Home > राज्य > उत्तरप्रदेश > वाराणसी > अमित शाह ने पदाधिकारियों को दिया जीत मंत्र, अनावश्यक बयानबाजी से बचने के दिए निर्देश

अमित शाह ने पदाधिकारियों को दिया जीत मंत्र, अनावश्यक बयानबाजी से बचने के दिए निर्देश

अमित शाह ने पदाधिकारियों को दिया जीत मंत्र, अनावश्यक बयानबाजी से बचने के दिए निर्देश
X

वाराणसी। भारतीय जनता पार्टी(भाजपा) के चाणक्य और देश के गृहमंत्री अमित शाह ने कार्यकर्ताओं, पदाधिकारियों के साथ मंत्रियों और विधायकों को अनावश्यक बयान से बचने की सलाह दी है। उन्होंने कहा कि पार्टी की तय नीतियों के अनुसार बयान देने के साथ कार्य करें। पूरा विपक्ष पार्टी के नेताओं के अनावश्यक बयान को मुद्दा बना सकता है। ऐसे में चूक का मौका उन्हें नहीं देना है। दो दिवसीय प्रवास में शहर में आये गृहमंत्री बुधवार को सर्किट हाउस में पार्टी पदाधिकारियों को दिशा निर्देश देने के बाद बाबतपुर एयरपोर्ट से दिल्ली के लिए रवाना हो गये।

इसके पहले खराब मौसम और बारिश के बीच मंगलवार की शाम शहर में आये गृहमंत्री ने प्रदेश के उप मुख्यमंत्री डॉ दिनेश शर्मा के साथ संकटमोचन दरबार में हाजिरी लगाई। इसके बाद सर्किट हाउस में प्रदेश के उप मुख्यमंत्री केशव प्रसाद मौर्य, डा. दिनेश शर्मा और अन्य मंत्रियों के साथ बैठक कर चुनाव की तैयारियों की जानकारी ली। फिर उन्होंने सरकार और संगठन में तालमेल से काम करने पर जोर दिया। उन्होंने कहा कि

चुनाव में जीत के लिए केन्द्र और प्रदेश सरकार के कल्याणकारी नीतियों का लाभ जनता तक पहुंचाने का प्रयास करें। सर्किट हाउस के बाद गृहमंत्री ने हरहुआ स्थित गोकुल धाम में काशी व गोरखपुर क्षेत्र के सांसद, मंत्री, प्रदेश सह प्रभारी व प्रदेश चुनाव सह प्रभारी व क्षेत्रीय पदाधिकारियों के साथ दो घंटे से अधिक समय तक बैठक की। बैठक में उन्होंने बूथ स्तर की मजबूती,कार्यकर्ता से लगातार संपर्क बढ़ाने से लेकर दलित व पिछड़ा समाज में कार्यकर्ताओं को सक्रिय कर पैठ लगातार बढ़ाने को कहा। पार्टी सूत्रों के अनुसार गृहमंत्री ने सोशल मीडिया के जरिये विरोधियों के खिलाफ माहौल लगातार बनाये रखने को कहा है।

बैठक में उन्होंने काशी की 71 तथा गोरखपुर क्षेत्र की 62 सीटों पर पुन: जीत के लिए मंथन किया। गृहमंत्री शाह ने सभी प्रभारियों से एक-एक विधानसभा क्षेत्र में चुनाव की तैयारी पूछी। इसके अलावा संगठनात्मक ढांचा निर्माण की प्रगति जानी। बैठक में चर्चा हुई कि बसपा बहुत कमजोर हो चुकी है और उसके पारम्परिक मतदाता भी अब उसके साथ रहना भी नहीं चाहता। ऐसे में इन मतदाताओं को अपने पाले में लाने के लिए लगातार उनके सम्पर्क में रहे। पार्टी का मत समाजवादी पार्टी में न जाय इसके लिए रणनीति पर भी योजना बनी। बैठक में जातीय समीकरण को लेकर भी चर्चा हुई।

उन्होंने कहा कि हमें मतदाताओं को जातियों में नहीं बंटने देना है। इन मतदाताओं को भाजपा के पक्ष में बनाये रखना है। बैठक में गृहमंत्री ने कमजोर क्षेत्रों में अधिक मेहनत करने पर बल दिया। इसके पहले बैठक में काशी क्षेत्र अध्यक्ष महेश चंद्र श्रीवास्तव, प्रभारी सुब्रत पाठक, प्रदेश सह प्रभारी सुनील ओझा, चुनाव सह प्रभारी सरोज पांडेय ने गृहमंत्री का स्वागत किया।

Updated : 2022-01-01T14:34:20+05:30
Tags:    

स्वदेश वेब डेस्क

Swadesh Digital contributor help bring you the latest article around you


Next Story
Share it
Top