Home > राज्य > अन्य > पश्चिम बंगाल > तृणमूल नेता सुब्रत मुखर्जी और फिरहाद ने उपचुनाव में की गड़बड़ी, भाजपा पहुंची आयोग

तृणमूल नेता सुब्रत मुखर्जी और फिरहाद ने उपचुनाव में की गड़बड़ी, भाजपा पहुंची आयोग

भाजपा ने चुनाव आयोग में की शिकायत

तृणमूल नेता सुब्रत मुखर्जी और फिरहाद ने उपचुनाव में की गड़बड़ी, भाजपा पहुंची आयोग
X

कोलकाता। मुख्यमंत्री ममता बनर्जी के कैबिनेट के वरिष्ठ मंत्री सुब्रत मुखर्जी और मुख्य अल्पसंख्यक चेहरा फिरहाद हकीम पर मतदान वाले दिन भी प्रचार नियमों का उल्लंघन करने का आरोप लगा है। इस संबंध में भाजपा ने चुनाव आयोग से शिकायत की है। भाजपा ने दावा है कि मंत्री सुब्रत मुखर्जी ने अपने टि्वटर अकाउंट के जरिए ममता बनर्जी की तस्वीर लगाकर उनके पक्ष में वोट देने के लिए लोगों से अपील की। इसके अलावा मंत्री हकीम पर आरोप है कि मतदान केंद्र के आसपास घूम कर लोगों को ममता के पक्ष में मतदान करने के लिए प्रेरित किया है। भाजपा की शिकायत पर चुनाव आयोग ने प्रशासन से रिपोर्ट तलब की है।

गुरुवार को सुबह 7:00 बजे से मतदान प्रक्रिया शुरू हुई थी। इस दौरान दोनों ही मंत्रियों ने कथित रूप से नियमों को उल्लंघ किया। भाजपा ने दोनों मंत्रियों के इस कथित बर्ताव की वजह से प्रचार के नियमों की अनदेखी का आरोप लगाते हुए चुनाव आयोग के पास शिकायत दर्ज कराई है। इधर, भाजपा के इन आरोपों पर तृणमूल कांग्रेस ने पलटवार किया है। सुब्रत मुखर्जी ने शेक्सपियर सरणी थाने में प्राथमिकी दर्ज कराकर आरोप लगाया है कि उनका ट्विटर एकाउंट हैक किया गया था। उन्हें ट्वीट करना ही नहीं आता है। दूसरी ओर हकीम ने कहा है कि भारतीय जनता पार्टी हार का बहाना ढूंढ रही है।

भवानीपुर सीट पर तृणमूल कांग्रेस सुप्रीमो बनर्जी का मुकाबला भारतीय जनता पार्टी की प्रियंका टिबरेवाल और मार्क्सवादी कम्युनिस्ट पार्टी के श्रीजीव विश्वास से है। मतदान के दौरान ममता बनर्जी ने अपने इलाके के केन्द्र मित्रा संस्थान में अपना मत डाला। टिबरेवाल ने आरोप लगाया कि तृणमूल ने वार्ड संख्या 72 में मतदान केंद्र पर मतदान प्रक्रिया जबरन रोकी और राज्य के मंत्री फिरहाद हाकिम और सुब्रत मुखर्जी निर्वाचन क्षेत्र में मतदाताओं को प्रभावित करने की कोशिश कर रहे थे। भाजपा ने फिरहाद हाकिम और मुखर्जी के खिलाफ चुनाव आयोग से शिकायत भी की है।इस संबंध में हाकिम ने कहा कि 'क्या सड़क किनारे स्टॉल पर चाय पीने से मतदाता प्रभावित होते हैं ? भाजपा जानती है कि वह उपचुनाव हार जाएगी और अब बहाने बना रही है।'

तृणमूल कांग्रेस ने भी चुनाव आयोग के पास एक शिकायत भी दर्ज कराई, जिसमें टिबरेवाल पर 20 कारों के काफिले के साथ घूमने और मतदाताओं को डराने-धमकाने का आरोप लगाया गया है। हालांकि टिबरेवाल ने इन आरोपों से इनकार किया है। भाजपा ने बाद में आरोप लगाया कि उसके 'पोलिंग एजेंटों' को कई मतदान केन्द्रों के अंदर प्रवेश करने नहीं दिया जा रहा। हालांकि, हाकिम ने कहा कि ऐसे दावे राजनीति से प्रेरित हैं।उन्होंने कहा, 'अगर उनके पास 'पोलिंग एजेंट' बनाने के लिए लोग नहीं थे, तो वे हमसे कहते। हम उन्हें एजेंट दिए होते।'

Updated : 2021-10-12T16:00:11+05:30
Tags:    

Swadesh News

Swadesh Digital contributor help bring you the latest article around you


Next Story
Share it
Top