Top
Home > राज्य > उत्तरप्रदेश > अन्य > डॉन मुन्ना बजरंगी हत्याकांड में नया खुलासा हुआ

डॉन मुन्ना बजरंगी हत्याकांड में नया खुलासा हुआ

डॉन मुन्ना बजरंगी हत्याकांड में नया खुलासा हुआ
X

बागपत। डॉन मुन्ना बजरंगी हत्याकांड में एक नया खुलासा हुआ है। बताया जा रहा है कि चांदीनगर थानाक्षेत्र के गांव पूरनपुर नवादा निवासी युवक ने हत्या में प्रयोग की गई पिस्टल के बारे में सीबीआई निदेशक को पत्र भेजकर अहम सुराग दिए हैं। युवक का आरोप है कि हत्या में प्रयोग हुई पिस्टल हवन सामग्री में छिपाकर जेल में भेजी गई थी। हालांकि सीबीआई को भेजे पत्र की जानकारी से डीएम और जेल अधिकारियों ने अनभिज्ञता जताई है।

गौरतलब है कि 9 जुलाई 2018 को बागपत जिला जेल में पूर्वांचल के डॉन मुन्ना बजरंगी की गोलियों से भूनकर हत्या कर दी गई थी। इस हत्याकांड में तत्कालीन जेलर यूपी सिंह ने वेस्ट यूपी के कुख्यात बदमाश सुनील राठी को नामजद करते हुए खेकड़ा थाने पर रिपोर्ट दर्ज कराई थी। मुन्ना बजरंगी की पत्नी सीमा सिंह ने भी एक तहरीर पुलिस को दी थी। इसमें पूर्वांचल के कई महत्वपूर्ण लोगों पर साठगांठ कर पति की हत्या कराने का आरोप लगाया था। हालांकि पुलिस ने जांच में संबंधित सभी को क्लीन चिट दे दी थी।

बता दें कि मुन्ना बजरंगी की पत्नी सीमा सिंह पुलिस की जांच से संतुष्ठ नहीं थी। उन्होंने हाईकोर्ट में याचिका दायर कर सीबीआई जांच की मांग की थी। फरवरी माह में हाईकोर्ट ने मामले में सीबीआई जांच के आदेश दिए थे। अब सीबीआई मुन्ना बजरंगी हत्याकांड की जांच कर रही है।

वह हर घटना से जुड़े हर पहलू को अपनी जांच में शामिल किए हुए है। मुन्ना बजरंगी हत्याकांड में एक नया मोड़ आया है। पूरनपुर नवादा गांव के अंकित पुत्र राजेन्द्र ने सीबीआई निदेशक को पत्र भेजकर पिस्टल के बारे में जानकारी दी है। उसका कहना है कि जिस पिस्टल से मुन्ना बजरंगी की हत्या की गई थी, वह पिस्टल हवन सामग्री में छिपाकर जेल में बंद एक हत्यारोपी के पास भेजी गई थी। पिस्टल पहुंचाने वाला युवक दिल्ली का रहने वाला है। जेल में बंद हत्यारोपी पर अगस्त 2017 में चांदीनगर के कहरका गांव निवासी शिव कुमार त्यागी की हत्या का आरोप है। वहीं, जेल में पिस्टल पहुंचाने वाला युवक जेल में बंद पूरनपुर नवादा गांव निवासी हत्यारोपी का भांजा है। सीबीआई को पत्र भेजने वाले अंकित का कहना है कि उसके पास इसकी रिकार्डिंग भी है।

आरोप है कि जेल में बंद हत्यारोपी के पास से 3 सितंबर 2019 को तत्कालीन कमिश्नर और आईजी के निरीक्षण में मोबाइल फोन और वाईफाई डिवाइस भी मिली थी। अंकित ने सीबीआई को भेजे गए पत्र की प्रतिलिपि डीएम बागपत को भी भेजी है। हालांकि डीएम ने इस तरह की जानकारी से अनभिज्ञता जताई है। अभिषेक सिंह ,एसपी बागपत ने कहा कि सीबीआई को किसी के द्वारा मुन्ना बजरंगी हत्याकांड के मामले में किसी तरह का सुराग या फिर जानकारी संबंधी पत्र भेजे जाने की जानकारी नहीं है। इसकी जांच कराई जाएगी, यदि आरोप सही पाए गए, तो आरोपी युवक के खिलाफ कार्रवाई की जाएगी।

Updated : 25 Aug 2020 6:37 AM GMT
Tags:    

Swadesh Digital

स्वदेश वेब डेस्क www.swadeshnews.in


Next Story
Share it
Top