Top
Home > राज्य > अन्य > पश्चिम बंगाल > भाजपा सांसद की पत्नी ने ज्वाइन की तृणमूल कांग्रेस, पति ने की तलाक की घोषणा

भाजपा सांसद की पत्नी ने ज्वाइन की तृणमूल कांग्रेस, पति ने की तलाक की घोषणा

भाजपा सांसद की पत्नी ने ज्वाइन की तृणमूल कांग्रेस, पति ने की तलाक की घोषणा
X

कोलकाता। पश्चिम बंगाल में चुनाव से पहले ही सियासत गर्मा चुकी है।तृणमूल नेताओं के भाजपा में शामिल होने के बाद पार्टी में राजनीतिक हलचल बढ़ गई है। इसी बीच आज भाजपा सांसद सौमित्र खान की पत्नी सुजाता मंडल ने तृणमूल का दामन थाम लिया है। इसी बीच भाजपा सांसद ने पत्नी के तृणमूल ज्वाइन करते ही तलाक का नोटिस भेजा है। सुजाता मंडल के पति सौमित्र विष्णुपुर से सांसद है।

सुजाता ने तृणमूल ज्वाइन करते ही भाजपा पर गंदी राजनीति करने का आरोप लगाया। उन्होंने कहा की भाजपा की डर्टी पॉलिटिक्स के कारन तृणमूल से जुड़ने का फैंसला लिया। उन्होंने कहा की भाजपा सुनहरे सपने दिखाकर दूसरे नेताओं को अपनी ओर आकर्षित कर रही है। सुजाता ने कहा की पश्चिम बंगाल को सिर्फ ममता बनर्जी ही विकास की राह पर ले जा सकती है। वह राज्य को बाँटने की राजनीति से बचा सकती है। इसलिए मैं दीदी के साथ हूँ।

पत्नी को देंगे तलाक-


इसी बीच भारतीय जनता युवा मोर्चा की पश्चिम बंगाल इकाई के अध्यक्ष और विष्णुपुर से सांसद सौमित्र खान ने तृणमूल का दामन थामने वाली पत्नी सुजाता मंडल खान को तलाक का नोटिस देने की घोषणा की है।सौमित्र ने मीडिया से रूबरू होते हुए कहा - सुजाता तुमने जो निर्णय लिया है उसमें मैं बाधा नहीं दे रहा हूं लेकिन कभी मैंने सोचा नहीं था कि पारिवारिक झगड़े की वजह से तुम राजनीतिक तौर पर पार्टी बदल लोगी। हमारा पारिवारिक संपर्क ही हमें राजनीति में ले आया है। घर के झगड़े के लिए दलबदल करोगी ऐसा मैंने सोचा नहीं था।" उन्होंने स्पष्ट कहा कि वह अपनी पत्नी से विवाह विच्छेद करेंगे । उन्होंने कहा कि भाजपा ने उन्हें बहुत ऊंचा स्थान दिया है।

सौमित्र पहले तृणमूल कांग्रेस में थे -

सौमित्र खान भी पहले तृणमूल कांग्रेस में ही थे लेकिन लोकसभा चुनाव के समय उन्होंने भारतीय जनता पार्टी का दामन थाम लिया था। हालांकि तब बांकुड़ा जिला प्रशासन ने उनके खिलाफ आर्म्स एक्ट की धाराओं के तहत मामले दर्ज कर लिए थे जिसकी वजह से सौमित्र के जिले में प्रवेश पर रोक लग गई थी। इसके कारण उनकी पत्नी सुजाता मंडल खान ने ही उनके लिए पूरे जिले में घूम-घूम कर चुनाव प्रचार किया था जिसका बेहतर परिणाम सामने आया था और सौमित्र खान ने जीत दर्ज की थी।




Updated : 2020-12-21T19:37:58+05:30
Tags:    

स्वदेश वेब डेस्क

Swadesh Digital contributor help bring you the latest article around you


Next Story
Share it
Top