Top
Home > राज्य > अन्य > पश्चिम बंगाल > सरकार चुनावी हिंसा में मारे गए लोगों के परिजनों 2 लाख की मदद देगी : ममता बनर्जी

सरकार चुनावी हिंसा में मारे गए लोगों के परिजनों 2 लाख की मदद देगी : ममता बनर्जी

सरकार चुनावी हिंसा में मारे गए लोगों के परिजनों 2 लाख की मदद देगी : ममता बनर्जी
X

कोलकाता। पश्चिम बंगाल में चुनाव बाद बेलगाम हिंसा में मारे गए लोगों के परिजनों को राज्य सरकार दो-दो लाख रुपये की आर्थिक मदद देगी। मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने गुरुवार को राज्य सचिवालय में कहा कि चुनाव बाद 16 लोगों की मौत हुई है। इनमें से आधे तृणमूल के हैं और आधे भाजपा के। सभी के परिजनों को आर्थिक मदद दी जाएगी। हिंसा के लिए भारतीय जनता पार्टी को ही दोषी ठहराते हुए उन्होंने कहा कि जहां जहां भाजपा जीती है वहां वहां गुंडागर्दी ज्यादा हो रही है।

कूचबिहार में तृणमूल कांग्रेस के पूर्व विधायक उदयन गुहा पर हमले का जिक्र करते हुए उन्होंने कहा कि उदयन का हाथ तोड़ दिया गया है। मैं भारतीय जनता पार्टी से कहना चाहती हूं कि संयम बरतें। भाजपा जनादेश को स्वीकार नहीं रही है। अच्छा होगा भाजपा जनादेश को मान ले। रविवार को दोपहर के समय चुनाव परिणाम स्पष्ट होते ही राज्यभर में हिंसा की शुरुआत हो गई थी जो लगातार जारी रही है। इसे लेकर उन्होंने सफाई देते हुए कहा कि वह जब तक मुख्यमंत्री नहीं बनी थीं, तब तक प्रशासन चुनाव आयोग के अधीन था और उसी दौरान 16 लोगों की हत्या हुई है। उन्होंने कहा कि बिना भेदभाव हिंसा के शिकार सभी लोगों के परिजनों को मदद की जाएगी।

केंद्रीय मंत्री पर हमले को लेकर दी सफाई

पश्चिम मेदिनीपुर जिले में केंद्रीय विदेश राज्य मंत्री वी मुरलीधरण पर हुए हमले को लेकर ममता ने कहा कि राज्य में लॉकडाउन लगा हुआ है। हर तरह के सांस्कृतिक और राजनीतिक कार्यक्रम पर प्रतिबंध है। ऐसे में केंद्रीय मंत्री बंगाल में क्या करने के लिए घूम रहे हैं? ममता बनर्जी ने कहा कि सेंट्रल टीम बंगाल आ सकती है लेकिन पहले उसका आरटी-पीसीआर टेस्ट होगा। ममता ने कहा कि दिल्ली में जब दंगे हुए थे तब सेंट्रल टीम क्यों नहीं गई? वैक्सीन नहीं है, ऑक्सीजन नहीं है तब सेंट्रल फोर्स की टीम नहीं आती है लेकिन हालात बिगाड़ने पहुंच जाती है।

Updated : 2021-05-06T18:06:25+05:30
Tags:    

स्वदेश वेब डेस्क

Swadesh Digital contributor help bring you the latest article around you


Next Story
Share it
Top