Top
Home > राज्य > अन्य > पश्चिम बंगाल > नेताजी सुभाष चंद्र बोस के अंतर्धान होने का रहस्य उजागर होना चाहिए : ममता बनर्जी

नेताजी सुभाष चंद्र बोस के अंतर्धान होने का रहस्य उजागर होना चाहिए : ममता बनर्जी

नेताजी सुभाष चंद्र बोस के अंतर्धान होने का रहस्य उजागर होना चाहिए : ममता बनर्जी
X

कोलकाता। नेताजी सुभाष चंद्र बोस की पुण्यतिथि के अवसर पर पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने कहा कि नेताजी के अंतर्ध्यान होने का जो रहस्य है। वह उजागर किया जाना जरूरी है। उन्होंने ट्वीट कर कहा कि 1945 में आज ही के दिन 18 अगस्त को नेताजी सुभाष चंद्र बोस ताइवान में ताइहोकू एयरपोर्ट से विमान में चढ़े थे और हमेशा के लिए लापता हो गए। हम आज भी नहीं जानते कि उनके साथ क्या हुआ। लोगों को अधिकार है कि वह भारत के उस वीर सपूत के बारे में सारे रहस्य जानें।


गौरतलब है की सुभाष चन्द्र बोस का जन्म 23 जनवरी 1897 को हुआ था। वह भारत के स्वतन्त्रता संग्राम के अग्रणी तथा सबसे बड़े नेता थे। द्वितीय विश्वयुद्ध के दौरान, अंग्रेज़ों के खिलाफ लड़ने के लिये, उन्होंने जापान के सहयोग से आज़ाद हिन्द फौज का गठन किया था। उनके द्वारा दिया गया जय हिन्द का नारा भारत का राष्ट्रीय नारा, बन गया है। "तुम मुझे खून दो मैं तुम्हे आजादी दूंगा" का नारा भी उनका था जो उस समय अत्यधिक प्रचलन में आया। 18 अगस्त 1945 को नेताजी सुभाष चंद्र बोस हवाई जहाज से रवाना हुए थे। जिसके बाद आज तक पता नहीं चल सका कि उनके साथ क्या हुआ। दावा किया जाता है कि उनका विमान दुर्घटनाग्रस्त हो गया था लेकिन इस दुर्घटना का जिक्र किसी भी सरकारी दस्तावेज में नहीं है।

Updated : 18 Aug 2020 10:56 AM GMT
Tags:    

स्वदेश वेब डेस्क

Swadesh Digital contributor help bring you the latest article around you


Next Story
Share it
Top