Top
Home > राज्य > उत्तरप्रदेश > वाराणसी > बनारस घराने के पंडित राजन मिश्रा का हृदयाघात से निधन, कोरोना से भी थे संक्रमित

बनारस घराने के पंडित राजन मिश्रा का हृदयाघात से निधन, कोरोना से भी थे संक्रमित

बनारस घराने के पंडित राजन मिश्रा का हृदयाघात से निधन, कोरोना से भी थे संक्रमित
X

वाराणसी: पंडित राजन मिश्र का दिल्ली के स्टीफंस अस्पताल में निधन। कोरोना संक्रमित होने के बाद अस्पताल में थे। वहीं उनको ह्रदयाघात हुआ और कुछ घंटों के बाद चल बसे। काशी के संगीत घराने का एक महत्‍वपूर्ण कड़ी रहे पंडित राजन मिश्र। उनकी गायकी का खास अंदाज लोगों को काफी पसंद रहा।

उन्होंने 70 वर्ष की उम्र में दिल्ली के एक अस्पताल में अंतिम सांस ली। रविवार को पंडित राजन मिश्रा को हृदय में समस्या होने के बाद दिल्ली के स्टीफंस अस्पताल में भर्ती कराया गया था लेकिन डॉक्टरों के काफी प्रयास के बाद भी उनकी जान नहीं बचायी जा सकी। राजन मिश्रा भारत के प्रसिद्ध शास्त्रीय गायक थे।



राजन और साजन मिश्रा की जोड़ी थी प्रसिद्ध


इन्हें सन 2007 में भारत सरकार द्वारा कला के क्षेत्र में पद्म भूषण से सम्मानित किया गया था। इनका संबंध बनारस घराने से था। उन्होंने 1978 में श्रीलंका में अपना पहला संगीत कार्यक्रम दिया और इसके बाद उन्होंने जर्मनी, फ्रांस, स्विट्जरलैंड, ऑस्ट्रिया, संयुक्त राज्य अमेरिका, ब्रिटेन, नीदरलैंड, यूएसएसआर, सिंगापुर, कतर, बांग्लादेश समेत दुनिया भर के कई देशों में प्रदर्शन किया।

राजन और साजन मिश्रा की जोड़ी थी प्रसिद्ध :

राजन और साजन मिश्रा दोनों भाई थे और साथ में ही कला का प्रदर्शन करते थे। दोनों भाइयों ने पूरे विश्व में खूब प्रसिद्धी हासिल की। पंडित राजन और साजन मिश्रा का मानना था कि जैसे मनुष्य का शरीर पांच तत्वों से मिलकर बना है, वैसे ही संगीत के सात सुर 'सारेगामापाधानी' पशु-पक्षियों की आवाज से बनाए गए हैं। वहीं कुछ वर्षों पहले दोनों भाइयों ने कहा था कि आपदा के लिए प्रकृति नहीं हम जिम्मेदार हैं। उन्होंने यह भी कहा था कि हर इंसान को अपनी मानसिकता बदलनी ही होगी और प्रकृति का साथ देना होगा।

Updated : 2021-04-25T21:16:02+05:30
Tags:    

Swadesh Lucknow

Swadesh Digital contributor help bring you the latest article around you


Next Story
Share it
Top