ला ने की। कार्यक्रम का शुभारम्भ कुलसचिव प्रो. आनंद मिश्र ने स्वागत भाषण से किया। जिसमें उनके द्वारा विश्वविद्यालय को अतिरिक्त भूमि की आवश्यकता होने की बात पर श्री तोमर ने कहा कि विश्वविद्यालय को भूमि की कमी नहीं होने दी जाएगी।

कार्यक्रम के अंत में कुलपति, कुलाधिसचिव तथा कुलसचिव द्वारा अतिथियों को शॉल, श्रीफल तथा स्मृति चिन्ह देकर सम्मानित किया गया। कार्यक्रम का संचालन प्रो. उमेश होलानी ने तथा आभार प्रदर्शन प्रो. केशव सिंह गुर्जर द्वारा किया गया। इस अवसर पर प्रो. एस.के. द्विवेदी, प्रो. ए.पी.एस. चौहान, प्रो. ओ.पी. अग्रवाल, प्रो. नीरज जैन, विश्वरंजन गुप्ता, अरविन्द भदौरिया, राजेश नायक, जण्डेल सिंह गुर्जर, तहसीलदार गुर्जर आदि उपस्थित थे। मल्टी आर्ट कॉम्पलेक्स में चार करोड़ की लागत से बनने वाले आवास, जी तथा एच श्रेणी के कुल 56 आवास बन रहे हैं जो कि शीघ्र ही कर्मचारियों को मिल जाएंगे।

पांच करोड़ की लागत से बनेगा स्वीमिंग पूल
इसी प्रकार 5 करोड़ की लागत से बनने वाले प्रस्तावित स्वीमिंग पूल का भी भूमिपूजन किया गया। इस स्वीमिंग पूल का निर्माण अन्तर्राष्ट्रीय मानकों के आधार पर किया जा रहा है। इसमें तैराकी का क्षेत्रफल 30.50 मीटर होगा। वहीं छात्रों की सुरक्षा की दृष्टि से इसे 6 फीट ही गहरा रखा जाएगा।

कन्या छात्रावास भी बनेगा
3.50 करोड़ की लागत से बनने वाले प्रस्तावित महिला छात्रावास का भी भूमिपूजन इस दौरान केन्द्रीय मंत्री नरेन्द्र सिंह तोमर ने किया। इस छात्रावास में कुल 54 कक्ष होंगे तथा एक कमरे में दो छात्राओं के रहने की व्यवस्था होगी। सभी कमरों में लेट-बाथ होंगे। यह छात्रावास स्नातकोतर एवं शोध छात्राओं के लिए बनेगा। इसी क्रम में अब्दुल कलाम विज्ञान भवन का शिलान्यास भी किया गया। जिसकी लागत लगभग 3 करोड़ होगी, जिसमें विज्ञान विषय के शोध छात्र-छात्राओं को शोध के लिये आवश्यक उपकरण उपलब्ध रहेगें। इस अवसर पर जीवाजी विश्वविद्यालय के नाम से एक मोबाइल एप भी लांच किया गया। इस एप को प्ले स्टोर से डाउनलोड किया जा सकता है। इसका उद्देश्य छात्रों तथा शिक्षकों के बीच में बेहतर तालमेल व संवाद स्थापित करना है। शिक्षक इस एप पर छात्रों के लिये वीडियो लेक्चर भी अपलोड कर सकेंगे।

जीवाजी विवि एसोसिएशन के पदाधिकारियों को दिलाई शपथ
कार्यक्रम में कुलपति प्रो. संगीता शुक्ला द्वारा नवनिर्वाचित जीवाजी विश्वविद्यालय एसोसिएशन के पदाधिकारयों को शपथ ग्रहण भी कराई गई। जिसमें अध्यक्ष प्रो.एस.के. द्विवेदी, उपाध्यक्ष डॉ. केशवसिंह गुर्जर, सचिव डॉ. शान्तिदेव सिसौदिया, कोषाध्यक्ष प्रो. आर.पी. पाण्डेय, संयुक्त सचिव डॉ.सुशील मण्डेरिया एवं स्वर्णा परमार शामिल हैं। वहीं कार्यकारिणी सदस्यों में प्रो. उमेश होलानी, प्रो. ओ.पी. अग्रवाल, प्रो. रेनु जैन, प्रो. मुकुल तैलंग, प्रो. संजय कुलश्रेष्ठ, प्रो. ए.पी.एस.चौहान, प्रो. एस.के. शुक्ला, प्रो. नीरज जैन, प्रो. डी.डी. अग्रवाल, प्रो. संजय गुप्ता,प्रो. जी.बी.के.एस. प्रसाद ने शपथ ली।

Share it
Top