Top
Home > राज्य > उत्तरप्रदेश > अन्य > मुख़्तार अंसारी की एम्बुलेंस मामले में फर्जीवाड़े का खुलासा, 1 गिरफ्तार

मुख़्तार अंसारी की एम्बुलेंस मामले में फर्जीवाड़े का खुलासा, 1 गिरफ्तार

बाराबंकी की पुलिस ने माफिया मुख्तार अंसारी के एम्बुलेंस प्रकरण में सोमवार को एक गिरफ्तारी की है।

मुख़्तार अंसारी की एम्बुलेंस मामले में फर्जीवाड़े का खुलासा, 1 गिरफ्तार
X

लखनऊ/बाराबंकी: जनपद बाराबंकी की पुलिस ने माफिया मुख्तार अंसारी के एम्बुलेंस प्रकरण में सोमवार को एक गिरफ्तारी की है। ज्ञात हो कि मुख्तार की एम्बुलेंस (यूपी-41 एटी-7171) का पंजीकरण कूटरचित दस्तावेज एवं बिना वैध प्रमाण-पत्र के संचालन करने के संबंध में मुकदमा (अपराध संख्या-369/21 धारा-419, 420, 467, 468, 471 भारतीय दंड विधान बनाम डॉ. अल्का राय) दर्ज किया था।

इसकी जांच के लिये 3 टीमें गठित की गयी थी। एक टीम विवेचक निरीक्षक महेन्द्र सिंह के नेतृत्व में जनपद मऊ गयी थी। दूसरी टीम नवीन कुमार सिंह, क्षेत्राधिकारी हैदरगढ़ के नेतृत्व में पंजाब गयी थी। सम्पूर्ण विवेचना की निष्पक्ष जांच एवं पर्यवेक्षण के लिये एक एसआईटी का भी गठन किया गया था। इन टीमो ने अपना काम बखूबी अंजाम देते हुऐ एम्बुलेंस के दस्तावेजो में धोखाधड़ी करने वाले अभियुक्तो का एक तरफ खुलासा होने के साथ एक अभियुक्त को गिरफ्तार करने में पुलिस ने सफलता पायी। वही दूसरी तरफ पंजाब प्रान्त में लावारिस हालत में मिली एम्बुलेंस बाराबंकी के लिये रवाना हो गयी है।

मऊ गयी टीम की विवेचना के आधार पर श्याम संजीवनी अस्पताल एवं रिसर्च सेन्टर की संचालिका डॉ. अल्का राय, उनके सहयोगी डॉ. शेषनाथ राय, मुख्तार अंसारी, मुजाहिद, राजनाथ यादव एवं अन्य का नाम इस आपराधिक षड्यन्त्र में कूटरचित दस्तावेज तैयार कराने में प्रकाश में आया है। जिन्होंने दबाव बनाकर प्रपत्रों पर हस्ताक्षर कराया और आपराधिक षड्यन्त्र कर कूटरचित दस्तावेजों के आधार पर धोखाधड़ी करते हुये विधि विरुद्ध उपयोग हेतु उक्त वाहन का खरीदा तथा उसका पंजीकरण कराकर गलत इस्तेमाल किये जाने के आपराधिक कृत्य एवं अवैध पंजीयन के बावजूद अपने कब्जे में रखकर एम्बुलेंस का संचालन किया।

उक्त प्रकरण में साक्ष्यों के क्रम में धारा-120बी, 506, 177 भादवि एवं 7 सीएलए एक्ट की बढ़ोत्तरी करते हुये राजनाथ यादव पुत्र फुलेश्वर यादव निवासी अहिरौली थाना सराय लखन्सी, जनपद मऊ की गिरफ्तारी की गयी है। यह खुलासा करते हुऐ पुलिस अधीक्षक यमुना प्रसाद ने कहा की, शेष अन्य के विरूद्ध विधिक कार्यवाही प्रचलित है।

दूसरी टीम जो नवीन कुमार सिंह, क्षेत्राधिकारी हैदरगढ़ के नेतृत्व में पंजाब प्रान्त गयी थी। वहां रोपड़-ऊना हाइवे पर ढाबे के पास एम्बुलेंस लावारिस हालत में खड़ी थी। जिसे थाना सदर, रोपड़ में दाखिल किया गया है। वहां पर उसकी गहन जांच-पड़ताल करते हुये केस प्रापर्टी के रूप में हस्तगत कराकर बाराबंकी लाया जा रहा है।

Updated : 2021-04-05T21:38:02+05:30
Tags:    

Swadesh Lucknow

Swadesh Digital contributor help bring you the latest article around you


Next Story
Share it
Top