Home > Archived > ताजनगरी में प्रदूषण के कारकों की जांच करने पहुंची पर्यावरण मंत्रालय की टीम

ताजनगरी में प्रदूषण के कारकों की जांच करने पहुंची पर्यावरण मंत्रालय की टीम

एडीए अधिकारियो, गैर सरकारी संगठनों व औद्योगिक प्रतिनिधियों के साथ बैठक

आगरा। केंद्रीय पर्यावरण वन एवं जलवायु परिवर्तन मंत्रालय की पांच सदस्यीय समिति आगरा पहुंची। समिति ने यहां ताजनगरी में बढ़ते प्रदूषण व ताजमहल को प्रदूषण के कारण होने वाले नुकसान के विभिन्न कारकों को जाना व शहर के बुद्धिजीवियों, गैर सरकारी संगठनों और उद्योगपतियों के साथ बैठकें की। बाद में समिति ने ताजमहल के आसपास के क्षेत्रों व औद्यौगिक क्षेत्रों का भ्रमण किया। समिति टीटीजेड क्षेत्र में होने वाले प्रदूषण को रोकने के लिए सरकार व एनजीटी को अध्ययन कर वैज्ञानिक व प्रभावकारी उपाय सुझाएगी।

ताज संरक्षित क्षेत्री ‘टीटीजेड’ में बढ़ते वायु और जल प्रदूषण से ताजमहल की नींव को खतरे के संकेत पहले की मिल रहे थे। संसद की समिति भी ताजमहल पर जमीं प्रदूषण की परतों का अध्ययन कर चुकी थी। ताजमहल के अलावा अन्य ऐतिहासिक स्मारकों व मानवीय स्वास्थ्य को ध्यान में रखते हुए समिति का यह दौरा काफी महत्वपूर्ण माना जा रहा है। आगरा आई केंद्रीय पर्यावरण, वन एवं जलवायु परिवर्तन मंत्रलाय की इस पांच सदस्यीय समिति ने संबंधित विभागों, गैर सरकारी संगठनों और उद्योगपतियों के साथ बैठकें कर उनके सुझाव प्राप्त किय और प्रदूषण वाले स्थानों का निरीक्षण कर धरातल पर वास्तविक स्थिति को जाना। समिति ने यमुना की गंदगी में पनप रहे कीड़े गोल्डी काइरोनोमस की वास्तविकता को भी जाना और ताज के समीप जलने वाले कूड़े, प्रदूषित जल की स्थिति को देखा। समिति ने एडीए अधिकारियों व औद्यौगिक इकाईयों के प्रतिनिधियों के साथ बैठक कर ताजनगरी में प्रदूषण रोकने हेतु व्यापक मंत्रणा की।

समिति आज फिरोजाबाद निरीक्षण करने हेतु जाएगी और वहां की पर्यावरणीय स्थिति का अध्ययन करेगी। समिति ने टीटीजेड क्षेत्र में विभिन्न विभागों द्वारा अभी तक उठाए गए कदमों का भी निरीक्षण किया।


Share it
Top