Home > राज्य > उत्तरप्रदेश > वाराणसी > प्रधानमंत्री ने कहा - स्वास्थ्य सेवा में घोटाला कर पैसा कमाने का जरिया बनाया...

प्रधानमंत्री ने कहा - स्वास्थ्य सेवा में घोटाला कर पैसा कमाने का जरिया बनाया...

प्रधानमंत्री ने कहा - स्वास्थ्य सेवा में घोटाला कर पैसा कमाने का जरिया बनाया...
X

वाराणसी। प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने सोमवार को अपने संसदीय क्षेत्र वाराणसी से पूरे देश को महापर्व दीपावली के पहले बजट में प्राविधानित 64,128 करोड़ की 'आत्म निर्भर स्वस्थ भारत' परियोजना की सौगात दी। और संसदीय क्षेत्र के नागरिकों के लिए रिंग रोड फेज-2 सहित 5189 करोड़ की 28 विकास परियोजनाओं को लोकार्पित किया।

इस अवसर पर प्रधानमंत्री ने आने वाले महापर्व दीपावली, छठ की बधाई और शुभकामनाएं देकर कोरोना महामारी से जंग में 100 करोड़ टीकाकरण पर हर्ष जताया। उन्होंने कहा कि देश ने कोरोना महामारी से अपनी लड़ाई में 100 करोड़ वैक्सीन डोज के बड़े पड़ाव को पूरा किया है।

स्वास्थ्य सेवा पैसा कमाने, घोटालों का जरिया -

हमसे पहले जो सरकारे में रहे, उनके लिए स्वास्थ्य सेवा पैसा कमाने, घोटालों का जरिया रही है।गरीब की परेशानी देखकर भी, वो उनसे दूर भागते रहे।आज केंद्र और राज्य में वो सरकार है जो गरीब, दलित, शोषित-वंचित, पिछड़े, मध्यम वर्ग, सभी का दर्द समझती है।देश में स्वास्थ्य सुविधाएं बेहतर करने के लिए हम दिन रात एक कर रहे हैं।आज काशी का हृदय वही है, मन वही है, लेकिन काया को सुधारने का ईमानदारी से प्रयास हो रहा है। जितना काम वाराणसी में पिछले 7 साल में हुआ है, उतना पिछले कई दशकों में नहीं हुआ।रिंग रोड के अभाव में काशी में जाम की क्या स्थिति होती थी, इसे आपने वर्षों तक अनुभव किया है।अब रिंग रोड बनने से प्रयागराज, लखनऊ, सुलतानपुर, गोरखपुर, दिल्ली कहीं भी जाना हो तो उसके लिए शहर में नहीं आना पड़ेगा।

पूर्वांचल को 75 हजार करोड़ की सौगात -

बाबा विश्वनाथ के आशीर्वाद से, मां गंगा के अविरल प्रताप से , काशीवासियों के अखंड विश्वास से सबको मुफ्त वैक्सीन का अभियान सफलता से लगातार आगे बढ़ रहा है। उन्होंने बताया कि आज ही उत्तर प्रदेश को नौ नए मेडिकल कालेज देने का अवसर मिला है। इससे पूर्वांचल और पूरे प्रदेश के करोड़ों लोगों को फायदा होगा। दूसरे शहरों के बड़े अस्पतालों के लिए भागदौड़ कम होगी। उन्होंने मानस में सोरठा का उल्लेखकर कहा कि काशी में शिव शक्ति साक्षात निवास करते हैं। ज्ञान काशी को कष्ट और क्लेश से मुक्त करता है तो स्वास्थ्य से जुड़ी योजना के लिए काशी से बेहतर जगह और क्या हो सकती है? आज इस मंच पर दो बड़े कार्यक्रम हो रहे हैं। एक भारत सरकार का भारत के लिए 64 हजार करोड़ से अधिक का काम काशी से लांच हो रहा है। सिद्धार्थ नगर से लेकर काशी और पूर्वांचल के कार्यक्रम कार्यक्रम को मिला दें तो 75 हजार करोड़ का कार्यक्रम जारी किया गया है।

हेल्थ एंड वेलनेस सेंटर

उन्होंने कहा कि काशी के इंफ्रास्ट्रकचर से जुड़े करीब 5,000 करोड़ रुपये के प्रोजेक्ट्स का भी लोकार्पण अभी किया गया है। इसमें सड़कों से लेकर, घाटों की सुंदरता, गंगा जी और वरुणा की साफ-सफाई, पुलों, पार्किंग स्थलों, BHU में अनेक सुविधाओं से जुड़े प्रोजेक्ट शामिल हैं।हमारे हेल्थकेयर सिस्टम में जो बड़ी कमी रही, उसने गरीब और मिडिल क्लास में इलाज को लेकर हमेशा बनी रहने वाली चिंता पैदा कर दी। आयुष्मान भारत #HealthInfrastructureMission देश के हेल्थकेयर सिस्टम की इसी कमी को दूर करने का एक समाधान है।

हेल्थ एंड वेलनेस सेंटर

गांवों और शहरों में हेल्थ एंड वेलनेस सेंटर खोले जा रहे हैं, जहां बीमारियों को शुरुआत में ही डिटेक्ट करने की सुविधा होगी।इन सेंटरों में फ्री मेडिकल कंसलटेशन, फ्री टेस्ट, फ्री दवा जैसी सुविधाएं मिलेंगी।आयुष्मान भारत योजना ने 2 करोड़ से अधिक गरीबों का अस्पताल में मुफ्त इलाज भी करवाया है।इलाज से जुड़ी अनेक परेशानियों को आयुष्मान भारत डिजिटल मिशन के जरिए हल किया जा रहा है।

Updated : 2021-10-26T20:57:22+05:30
Tags:    

स्वदेश वेब डेस्क

Swadesh Digital contributor help bring you the latest article around you


Next Story
Share it
Top