Home > राज्य > अन्य > पश्चिम बंगाल > प. बंगाल में ममता बनर्जी ने किया रोड शो, शुभेंदु अधिकारी पर साधा निशाना

प. बंगाल में ममता बनर्जी ने किया रोड शो, शुभेंदु अधिकारी पर साधा निशाना

प. बंगाल में ममता बनर्जी ने किया रोड शो, शुभेंदु अधिकारी पर साधा निशाना
X

कोलकाता। पश्चिम बंगाल की सबसे हॉट सीट कही जाने वाली नंदीग्राम से उम्मीदवार मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने सोमवार को क्षेत्र में बड़ा रोड शो किया । उन्होंने व्हीलचेयर पर ही बैठकर रैली निकाली जिसमें सैकड़ों की संख्या में लोग शामिल हुए। नंदीग्राम दो नंबर ब्लॉक के खुदीराम मोड़ से ठाकुरचौक तक आठ किलोमीटर लंबा रोड शो हुआ, जिसके समापन पर मुख्यमंत्री ने एक जनसभा को भी संबोधित किया।

जनसभा में उन्होंने केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह पर चुन- चुन पर हमले किए और दावा किया कि बंगाल में चुनाव के समय अस्थिरता फैलाने के लिए उत्तर प्रदेश और बिहार से गुंडे लाकर रखे गए हैं। नंदीग्राम आंदोलन के दिनों को याद करते हुए ममता ने कहा, "उस दिन उन्होंने सीपीएम के गुंडों और पुलिस को बुलाया था। सीपीएम कैडरों ने पुलिस की वर्दी में गोली चलाई थी। ऐसा आज भी कर रहे हैं। बंगाल में बिहार और यूपी के गुंडे लेकर आए हैं। वे पुलिस की वर्दी खरीदेंगे। कैडरों को पहनाएंगे और ग्रामीणों को डरा-धमकाकर भाजपा को वोट देने की बात कहेंगे।"

गौरतलब है दूसरे चरण में भी पहले चरण की तरह 30 सीटों पर एक अप्रैल को मतदान होगा। इन सीटों में नंदीग्राम शामिल है। यहां ममता बनर्जी के खिलाफ उन्हीं की कैबिनेट के पूर्व मंत्री और राज्य के कद्दावर नेता शुभेंदु अधिकारी भाजपा के उम्मीदवार हैं। सोमवार को ममता ने यहां जनसभा में कहा, "गुंडागर्दी कौन करता है, जिसे हारने का भय रहता है। फिलहाल चुनाव आयोग के अधीन कानून-व्यवस्था है। तीन टीएमसी कार्यकर्ताओं की हत्या कर दी गई है,लेकिन चुनाव आयोग कोई कदम नहीं उठा रहा है, जबकि कूचबिहार में भाजपा के एक कार्यकर्ता ने आत्महत्या की थी. उसे लेकर लंबा जुलूस निकाला गया था।"

वृद्धा की मौत पर भी टिप्पणी

गत 26 फरवरी को तृणमूल कांग्रेस के कार्यकर्ताओं के हमले में गंभीर रूप से घायल वृद्धा की मौत पर टिप्पणी करते हुए ममता बनर्जी ने कहा कि किसी की मौत हो, वह इसका समर्थन नहीं करती हैं। वे इसके लिए दुखी हैं, लेकिन बंगाल में कुछ होने पर अमित शाह ट्वीट करते हैं कि बंगाल का क्या हाल है? वे क्यों नहीं पूछते कि यूपी का क्या हाल है? दिल्ली का क्या हाल है? वहां कुछ होने पर मुंह पर अमित शाह ल्यूकोप्लास्ट सटा कर बैठे रहते हैं। जगन्नाथ की तरह बैठे रहते हैं। बंगाल में देखकर ट्वीट कर रहे हैं। फेक न्यूज कर रहे हैं। झूठा अफवाह फैला रहे हैं। " सीएम ने कहा, " मैं नंदीग्राम आंदोलन से जुड़ी थीं। मैंने नंदीग्राम का नेतृत्व दिया था। उस समय बाप-बेटा (शुभेंदु-शिशिर) को नहीं देखा गया था। बाद में ये लोग आये थे। जमीन आंदोलन के दौरान जिन्होंने अत्याचार किया है, वे अब भाजपा के नेता हैं। और गद्दार भी उनके नेता हैं। यह मेरा दोष था कि उन्हें सिंचाई, पर्यावरण विभाग, परिवहन विभाग दिया था। भाई को कांथी नगरपालिका का चेयरमैन बनाया था। एक व्यक्ति को दस पोस्ट दिया था। अब इतना पैसा हो गया है कि भाजपा को जिताने के लिए बांट रहे हैं। कहते हैं कि या तो बीजेपी के लिए करो या गला में डोरी लगाकर मरो।"

कांटे की टक्कर -

उल्लेखनीय है कि नंदीग्राम की सीट बेहद दिलचस्प है और यहां ममता को कांटे की टक्कर की उम्मीद है। दो दिन पहले ही उनका एक ऑडियो वायरल हुआ था जिसमें एक स्थानीय भाजपा नेता को फोन कर वे मदद मांग रही थीं। भाजपा ने दावा किया कि ममता को अपनी हार का डर है । इसलिए इस तरह का हथकंडा अपना रही हैं।

Updated : 2021-10-12T16:20:18+05:30
Tags:    

स्वदेश वेब डेस्क

Swadesh Digital contributor help bring you the latest article around you


Next Story
Share it
Top