Home > Archived > तीर्थ पुरोहित महासभा की राष्ट्रीय बैठक में नदियों की अविरलता पर होगा मंथन-महेश पाठक

तीर्थ पुरोहित महासभा की राष्ट्रीय बैठक में नदियों की अविरलता पर होगा मंथन-महेश पाठक

उत्तराखंड के मुख्यमंत्री हरीश रावत करेंगे कार्यक्रम का शुभारंभ

मथुरा। अखिल भारतीय तीर्थ पुरोहित महासभा (रजि0) की राष्ट्रीय कार्यकारिणी व राष्ट्रीय कार्यसमिति की बैठक 17 एवं 18 दिसम्बर को हरिद्वार (उत्तराखण्ड) में आयोजित दो दिवसीय बैठक का शुभारम्भ उत्तराखण्ड के मुख्यमंत्री हरीश रावत करेगें।

अखिल भारतीय तीर्थ पुरोहित महासभा के राष्ट्रीय अध्यक्ष महेश पाठक ने पत्रकारों से बातचीत में उक्त जानकारी देते हुए बताया कि दो दिवसीय राष्ट्रीय कार्यकारिणी व राष्ट्रीय कार्यसमिति की बैठक में माँ गंगा, यमुना, सरस्वती एवं भारतवर्ष की अन्य सभी पवित्र नदियों के अविरल धारा प्रवाह पर विचार। तीर्थ पुरोहित महासभा को धार्मिक ट्रस्ट की तरह संरक्षण हेतु बोर्ड के गठन पर विचार, विभिन्न तीर्थो को एक दूसरे से रेल व सम्पर्क मार्गो से जोडऩे पर विचार, विभिन्न तीर्थो की समस्याओं पर विचार किये जाने के साथ पर्यटन बोर्ड की तरह तीर्थाटन बोर्ड का भी कथन किये जाने की मांग उठाई जाएगी। वहीं श्री पाठक ने कहा कि जिस समय यमुना शुद्धि को लेकर ब्रज में आन्दोलन किया गया था उस समय हरीश रावत केंद्र सरकार में जल संसाधन मंत्री थे और उनके आश्वासन पर आन्दोलन स्थगित किया गया था, आज वे उत्तराखण्ड के मुख्यमंत्री हैं और महासभा के तत्वावधान में हरिद्वार में आयोजित बैठक में मुख्य अतिथि हैं।

कार्यक्रम के दौरान वे मुख्यमंत्री को उनके द्वारा दिये गए आश्वासन के विषय में बात करेंगे। श्री पाठक ने कहा कि उन्होंने बैजनाथ धाम (झारखण्ड), कुरुक्षेत्र (हरियाणा) में भी विकास समितियों में स्थानीय तीर्थ पुरोहितों को शामिल किये जाने के लिए पत्र लिखा था जिसका संज्ञान लेते हुए दोनों ही स्थानों पर स्थानीय तीर्थ समितियों के पदाधिकारियों को विकास समितियों में सदस्य मनोनीत कर लिया गया हैं।

उन्होंने बताया कि 17 दिसम्बर को सभी तीर्थ पुरोहित हरिद्वार में एकत्रित होकर शोभायात्रा के रूप में हर की पोड़ी पहुचेंगे। जहाँ पर पतित पावनी माँ गंगा का वैदिक मंत्रोच्चारणों के मध्य विधिवत रूप से पूजन कर आशीर्वाद लेंगे। माँ गंगा पूजन के उपरांत सभी तीर्थ पुरोहित ऋषिकेश मार्ग स्थित गंगा आश्रम, भूपतवाला पर आयोजित सम्मेलन में भाग लेंगे।

इस सम्बन्ध में आयोजित पत्रकार वार्ता में महासभा के उपाध्यक्ष नवीन नागर ने कहा कि इस दो दिवसीय बैठक में विभिन्न विषयों के साथ यमुना शुद्धि का मुद्दा भी उठाया जायेगा। इस आयोजन के विषय में ब्रजवासी पंडा सभा वृन्दावन के अध्यक्ष नन्द कुमार पाठक ने बताया कि ब्रज का अस्तित्व माँ यमुना से है जिसको प्रदुषण मुक्त करने के लिए तीर्थ पुरोहित हर संभव प्रयास करेंगे। वार्ता के अवसर पर उपस्थित तीर्थ पुरोहित समिति महावन के अध्यक्ष मोर मुकुट शर्मा ने कहा कि ब्रज में गिरिराज गोवर्धन और माँ यमुना ही कृष्ण कालीन हैं। इनका अस्तित्व बचाना हर ब्रजवासी का नैतिक दायित्व है।

पत्रकार वार्ता के दौरान श्री माथुर चतुर्वेद परिषद के अध्यक्ष दिनेश पाठक ने बताया कि हरिद्वार में आयोजित महासभा की राष्ट्रीय कार्यकारिणी व राष्ट्रीय कार्यसमिति की बैठक में श्री माथुर चतुर्वेद परिषद के द्वारा यमुना शुद्धिकरण का विषय उठाया जायेगा क्योकि ब्रज में यमुना को एक नदी नहीं अपितु माँ के स्वरुप में देखा जाता है और विश्राम घाट पर आने वाले तीर्थ यात्री यमुना पूजन तो क्या यमुना जल का पान भी नहीं कर पा रहे हैं। पत्रकार वार्ता के अवसर पर महासभा के राष्ट्रीय कोषाध्यक्ष मुकेश स्वामी, परिषद के महामंत्री राकेश तिवारी (एड0), कोषाध्यक्ष कमल चतुर्वेदी, आशीष चतुर्वेदी, स्वतंत्र चतुर्वेदी, संजय एल्पाइन, मनोज कालीचरण, मोहित चतुर्वेदी आदि मौजूद रहे।

Share it
Top