Top
Home > राज्य > उत्तरप्रदेश > वाराणसी > तीर्थराज में मौनी अमावस्या के लिए संगम तट पर श्रद्धालुओं का सैलाब, हेलीकाप्टर से हुई पुष्प वर्षा

तीर्थराज में मौनी अमावस्या के लिए संगम तट पर श्रद्धालुओं का सैलाब, हेलीकाप्टर से हुई पुष्प वर्षा

तीर्थराज में मौनी अमावस्या के लिए संगम तट पर श्रद्धालुओं का सैलाब, हेलीकाप्टर से हुई पुष्प वर्षा
X

- तीन दिन पहले से संगम नगरी पहुँचने लगे थे श्रद्धालु, कोरोना काल के बाद पहली बार लाखों की संख्या में इकट्ठा हुए लोग

प्रयागराज। तीर्थराज प्रयाग के संगम तट पर लगे माघ मेले का सबसे महत्वपूर्ण और बड़ा स्नान मौनी अमावस्‍या के मौके पर गुरूवार भोर से ही संगम तट पर श्रद्धालुओं का जनसैलाब उमड़ना शुरू हो गया जो कि दोपहर तक जारी रहा। तीर्थराज प्रयाग में माघ मेले के सबसे बड़े स्नान पर्व मौनी अमावस्या पर स्नान करने आए लाखों श्रद्धालुओं पर पुष्पवर्षा हुई।


प्रदेश सरकार ने हेलीकॉप्टर से पुष्पवर्षा कर आस्थावनों के प्रति कृतज्ञता ज्ञापित की। त्रिवेणी स्नान का पुण्यलाभ लेने पहुंचे श्रद्धालु आसमान से पुष्प वर्षा देख अभिभूत हो उठे। मौनी अमावस्या के स्नान के लिए तीन दिन पहले से भीड़ आना शुरू हो गई थी। शंकराचार्य स्वरूपानंद सरस्वती और शंकराचार्य निश्चलानंद सरस्वती भी अनुयायियों के साथ स्नान करने पहुंचे हैं। मेला प्रशासन ने व्यापक इंतजाम किए हैं। श्रद्धालु संगम के 150 फीट के सर्कुलेटिंग एरिया में स्नान किये। दिन बढ़ने के साथ संगम पर श्रद्धालुओं की भीड़ बढ़ती जा रही है।

कोरोना संक्रमण काल में शायद यह पहला मौका है जब देश या विदेश में कहीं एक साथ इतनी भीड़ जुटी है। माघ मेले में तीसरे और सबसे बड़े स्नान पर्व में कोरोना के भय पर श्रद्धा पूरी तरह भारी पड़ती दिखी। रात 12 बजे के बाद अमावस्या तिथि लगते ही पावन त्रिवेणी में पुण्य की डुबकियां लगने लगीं। मेला प्रशासन के मुताबिक तकरीबन 70 लाख लोग मौनी अमावस्या पर्व पर संगम में डुबकी लगाए। इनके लिए मेला प्रशासन की ओर से पुख्ता इंतजाम किया गया था। सुरक्षा व्यवस्था मुस्तैद थी। मेला परिसर में कोई घटना नही घटी। जल पुलिस स्नान कर रहे लोगों पर पैनी नज़र रखी हुई थी।

मोदी-योगी के लगे जयकारे : मौनी अमावस्या के अवसर पर संगम तट पर डुबकी लगाने पहुँचे श्रद्धालुओं पर प्रदेश सरकार की ओर से हेलीकाप्टर से गुलाब के पंखुड़ियों की वर्षा कराई गई। इससे अभिभूत होकर संगम तट पर मौजूद लोगों ने गंगा मैया और बजरंग बली की जयकारे लगाने के साथ-साथ मोदी और योगी के नाम के जयकारे भी लगाए। जानकारी के लिए बताते चलें कि सूबे में भारतीय जनता पार्टी की सरकार बनने के बाद से हर साल इस मौके पर हेलीकाप्टर से पुष्प वर्षा कराई जाती है।

Updated : 12 Feb 2021 8:39 AM GMT
Tags:    

Swadesh News

Swadesh Digital contributor help bring you the latest article around you


Next Story
Share it
Top