Home > राज्य > अन्य > पश्चिम बंगाल > ममता बनर्जी ने की प्रधानमंत्री मोदी की तारीफ, भड़क गए तृणमूल नेता, कहा- दीदी से पूछो चाहती क्या है ?

ममता बनर्जी ने की प्रधानमंत्री मोदी की तारीफ, भड़क गए तृणमूल नेता, कहा- दीदी से पूछो चाहती क्या है ?

ममता बनर्जी ने की प्रधानमंत्री मोदी की तारीफ, भड़क गए तृणमूल नेता, कहा- दीदी से पूछो चाहती क्या है ?
X

कोलकाता। पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री और तृणमूल कांग्रेस की प्रमुख ममता बनर्जी ने कल विधानसभा में प्रधानमंत्री की तारीफ कर हलचल मचा दी है। मुख्यमंत्री ने कल सीबीआई व ईडी के दुरुपयोग के खिलाफ विधानसभा में पारित प्रस्ताव के पूर्व चर्चा में कहा था कि उन्हें नहीं लगता कि पीएम नरेंद्र मोदी इस सबके पीछे हैं। सीएम के इस बयान के बाद से अटकलें लगना शुरू हो गई है की आखिर ममता बनर्जी के मन में क्या चल रहा है। इससे पहले वे संघ की भी तारीफ कर चुकी ऐसे में पार्टी नेताओं के लिए उठ रहे सवालों का जवाब देना कठिन हो गया है। आज टीएमसी के वरिष्ठ नेता सौगत रॉय से पत्रकारों ने जब इससे संबंधित सवाल पूछा गया तो उन्होंने किनारा कर लिया।

रॉय ने कहा, 'देखिए, कल विधानसभा में एक प्रस्ताव पास किया गया कि सीबीआई और ईडी का गलत इस्तेमाल किया जा रहा है। इस प्रस्ताव पर बोलते हुए हमारी मुख्यमंत्री ने कहा कि ये सीबीआई-ईडी की कार्रवाई प्रधानमंत्री के निर्देश पर नहीं हो रहा है बल्कि बंगाल के स्थानीय नेता की इजाजत से हो रहा है। इसका क्या पोलटिकल संदेश है ये टीएमसी सुप्रीमो और मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ही बताएंगी।'

केंद्रीय जांच एजेंसियों की 'ज्यादतियों' के खिलाफ प्रस्ताव

दरअसल, कल पश्चिम बंगाल विधानसभा में केंद्रीय जांच एजेंसियों की 'ज्यादतियों' के खिलाफ एक प्रस्ताव पारित किया गया यह। जिसके पक्ष में 189 और विरोध में 69 मत पड़े। इस प्रस्ताव पर चर्चा के दौरान ममता बनर्जी ने कहा था हर दिन, बीजेपी नेताओं की ओर से विपक्षी दलों के नेताओं को सीबीआई और ईडी से गिरफ्तार कराने की धमकी दी जा रही है। क्या केंद्रीय एजेंसियों को देश में इस तरह से काम करना चाहिए? मुझे नहीं लगता कि इसके पीछे प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी हैं, लेकिन कुछ भाजपा नेता हैं जो अपने हितों के लिए सीबीआई और ईडी का दुरुपयोग कर रहे हैं।"

'मैं पीएम मोदी से अपील करती हूं कि केंद्र सरकार का एजेंडा और उनकी पार्टी के हितों का आपस में घालमेल न हो। केंद्र सरकार तानाशाह की तरह बर्ताव कर रही है। यह संकल्प किसी व्यक्ति विशेष के खिलाफ नहीं बल्कि केंद्रीय एजेंसियों के पक्षपातपूर्ण कामकाज के खिलाफ है।'

दीदी चाहती क्या है -

इससे पहले ममता बनर्जी ने संघ की तारीफ की थी। उन्होने कहा था की 'आरएसएस इतना बुरा संगठन नहीं है। संगठन में कई सच्चे और अच्छे लोग भी हैं जो बीजेपी का समर्थन नहीं करते हैं। एक दिन ऐसा आएगा जब वे अपनी चुप्पी तोड़ेंगे।'ममता के मुंह से पहले संघ और अब प्रधानमंत्री मोदी की तारीफ सुन उनकी अपनी ही पार्टी के नेताओं में खलबली मची हुई है की आखिर दीदी चाहती क्या है। वहीं दीदी के बदले रुख पर भाजपा नेताओं का कहना है की जिस तरह ईडी, सीबीआई और दूसरी जांच एजेंसियां बंगाल के मंत्रियों और टीएमसी नेताओं को शिकंजे में ले रही है, उससे प्रधानमंत्री के पार्टी ममता बनर्जी के तेवर अब नरम पड़ गए हैं।

Updated : 2022-09-22T14:16:53+05:30
Tags:    

स्वदेश वेब डेस्क

Swadesh Digital contributor help bring you the latest article around you


Next Story
Share it
Top
null