Home > Archived > अधिकारों के लिए सड़क पर उतरा मछुआ समाज

अधिकारों के लिए सड़क पर उतरा मछुआ समाज

जिलाधिकारी व नगर आयुक्त को दिया ज्ञापन

झांसी। राष्ट्रीय मछुआ समुदाय क्रांति दल के तत्वावधान में आज रायकवार समाज के सैकड़ों लोगों ने कचहरी स्थित गांधी उद्यान में धरना दिया तथा मछुआ समाज का शोषण बंद किए जाने व नगर निगम के तालाबों शासनादेशानुसार स्थानीय मत्स्य जीवी सहकारी समितियों की भागीदारी सुनिश्चित किए जाने की मांग को लेकर जिलाधिकारी व नगर आयुक्त को ज्ञापन दिये।

सर्वप्रथम समाज के सभासद धीरज रायकवार ने गांधी जी की प्रतिमा पर माल्यार्पण किया। इसके बाद धरना प्रदर्शन की अध्यक्षता कैलाश नारायण ने की। वक्ताओं ने समाज के लोगों में ऊर्जा का संचार करते हुये भाषण दिये। जिससे समाज के लोग उत्साहित हुये एवं दोपहर 12 बजे जिलाधिकारी को ज्ञापन देने हेतु कतारबद्ध जुलूस के रुप में नारे लगाते हुये जिलाधिकारी कार्यालय पहुंचे जहां पर किशोरी प्रसाद रायकवार ने जिलाधिकारी कार्यालय पहुंचे जहां पर किशोरी प्रसाद रायकवार ने जिलाधिकारी को माला पहनाकर उनका झांसी आगमन पर स्वागत किया व ज्ञापन प्रेषित किया। इस पर जिलाधिकारी ने इसको गंभीर मामला करार देते हुये नगर आयुक्त से बात कर मामले को सुलझाये जाने का आश्वासन दिया। इसके बाद उक्त जुलूस जेल चौराहा होते हुये इलाईट चौराहा से नगर निगम आयुक्त कार्यालय पहुंचा। जहां पर सभी लोगों ने नगर निगम के मुख्य द्वार पर धरना दिया। वक्ताओं में अनिल कश्यप द्वारा नगर आयुक्त नगर निगम को मछुआ समाज का विरोधी बताते हुये कहा कि अतिशीघ्र आंतिया तालाब का पट्टा निरस्त कर स्थानीय मछुआ समिति को दिया जाये।

रामकिशन रायकवार मेडिकल ने कहा कि जो समाज के लोगों की रोजी-रोटी छीनने का काम करेगा उसे झांसी के कार्यालयों में बैठने नहीं दिया जायेगा। गुलाब सिंह रायकवार ने कहा कि मछली पालन व सिंघाडा उत्पादन मछुआ समाज का एकमात्र धंधा है। नगर निगम द्वारा पूर्व में आंतिया तालाब मत्स्य जीवी सहकारी समिति को शासनादेशानुसार मत्स्य विभाग के निर्देशन में दिया गया था पर हमारा ठेका खत्म होने के 6 माह पहले ही नगर निगम ने गुपचुप एवं भ्रमित विज्ञप्ति के माध्यम से मछुआ समाज को छलने का काम किया है। हुकुम रायकवार ने कहा कि यदि 7 दिन के अंदर नगर आयुक्त आंतिया तालाब का उक्त ठेका निरस्त कर मछुआ समाज की समिति को नहीं देंगे तो उग्र आंदोलन होगा। संचालन करते हुये किशोरी प्रसाद रायकवार ने कहा कि नगर आयुक्त निगम को पूर्व में कई प्रार्थना पत्र देकर उक्त मामले से अवगत कराया गया पर नगर आयुक्त को कान पर जूं नहीं रेंगी। मजबूर होकर हम लोगों को धरना प्रदर्शन जुलूस निकालना पड़ा। अब हम अपने अधिकारों के लिये सड़कों पर आंदोलन, आमरण अनशन व भूख हड़ताल करने से पीछे नहीं हटेंगे। पूर्व में नगर आयुक्त ने हमें आश्वासन दिया था कि आंतिया तालाब का ठेका निरस्त कर मत्स्य जीवी सहकारी समिति पर दिया जायेगा परंतु आश्वासन झूठा निकला व उन्होने वादाखिलाफी की। इस वजह से मजबूर होकर मछुआ समाज को सड़क पर आना पड़ा। नगर आयुक्त से फोन पर बात हुई जिसमें उन्होने अपने प्रतिनिधि आर.पी. सिंह को समस्या सुनने एवं ज्ञापन लेने के लिये भेजा। किशोरी प्रसाद ने ज्ञापन पढ़कर सुनाया व ज्ञापन प्रस्तुत किया। इसके बाद सभी लोग मय जुलूस के उपनिदेशक मत्स्य के कार्यालय गये। उपनिदेशक मत्स्य के सीनियर बाबू को ज्ञापन प्रेषित किया और समस्या से अवगत कराया एवं उन्हें भी उक्त प्रकरण में हस्तक्षेप करने हेतु एक सप्ताह का समय दिया क्योंकि मत्स्य विभाग मछुआ समाज के कल्याण हेतु बना है। इसके बाद सहायक निदेशक मत्स्य को ज्ञापन देकर समस्या से अवगत कराया। इसके बाद एक प्रतिनिधि मंडल, मंडलायुक्त झांसी मंडल से मिला जिस पर प्रतिनिधि मंडल ने अपनी समस्या से मण्डलायुक्त को अवगत कराकर ज्ञापन प्रेषित किया। इस पर मंडलायुक्त द्वारा आज ही नगर आयुक्त को तलब कर उक्त प्रकरण पर बात कर समस्या का तत्काल निराकरण कराने का आश्वासन दिया। आभार भारत कश्यप ने व्यक्त किया।

Share it
Top