Top
Home > राज्य > उत्तरप्रदेश > अन्य > सीएमओ की छापेमारी के कारण यूट्रस का ऑपरेशन बीच में छोड़कर भागीं डॉक्टर, ओटी टेबल पर तड़पती रही मरीज

सीएमओ की छापेमारी के कारण यूट्रस का ऑपरेशन बीच में छोड़कर भागीं डॉक्टर, ओटी टेबल पर तड़पती रही मरीज

सीएमओ की छापेमारी के कारण यूट्रस का ऑपरेशन बीच में छोड़कर भागीं डॉक्टर, ओटी टेबल पर तड़पती रही मरीज
X

कानपुर/लखनऊ। कानपुर में कल्याणपुर के काशी अस्पताल में देर रात ओटी में एक महिला के यूट्रस का ऑपरेशन चल रहा था। जानकारी मिली कि सीएमओ की छापेमारी के चलते ऑपरेशन कर रही डॉक्टर मरीज को ओटी टेबल पर छोड़कर पीछे के रास्ते से निकल गई।

हम आपको बता दें कि डॉक्टर मरीज को अद्र्घबेहोशी की हालत में छोड़कर चली गई थी। बाद में सीएमओ ने दोनों डॉक्टरों को बुलाकर कड़ी फटकार लगाई है। साथ ही लापरवाही पर एफआईआर दर्ज करने और एमसीआई को पत्र भेजने की बात कही है।

सीएमओ ने ओटी खुलवाकर देखा तो एक पुरुष कर्मचारी था जो प्रशिक्षित भी नहीं था। उसी ने जैसे तैसे र्पैंकग की थी। सीएमओ ने वहीं से डॉक्टर को फोन लगाया तो डॉक्टर ने बताया कि वह स्वरूप नगर पहुंच गई हैं। इस पर सीएमओ ने कड़ी नाराजगी जताते हुए पुलिस भेजने की बात की तो वह अस्पताल पहुंची। और मरीज को संभाला। सीएमओ के मुताबिक मरीज को ब्र्लींडग हो सकती थी। उसकी जान को पूरा खतरा है। मरीज को बगैर स्टेबिल किए वह कैसे चली गईं।. रुचि राठौर अस्पताल में ऑपरेशन कर रही थीं। एनेस्थीसिया विशेषज्ञ भी थीं। इस तरह लापरवाही से मरीज की जान जा सकती है। इस पर डॉक्टर रुचि राठौर को हिदायत दी गई है कि अगर मरीज को कुछ हो गया तो उन पर एफआईआर दर्ज कराएंगे। वैसे भी इस लापरवाही पर डीएम की अनुमति से कार्रवाई करेंगे। एमसीआई को भी पत्र भेजा जा रहा है ताकि इस तरह की प्रैक्टिस पर रोक लगे। सीएमओ के मुताबिक तीन अन्य मरीज ऑपरेशन कराने वाली भर्ती हैं। अस्पताल में न तो स्टाफ नर्स हैं और नही प्रशिक्षित स्टाफ है। संचालक उमाशंकर से पूछा गया तो हाल ही रजिस्ट्रेशन कराने की बात सामने आई है जबकि अस्पताल कई वर्षों से चल रहा था।

अस्पताल में बुखार और ऑपरेशन के मरीज साथ साथ भर्ती हैं। बुखार में मरीजों की किट से डेंगू की जांच की गई है वह पॉजिटिव बताकर इलाज कर रहे थे। जबकि एलाइजा जांच होनी चाहिए और सीएमओ कार्यालय पर इसकी सूचना होनी चाहिए। सीएमओ का कहना है कि अस्पताल में अव्यवस्था है कोई र्होंल्डग एरिया नहीं है। किसी की जांच नहीं हो रही है। इस तरह अस्पताल को नोटिस दिया गया है रजिस्ट्रेशन रद करने की कार्रवाई की जा रही है।

सीएमओ ने नर्सिंग होमों के र्डींलग बाबू को उसके पटल से हटा दिया है। उस पर नर्सिंग होमों के रजिस्ट्रेशन में गम्भीर अनियमितता के आरोप हैं। सीएमओं के मुताबिक हाल में ही नर्सिंग होमों का नोडल बनाई गई एसीएमओ को कोरोना हो गया है। वह अवकाश पर हैं। इसलिए एसीएमओ डॉ. एपी मिश्र को नर्सिंग होमों का काम देखने को कहा गया है।

Updated : 22 Nov 2020 7:42 AM GMT
Tags:    

Swadesh Digital

स्वदेश वेब डेस्क www.swadeshnews.in


Next Story
Share it
Top