Home > Archived > अपर जनपद न्यायाधीश के यहां हुई चोरी का खुलासा

अपर जनपद न्यायाधीश के यहां हुई चोरी का खुलासा

हाथरस। गली-मौहल्लों में फेरी लगाकर साडी आदि बेचने वालों से सावधान रहे क्योंकि कहीं वह आपके घर की टोह तो नहीं ले रहे चूंकि आज पुलिस द्वारा खुलासा किये गये अपर जनपद न्यायाधीश के यहां घटित चोरी काण्ड की घटना में ऐसा ही मामला निकलकर आया है। पुलिस ने एडीजे के घर से चोरी काण्ड का खुलासा करते हुए 4 शातिर बदमाशों को मुठभेड में दबोचा है और लाखों की नगदी व माल, हथियार आदि भी बरामद किये हैं।

गत 28-29 दिसम्बर 2015 की रात वसुन्धरा एन्क्लेव निवासी एवं अपर जनपद न्यायाधीश प्रथम (फास्ट ट्रेक कोर्ट) श्री राजकुमार बंसल की कोठी नं. 522 के ताले चटकाकर अज्ञात चोर उनकी लाइसेंसी पिस्टल मय कारतूस, सरकारी लैपटॉप, एक एलईडी, जेवरात व 40 हजार रूपये नकद आदि को चोरी कर ले गये थे। उक्त घटना की खबर से पुलिस प्रशासन में हडकम्प मच गया था और डीआईजी, पुलिस कप्तान सहित आला अधिकारियों ने मौका मुआयना कर घटना के खुलासे हेतु कोतवाली पुलिस, इंटेलीजेंस विंग व सर्विलांस टीम को लगाया गया था।

उक्त घटना का आज पुलिस कार्यालय पर आयोजित प्रेसवार्ता में डीआईजी गोविन्द अग्रवाल व पुलिस कप्तान डा. अजयपाल शर्मा ने बताया कि उक्त घटना के खुलासे हेतु पुलिस टीमें छानवीन में जुटी थीं तभी कल रात कोतवाली प्रभारी मनोज शर्मा को मुखबिर से मिली सूचना पर पॉलीटेक्निक कालेज के पीछे एक खण्डर में बना रहे बदमाशों को घेरने अपनी टीमों के साथ पहुंच गये और बदमाशों से मुठभेड पर 4 शातिर बदमाशों को दबोच लिया।

डीआईजी व पुलिस कप्तान ने बताया कि पकडे गये बदमाशों ने पूछताछ में अपने नाम संजय कुमार पुत्र मूलचन्द्र निवासी हरदुआगंज अलीगढ, दशरथ पुत्र कालीचरन व प्रताप उर्फ प्रदीप पुत्र सन्नू निवासीगण मौ. टिकौना नगला थाना क्वार्सी अलीगढ तथा ललित पुत्र रामबाबू नागर निवासी रामपुर चंदयाना थाना फली मुकीमपुर अलीगढ बताये हैं। इन शातिर बदमाशों के कब्जे से एक पिस्टल फैक्ट्री मेड, 11 कारतूस, 1 खोखा कारतूस व मैगजीन, 2 तमंचा 315 बोर व 4 कारतूस, एक तमंचा 12 बोर मय 2 कारतूस बरामद किये हैं।

डीआईजी व पुलिस कप्तान के मुताबिक उक्त पकडे गये बदमाशों ने हाथरस में आधा दर्जन चोरी की घटनाओं को अंजाम देना स्वीकार किया है जबकि इन्होंने अलीगढ में 10 चोरी की घटनाओं को अंजाम दिया है। उन्होंने बताया कि इन बदमाशों में से पहले एक बदमाश साडी आदि बेचने की गलियों में फेरी लगाकर मकानों की रेकी करते थे और फिर उसी क्षेत्र में दूसरा बदमाश स्टूडेंट बनकर मकान किराये पर ले लेता था और घटना को अंजाम देकर वहीं पर 2 दिन रूकने के बाद माल को बेचने जाते थे। खास बात यह थी कि ये बदमाश आपस में फोन पर बात नहीं करते थे।

डीआईजी व पुलिस कप्तान ने बताया कि अपर जनपद न्यायाधीश के घर चोरी किये गये जेवरातों को बेचकर बदमाशों द्वारा लिये गये 2 लाख रूपये, लैपटॉप व पिस्टल एलईडी, 1 कैमरा, मोबाइल भी बरामद किया गया है। इसके अलावा थाना हाथरस गेट क्षेत्र के चमन बिहार कालौनी निवासी मधु शर्मा के घर से चोरी किये गये डायमण्ड के जेवरात भी बरामद किये हैं इनसे ताले तोडने व अलमारी खोलने के उपकरण भी बरामद किये गये हैं।

Share it
Top